Follow Us On Goggle News

Solar Power System : अगर आप पावरकट से परेशान हैं, तो आज ही घर में लगाए सोलर सिस्टम, सरकार दे रही सब्सिडी.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Solar Power System subsidy Scheme :  एक किलोवॉट सोलर सिस्टम 2-3 बीएचके घरों के लिए पर्याप्त होता है. लूम सोलर की माने तो इतनी क्षमता का सोलर सिस्टम दिन के समय में 4 से 6 यूनिट तक बिजली उत्पन्न कर सकता है. जो एक सामान्य घर को सामान्य खपत पर 8-10 घंटे की बिजली सप्लाई कर सकता है. 

Solar Power System : अगर आप बिजली के आने जाने से परेशान हैं और बढ़ता प्रदूषण भी आपकी टेंशन बढ़ाता है. तो आपके लिए सोलर एनर्जी (solar energy) सबसे कारगर उपाय हो सकता है. भारत की स्थिति ऐसी है जहां साल के अधिकांश वक्त सूरज की रोशनी मिलती है. यही वजह है कि भारतीयों के लिए सूरज की रोशनी से मिलने वाली ऊर्जा (Power) भविष्य की ऊर्जा मानी जाती है. हालांकि आज भी लोग ये नहीं जानते है सोलर पैनल लगाने का खर्च कितना है और उनकी जरूरत के लिए कितना बड़ा सिस्टम काफी होगा. सोलर पैनल और लीथियम बैटरी बनाने वाले स्टार्टअप लूम सोलर ने आपके लिए ऐसी ही एक कैलकुलेशन दी है जिसकी मदद से आप सोलर सिस्टम लगाने के लिए सही फैसला ले सकते हैं.

सोलर पावर सिस्टम में क्या क्या है शामिल :

अक्सर लोग सोलर पैनल को ही सोलर एनर्जी सिस्टम मान लेतें हैं, क्योंकि पहली नजर में लोगों को यही दिखाई पड़ता है. लूम सोलर के मुताबिक सोलर एनर्जी सिस्टम में 4 हिस्से होते हैं. इसमें सोलर पैनल, सोलर इन्वर्टर, सोलर बैटरी, पैनल स्टैंड होता हैं. वहीं इन सभी को जोड़ने के लिए जरूरी सहायक सामान की भी जरूरत होती है. वहीं अगर पूरे सिस्टम की बात करें तो ये दो तरह के होते हैं. ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम जिसमें सोलर पैनल के साथ बैटरी होती है. वहीं दूसरा ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम जिसमें बैटरी नहीं होती. सिस्टम में लगे इन कंपोनेंट की कीमत के आधार पर ही सोलर एनर्जी की कुल लागत तय होती है. ये कीमत सिस्टम की क्षमता के आधार घटती बढ़ती है जिसे किलोवॉट में दर्शाया जाता है. आम घर के लिए एक किलोवॉट क्षमता काफी होती है.

यह भी पढ़ें :  CM Awas Yojana: सरकार की बड़ी घोषणा: सभी बेघरों को घर के लिए मिलेगी जमीन के साथ साठ-साठ हजार रुपये.

एक किलोवॉट सिस्टम की क्षमता :

एक किलोवॉट सोलर सिस्टम 2-3 बीएचके घरों के लिए पर्याप्त होता है. लूम सोलर की माने तो इतनी क्षमता का सोलर सिस्टम दिन के समय में 4 से 6 यूनिट तक बिजली उत्पन्न कर सकता है. जो एक सामान्य घर को सामान्य खपत पर 8-10 घंटे की बिजली सप्लाई कर सकता है. या फिर 3 पंखों, एक फ्रिज, एक टीवी, 4 से 5 लाइट्स को 3-4 घंटे तक लगातार चलाने में समर्थ है. आप अपने घर में पावर सप्लाई और दरों के आधार पर ऑफ ग्रिड या ऑन ग्रिड सिस्टम का चुनाव कर सकते हैं. अगर आपकी जरूरत कम है तो आप बैटरी के साथ एक किलोवॉट का ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम लगा सकते हैं.

