Follow Us On Goggle News

Public Provident Fund: पीपीएफ में खोलें अपना खाता, मिलेंगे लाखों रुपये का फायदा.

इस पोस्ट को शेयर करें :

भारत में सबसे लोकप्रिय एवं जानी-मानी बचत योजनाओं में से एक पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) के बारे में आप कितना जानते हैं. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) यानी कि पीपीएफ भले एक खता है लेकिन इसके फायदे कई है.

 

यह एक फ्यूचर फाइनेंसियल गोल को हासिल करने में आपको शानदार प्लान देता है. सबसे अच्छी बात यह है कि इस योजना केंद्र सरकार की है तो इसमें निवेश किए गए पैसे और रिटर्न सुरक्षित और गाईरेंटेड होते हैं. इसके फायदे गिनाए तो पीपीएफ में छोटी बचत का निवेश करके उस पर बमपर रेतुर्न कमाया जा सकता है.

 

इस योजना को रिटायरमेंट के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है. पीपीएफ की अवधि 15 साल हैं लेकिन इसे 5 सालों के लिए बढ़ाया भी जा सकता है. तमाम लोग पीपीएफ में निवेश करते हैं और और भी बहुत लोगों को इसके सभी फायदे के बारे में जानकारी नहीं है. तो आज हम आपको पीपीएफ खाता क्या होता है. इसे कैसे खोला जा सकता है और इसके क्या क्या फायदे हैं इन सभी बातों के बारे में जानकारी देंगे…

 

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) की विशेषताएं:

  • पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) 15 साल की लॉक-इन अवधि वाला एक लॉन्ग टर्म निवेश है। इसका मतलब यह है कि पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाते में जमा की गई राशि को मैच्योरिटी पर ही निकाला जा सकता है, जो कि 15 वर्ष है। ये अवधि पूरी होने पर इसे 5 साल के लिए और बढ़ाया जा सकता है। समय से पहले विड्रॉल (पैसा निकालने) की अनुमति है लेकिन केवल इमरजेंसी में आप ऐसा कर सकते हैं।
  • पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) बैलेंस पर ब्याज की कैल्कुलेशन हर महीने की जाती है और यह ब्याज राशि हर फाइनेंशियल वर्ष के अंत में पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाते में जमा की जाती है। सरकार द्वारा प्रत्येक तिमाही के लिए ब्याज दरों की घोषणा की जाती है। हर महीने, ब्याज राशि की कैल्कुलेशन हर महीने की 5 तारीख के बाद, महीने के आखिरी दिन तक के सबसे कम पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) बैलेंस पर की जाती है। इसलिए, पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) निवेशकों को प्रत्येक महीने की 5 तारीख से पहले अपने PPF खाते में कॉन्ट्रीब्यूशन करने की सलाह दी जाती है।
  • व्यक्तियों को न्यूनतम 500 रुपये सालाना का निवेश करने की आवश्यकता होती है। व पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाते में एक फाइनेंशियल वर्ष में अधिकतम निवेश 1.5 लाख रुपये तक किया जा सकता है।
  • पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) सर्वश्रेष्ठ टैक्स लाभ भी प्रदान करता है क्योंकि यह छूट-छूट-छूट (EEE) श्रेणी के अंतर्गत आता है। जिसका अर्थ है कि मूल राशि, मैच्योरिटी राशि और साथ ही अर्जित ब्याज पर टैक्स नहीं लगेगा
  • पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाता धारक अपने PPF बैलेंस के बदले लोन ले सकता है। हालांकि, खाता खोलने की तारीख से केवल तीसरे वर्ष की शुरुआत और छठे वर्ष के अंत के बीच ही यह लोन लिया जा सकता है। अधिकतम लोन राशि PPF बैलेंस के 25% तक लिमिटेड है ( दूसरे वर्ष के अंत में या लोन लागू होने वाले वर्ष में )
यह भी पढ़ें :  Sarkari Yojana 2022 : इस सरकारी स्‍कीम में एक बार करना होगा न‍िवेश, हर महीने घर बैठे मिलेंगे 5000 रुपये.

