Follow Us On Goggle News

Ration Card : सावधान ! अगर अपात्र होते हुए भी बनवा रखा है राशन कार्ड, तो तुरंत करें सरेंडर नहीं तो हो सकती है सख्त कार्रवाई.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Ration Card New Rules : अगर आप राशन योजना ( PDS Shceme ) का अनुचित लाभ ले रहे हैं तो यह खबर आपके लिए जरुरी है. जल्दी ही इसका मोह छोड़कर अपने कार्ड निरस्त करने के लिए सरेंडर कर दें. ऐसा नहीं करने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

 

Ration Card New Rules : राशन योजना ( PDS Shceme ) का अनुचित लाभ ले रहे लोगों के लिए यह जरुरी खबर है। वे जल्दी ही इसका मोह छोड़कर अपने कार्ड निरस्त करने के लिए सरेंडर कर दें। ऐसा नहीं करने पर जांच के दौरान यदि वे अपात्र होने के बावजूद योजना का अनुचित लाभ लेते पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। यह चेतावनी केंद्र सरकार के निर्देश पर  शासन के द्वारा दी गई है।

 

दरअसल राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के अन्तर्गत पात्र गृहस्थी राशनकार्डाें का लक्ष्य पूर्ण होने के कारण नवीन राशनकार्ड जारी नहीं हो पा रहे हैं। राशन कार्ड में यूनिट वृद्धि भी नहीं हो रहा है। प्रशासन के संज्ञान में आया है कि कुछ अपात्र परिवार तथ्य छिपाकर इस योजना का अनुचित लाभ ले रहे हैं, इसलिए उन्हें सलाह दी गई है कि वें तत्काल अपना राशनकार्ड सरेंडर कर निरस्त करा लें।

यह भी पढ़ें :  PIB Fact Check : पीएम लाडली लक्ष्मी योजना में बेटियों को मिल रहे 1,60,000 रुपये! सरकार ने बताई इस स्कीम की सच्चाई.

 

मिली जानकारी के मुताबिक इस योजना का लाभ उठाने के लिए ऐसे लोग पात्र नहीं है, जो आयकर दाता हों, परिवार में किसी भी सदस्य के स्वामित्व में चार पहिया वाहन अथवा ट्रैक्टर हार्वेस्टर, एसी अथवा पांच केवी या उससे अधिक क्षमता का जनरेटर हो। शहरी क्षेत्र के ऐसे परिवार जिसके किसी भी सदस्य के पास अकेले या अन्य सदस्य के स्वामित्व में 100 वर्ग मीटर से अधिक का स्वअर्जित आवासीय प्लाट या उस पर स्वनिर्मित मकान अथवा 100 वर्ग मीटर से अधिक कार्पेट एरिया का आवासीय फ्लैट हो।

 

इसके अलावा परिवार में किसी सदस्य के स्वामित्व में अकेले या अन्य सदस्य के साथ 80 वर्ग मीटर या उससे अधिक कार्पेट एरिया का व्यवसायिक स्थान हो, ग्रामीण क्षेत्र के ऐसे परिवार जिनके किसी सदस्य के पास अकेले या अन्य सदस्य के स्वामित्व में पांच एकड़ से अधिक सिंचित भूमि हो, समस्त सदस्यों की आय दो लाख प्रतिवर्ष से अधिक हो एवं शहरी क्षेत्र के ऐसे परिवार जिनके समस्त सदस्यों की आय तीन लाख प्रतिवर्ष से अधिक हो और जिन परिवार के सदस्यों के पास एक से अधिक शस्त्र लाईसेंस हों, वें अपात्रता की श्रेणी में आते हैं।

यह भी पढ़ें :  LIC IPO : प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा होल्डर्स के लिए बड़ी खबर, एलआईसी आईपीओ में नहीं मिलेगा ये फायदा.

 

इसके अतिरिक्त अन्त्योदय (लाल कार्ड) अन्न योजना के लिए वह परिवार पात्र है, जिनके पास ग्रामीण क्षेत्र में अपनी जमीन न हो, ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्र के शहर में अपना पक्का मकान न हो, ग्रामीण क्षेत्र में कोई निश्चित व्यवसाय न हो, ग्रामीण क्षेत्र में भैस, बैल, ट्रैक्टर ट्राली न हो, ग्रामीण क्षेत्र में मुर्गी पालन, गौ पालन आदि न हो इत्यादि शामिल हैं।

 

जानकारी के अनुसार यदि सत्यापन के समय जांच में अपात्र परिवार खाद्यान्न प्राप्त करते पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। जिस दिनांक से वे खाद्यान्न प्राप्त कर रहे है, का आंकलन करते हुए खाद्यान्न की वसूली बाजार मूल्य की दर से की जाएगी।


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page