कितनी होगी सिस्टम की लागत : 

इस साल जनवरी में लिखे गए ब्लॉग में लूम सोलर ने जानकारी दी है कि एक किलोवॉट का ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम औसतन करीब एक लाख रुपये का लगेगा. वहीं ऑन ग्रिड सिस्टम करीब 60 हजार रुपये का पड़ेगा. हाइब्रिड सिस्टम के लिए करीब एक लाख 5 हजार रुपये देने होंगे. ब्लॉग के मुताबिक सोलर पैनल सिस्टम की कीमतों में उतार-चढ़ाव आ सकता है और ये इस बात पर निर्भर करता है कि आप कैसे प्रोडक्ट का चुनाव करते हैं. जैसे एक किलोवॉट के सोलर पैनल की कीमत 32 हजार से 44 हजार के बीच हो सकती है. इसके अलावा सोलर इन्वर्टर, सोलर बैटरी, सोलर चार्जर कंट्रोलर, पैनल स्टैंड, बिजली गिरने से बचाव के उपाय, वायरिंग, अर्थिंग किट के साथ साथ सोलर पैनल लगाने का शुल्क भी इसमें जुड़ता है. एक किलो वॉट के लिए शुल्क 7 हजार रुपये बताया गया है. अगर आप खुद ये काम कर सकें तो आपको सिर्फ उपकरणों की कीमत चुकानी होगी. वहीं प्रोफेश्नल सर्विस के तहत सालाना मेंटीनेंस कॉन्ट्रैक्ट भी दिया जाता है जो कि 10 हजार रुपये प्रति किलोवाट प्रति वर्ष तक हो सकता है.

यह भी पढ़ें :  Patna Metro Project : इन 6 जगहों पर होंगे अंडरग्राउंड स्टेशन, पटना जंक्शन से बैरिया तक 12 स्टेशन, जानें रूट प्लान.

सोलर एनर्जी योजना के तहत कितनी मिलेगी सब्सिडी :

नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय रूफटॉप सोलर योजना के तहत घरों की छतों पर सोलर पैनल लगाकर सौर ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए, मंत्रालय ग्रिड-कनेक्टेड रूफटॉप सोलर योजना (चरण- II) लागू कर रहा है. अगर आप 3 किलोवाट तक सोलर रूफटॉप पैनल लगाते हैं, तो आपको सरकार द्वारा 40 फीसदी सब्सिडी प्रदान की जाएगी और यदि आप 10 किलोवाट लगाते हैं तो आपको सरकार की ओर से 20 फीसदी सब्सिडी दी जाएगी. यह योजना राज्यों में स्थानीय विद्युत वितरण कंपनियों (डिस्कॉम) द्वारा कार्यान्वित की जा रही है.

सब्सिडी की राशि सोलर पैनल लगाने के 30 दिनों के भीतर डिस्कॉम द्वारा गृहस्वामी के खाते में जमा कर दी जाएगी.

सोलर सिस्टम लगाने के लिए कैसे करें आवेदन :

  • सोलर सिस्टम लगाने के लिए आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.
  • इसमें एक नया पेज खुलेगा जहां आपको अप्लाई फॉर सोलर रूफटॉप पर क्लिक करना है.
  • इसके उपरांत आपके सामने एक और नया पेज खुलेगा जहां आपको अपने राज्य के अनुसार लिंक का चयन करना होगा और उस पर क्लिक करना होगा.
  • इसके बाद आपके सामने फॉर्म खुल जाएगा, जिसमें सभी जरूरी जानकारियां भरनी होंगी.
यह भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana : किसानों के लिए बड़ी खबर ! इस दिन किसानों के खाते में आएगी 11वीं किस्त, जानिए कैसे मिलेंगे 2000 रुपये.

सौर सिस्टम लगवाने के लाभ :

  • सौर ऊर्जा को ऊर्जा का सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है क्योंकि सौर पैनलों से ऊर्जा उत्पन्न करने में कोई प्रदूषण नहीं होता है.
  • सौरमंडल पूरी तरह से सूर्य के प्रकाश पर आधारित है.
  • सौर पैनलों से ऊर्जा बनाने के लिए कोयला, पेट्रोल और डीजल का उपयोग नहीं करना पड़ता है.
  • आप हर महीने बिजली बिल पर भी बचत कर सकते हैं.

इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page