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) की योग्यता शर्तें:

केवल एक भारतीय निवासी ही पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाता खोल सकता है।
NRI, PPF खाता खोलने के लिए योग्य नहीं हैं। हालांकि, एक निवासी भारतीय जो खाता खोलने के बाद NRI बन गया है, वह मैच्योरिटी तक खाता जारी रख सकता है
माता-पिता / अभिभावक अपने नाबालिग बच्चों के लिए भी पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) अकाउंट खोल सकते हैं।

जॉइंट अकाउंट और कई अकाउंट खोलने की अनुमति नहीं है।

 

बच्चों के लिए पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) अकाउंट:

आप बच्चों के लिए भी पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाता खुलवा सकते हैं. बच्चों के लिए पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) अकाउंट से काफी मदद मिल सकती है. अगर आप कम उम्र में अपने बच्चे के लिए यह खाता खुलवाते हैं तो बच्चे के बड़े होने तक अकाउंट मैच्योर हो चुका होगा या मैच्योर के करीब होगा. अगर आप 5 साल के बच्चे का पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाता खुलवाते हैं तो जब तक यह खाता मैच्योर होगा, बच्चा भी 20 साल का हो जाएगा. आपके पास बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए एक अच्छी राशि जमा हो जाएगी. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाते को 5 वर्ष के लिए और आगे बढ़ाया जा सकता

यह भी पढ़ें :  Bihar Student Credit Card Yojana : छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए सरकार दे रही हैं 4 लाख रुपये, जानिए कैसे करें आवेदन.

 

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज़:

यहां उन दस्तावेजों की एक लिस्ट दी गई है, जो कि पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाता खोलने के समय आवश्यक होते हैं:

  • पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाता खोलने का फॉर्म- फॉर्म A (यह फॉर्म किसी भी बैंक से प्राप्त किया जा सकता है जो PPF खाता खोलने के लिए अधिकृत है)
  • केवाईसी दस्तावेज – पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund)
  • पहचान को वैरिफाई करने के लिए आधार कार्ड, वोटर आईडी, या ड्राइविंग लाइसेंस
  • ऐड्रेस प्रूफ
  • पैन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • नॉमिनी फॉर्म- फॉर्म E(यह फॉर्म किसी भी बैंक से प्राप्त किया जा सकता है जो पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाता खोलने के लिए अधिकृत है)
  • पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) अकाउंट खोलने के लिए आवश्यक फॉर्म डाउनलोड करने के लिए, यहाँ क्लिक करें.

 

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) अकाउंट खोलने की सुविधा प्रदान करने वाले बैंक:

इंडियन ओवरसीज़ बैंक एक्सिस बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया IDBI बैंक ICICI बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा पंजाब नेश्नल बैंक कॉर्पोरेशन बैंक ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स बैंक ऑफ इंडिया स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद इलाहाबाद बैंक सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया केनरा बैंक यूनियन बैंक ऑफ इंडिया इंडियन बैंक यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया देना बैंक विजया बैंक बैंक ऑफ महाराष्ट्र स्टेट बैंक ऑफ पटियाला स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर स्टेट बैंक ऑफ मैसूर.

यह भी पढ़ें :  PM-Kisan Samman Nidhi Yojana : इस दिन आएंगे किसानों के खाते में पैसे, चेक करें नई लिस्ट में अपना नाम.

 

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) अकाउंट ऑनलाइन कैसे खोलें?

यदि आपका निम्नलिखित बैंकों में किसी एक में खाता है, तो आप PPF खाता खोलने के लिए उनकी नेटबैंकिंग सेवा का उपयोग कर सकते हैं:

  • अपने नेट बैंकिंग पोर्टल पर लॉग इन करें:
  • ‘Open a PPF Account’ विकल्प पर क्लिक करें
  • ‘self account’ व ‘minor account’ का विकल्प चुनें
  • आवश्यक जानकारी जैसे नॉमिनेशन, बैंक जानकारी आदि दर्ज करें
  • स्क्रीन पर दिखाए गए अपने स्थायी खाता संख्या (पैन), आदि जैसी जानकारियों को वैरिफाई करें
  • जानकारियों को वैरिफाई करने के बाद, वह राशि दर्ज करें जो आप अपने पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाते में जमा करना चाहते हैं
  • आपको स्टैडिंग इंस्ट्रक्शन इनेबल करने के लिए कहा जाएगा, जो बैंक को निश्चित समय पर आपके अकाउंट से राशि कटौती करने में सक्षम बनाता है
  • अपनी पसंद का विकल्प चुनने के बाद, आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा
  • एक बार वैरिफिकेशन हो जाने के बाद, आपका पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) खाता खुल जाता है। आपको भविष्य में रेफरेंस के लिए स्क्रीन पर प्रदर्शित अकाउंट नम्बर को सेव करने की सलाह दी जाती है
  • कुछ बैंक आपसे रेफरेंस नम्बर के साथ दर्ज की गई जानकारी की हार्ड कॉपी और संबंधित बैंक को अपने केवाईसी विवरण के साथ जमा करने के लिए भी कह सकते हैं
  • यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि PPF खाता खोलने के लिए प्रत्येक बैंक की अपेक्षाकृत अलग प्रक्रिया हो सकती है।

 


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page