Follow Us On Goggle News

Retirement के बाद नहीं होगी पैसों की किल्लत! हर महीने अकाउंट में आएगी मोटी रकम, बस ऐसे करें निवेश.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Retirement Planning : जवानी शान से गुजरे और बुढ़ापे में किसी के आगे हाथ न फैलाना पड़े, इसके लिए जरूरी है कि जवानी में ही आप रिटायरमेंट की प्लानिंग कर लें. रिटायरमेंट के लिए बहुत सारी स्कीम्स हैं. हम आपको बताने जा रहे हैं इन्हीं में से कुछ भरोसेमंद स्कीम्स के बारे में.

Retirement Planning: आज के समय में जहां खर्चे तेजी से बढ़ रहे हैं, आपकी कमाई उस रफ्तार से नहीं बढ़ रही है. ऐसे में जब आप जिंदगी के आखिरी पड़ाव यानी रिटायरमेंट पर पहुंचेंगे तो क्या इन खर्चों को पूरा करने के लिए आपके पास पर्याप्त पैसे होंगे, क्योंकि बुढ़ापे में सबसे बड़ा खर्चा आपकी मेडिकल जरूरतों का होता है, जो वक्त के साथ बढ़ता ही है.

 

ऐसे में जरूरत होती है एक ऐसी स्कीम की जो बुढ़ापे में भी आपको रेगुलर मंथली इनकम देती रहे, ताकि आप किसी पर निर्भर न रहें और आपके खर्चे भी आराम से पूरे हो जाएं. तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी ही भरोसेमंद स्कीम्स के बारे में जो आपको हर महीने रेगुलर कमाई देंगी.

यह भी पढ़ें :  Apple Farming in Bihar : बिहार में शुरू करें सेब की खेती, ट्रेनिंग के साथ 50 लाख की मदद देगी सरकार.

 

1. प्रधानमंत्री वय वंदन योजना :

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana: देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन (LIC) से आप प्रधानमंत्री वय वंदन योजना (PMVVY) को खरीद सकते हैं. ये आपको 10 सालों के लिए एक तय रेट पर पेंशन देती है, जो कि रिटायर लोगों के लिए काफी अच्छी स्कीम है. कोई भी व्यक्ति जिसकी उम्र 60 साल या इससे ज्यादा है, इस स्कीम में निवेश कर सकता है.

इस स्कीम में अभी 7.4 परसेंट सालाना के हिसाब से ब्याज मिलता है, जो हर महीने भुगतान होता है, इसकी दरें हर साल बदलती हैं. लेकिन एक बार निवेश कर दिया तो पूरी निवेश अवधि के लिए दरें फिक्स हो जाती हैं. इसमें डेथ बेनेफिट भी मिलता है, पॉलिसीधारक की मृत्यु के बाद परचेज प्राइस मनी नॉमिनी को लौटा दिया जाता है.

ये स्कीम 31 मार्च, 2020 को खत्म हो गई थी, लेकिन इसकी कामयाबी को देखते हुए केंद्र सरकार ने इसे 3 साल के लिए बढ़ाकर अब 31 मार्च 2023 तक कर दिया है.

यह भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana Rules : एक परिवार में कितने लोग ले सकते हैं पीएम किसान योजना का लाभ, जानिए क्या है नियम.

 

2. सीनियर सिटिजन सेविंग्स स्कीम :

Senior Citizen Saving Scheme: सीनियर सिटिंजस सेविंग्स स्कीम, जैसा कि नाम से ही जाहिर ये स्कीम खास तौर पर रिटायरमेंट के लिए सीनियर सिटिजंस को ध्यान में रखते हुए बनाई गई है. इस स्कीम पर अभी 7.4 परसेंट सालाना ब्याज मिलता है जो तिमाही आधार पर दिया जाता है. इसमें जो भी निवेश किया जाता है वो आमतौर पर 5 साल में मैच्योर हो जाता है, आप चाहें तो इसे 3 साल के लिए आगे भी बढ़ा सकते हैं.

 

3. पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम :

Post Office Monthly Income Scheme: पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम सरकारी स्मॉल सेविंग्स स्कीम है, जो निवेशकों को हर महीने एक तय रकम कमाई का मौका देती है. इस स्कीम के तहत अकाउंट में सिंगल या ज्वॉइंट अकाउंट के तहत एक मुश्त राशि जमा की जाती है. इस पर सरकार 6.6 परसेंट सालाना ब्याज देती है. ये स्कीम 5 साल की है, जिसे 5-5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं. यह पूरी तरह से रिस्क फ्री स्कीम है क्योंकि सरकार सुरक्षा की गारंटी लेती है. सिंगल अ​काउंट के जरिए अधिकतम 4.5 लाख रुपये निवेश किया जा सकता है.ज्वॉइंट अकाउंट है तो अधिकतम 9 लाख रुपये निवेश कर सकते हैं. ज्वॉइंट अकाउंट में अधिकतम 3 व्यस्क भी हो सकते हैं. लेकिन अधिकतम लिमिट 9 लाख रुपये की है.

यह भी पढ़ें :  e-passport : ई-पासपोर्ट से बदलेगा आपके सफर का अनुभव, जानिये क्या हैं इसके फायदे.

 

4. सरकारी सिक्योरिटीज :

सरकारी सिक्योरिटीज यानी G-Secs भी एक सुरक्षित निवेश का जरिया है, क्योंकि ये एक डेट इंस्ट्रूमेंट है. ये सिक्योरिटीज केंद्र सरकार और राज्य सरकारें दोनों ही जारी करती हैं. इस स्कीम में निवेश पर आपको रेगुलर ब्याज आय होती है. ये सिक्योरिटीज सरकार की ओर से जारी होती हैं इसलिए इसमें रिस्क की कोई गुंजाइश नहीं होती. सरकारी इसकी पूरी गारंटी लेती है.

 


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page