Follow Us On Goggle News

Ration ATM: अब एटीएम मशीन से निकलेगा गेहूं-चावल, राशन डीलरों का चक्कर खत्म.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Ration ATM: आपने ऑटोमेटेड टेलर मशीन यानी एटीएम (Ration ATM) से पैसे तो निकलते देखा होगा. अब एक ऐसी सुविधा की शुरुआत होने जा रही है, जिसके जरिए आप एटीएम से अनाज भी निकाल सकेंगे. दरअसल, ओडिशा सरकार राशन डिपो पर एटीएम मशीन की तरह ऑल टाइम ग्रेन यानी एटीजी (All Time Grain) मशीन से राशन देने की तैयारी कर रही है.

पीटीआई की एक खबर के मुताबिक, ओडिशा में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत लाभार्थियों को अनाज उपलब्ध कराने के लिए एटीजी (ATG) मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा. खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता कल्याण मंत्री अतनु एस. नायक ने बुधवार को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि एटीजी मशीन एटीएम की तरह होंगी, लेकिन इनके जरिए अनाज प्रदान किया जाएगा.

कैसे काम करेगा ग्रेन Ration ATM:

राशन कार्ड धारकों को Grain ATM में अपना आधार कार्ड नंबर और राशन कार्ड पर अंकित नंबर डालना होगा. इतना करते ही आपको एटीएम से अनाज मिल जाएगा. सरकार इसे अभी पायलट प्रोजेक्ट के तहत शुरू कर रही है. इस योजना के तहत पहला ग्रेन एटीएम भुवनेश्वर में लगने जा रहा है.

यह भी पढ़ें :  Ration Card Rules : फ्री राशन योजना के फर्जी दावेदारों पर होगी सख्त कार्रवाई, जल्द सरेंडर करें अपना राशन कार्ड.

सभी जिलों में मिलेगी Ration ATM:

खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता कल्याण मंत्री अतनु सब्यसाची ने मंगलवार को इस योजना के बारे में ओडिशा विधानसभा में जानकारी दी. उन्होंने कहा कि ओडिशा में हितधारकों को Grain ATM से राशन दिए जाने की तैयारी की जा रही है. शुरुआती दौर में ग्रेन एटीएम शहरी क्षेत्रों में लगाए जाएंगे. इसके बाद सभी जिलों में यह खास एटीएम लगाने की योजना है. साथ ही अगले चरण में प्रदेश के सभी जिलों में ग्रेन एटीएम लगाने की योजना बनाई गई है.

Ration ATM विशेष कोड वाला कार्ड होगा जरूरी:

मंत्री सब्यसाची ने कहा कि Grain ATM से राशन लेने के लिए हितधारकों को विशेष कोड वाला कार्ड मुहैया कराया जाएगा. ग्रेन एटीएम मशीन पूरी तरह से टच स्क्रीन होगी. इसमें बायोमेट्रिक सुविधा भी मौजूद होगी.

गुरुग्राम में लगा पहला ग्रेन एटीएम Ration ATM:

बता दें कि देश में पहला ग्रेन एटीएम हरियाणा के गुरुग्राम में लगाया गया था. विश्व खाद्य कार्यक्रम के तहत सरकार द्वारा इस मशीन को बढ़ावा दिया जा रहा है. इसे ‘अटोमेटेड, मल्टी कमोडिटी, ग्रेन डिस्पेंसिंग मशीन’ भी कहा जाता है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page