Follow Us On Goggle News

PM Kisan Yojana : इन किसानों के खाते में नहीं आएगी ‘पीएम किसान योजना’ की 11वीं किस्त, जानिए क्या है वजह ?

इस पोस्ट को शेयर करें :

PM Kisan Yojana : देश के किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार हो सके, इसके लिए सरकार की तरफ से कई सारी योजनाएं चलाई जाती हैं. इन्हीं योजनाओं में से एक है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना. इस योजना के तहत किसानों को हर चार महीने पर दो-दो हजार रुपये करके सालाना 6 हजार रुपये दिए जाते हैं.

 

PM Kisan Yojana : देश भर के करोड़ों किसानों के लिए अच्छी खबर है। पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Yojana 11th Installment) के तहत जल्द ही 11वीं किस्त किसानों के खाते में भेजी जाने वाली है। विदित हो कि अब तक किसानों के खाते में इस योजना के तहत 10 क़िस्त आ चुकी हैं। उल्लेखनीय है कि इस पीएम किसान योजना के तहत सरकार किसानों के खाते में हर साल तीन किस्तों में 6 हजार रुपये भेजती है। लेकिन कई बार किसानों से इस योजना का लाभ उठाने के लिए किये गए आवेदन में कुछ गलतियां हो जाती है, जिसके कारण किसान इस योजना का लाभ नहीं उठा पाते हैं।

 

आपको बता दें कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana Benefits) के तहत केंद्र सरकार के पास कई आवेदन आते हैं। जिनमे से कई आवेदनों में गलतियां पायी जाती है। जिसके कारण किसानों की किस्त रुक जाती है। इसमें बैंक डिटेल से लेकर नाम – पते की टायपिंग में गलतियां होती है। जिसके कारण उनके आवेदन का विवरण कई बार आधार कार्ड से मैच नहीं करता है। जिस कारण हज़ारों किसान इस योजना का लाभ नहीं ले पाते हैं। यहां हम आपको बताने जा रहे की आप आवेदन करते समय कौन-कौन सी सावधानियां बरते ताकि आप को कोई परेशानी न हो।

यह भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana: पीएम किसान योजना के लाभार्थियों को सरकार ने दिया बड़ा झटका.

 

जानिए आवेदन करते समय कौन-कौन सी हो सकती हैं गलतियां : 

 

  • इस योजना के लिए आवेदन फॉर्म भरते समय किसान अपना नाम अंग्रेजी में लिखे।
  • जिन किसानों का नाम आवेदन में हिंदी में है, वे उसे अंग्रेजी में कर लें।
  • यदि आवेदन में नाम और बैंक खाते में आवेदक का नाम अलग-अलग है, तो आपको क़िस्त से वंचित रहना पड़ सकता है।
  • अगर बैंक का IFSC कोड, बैंक अकाउंट नंबर और गांव के नाम में कोई गलत हुई तो आपका पैसा अटक सकता है।
  • हाल ही में बैंकों के विलय के कारण IFSC कोड बदल गए हैं। इसलिए आवेदक को अपना नया IFSC कोड अपडेट करना होगा।

 

ऐसे सुधारें अपनी गलतियां : 

  1. गलतियों को सुधारने के लिए सबसे पहले आप pmkisan।gov।in वेबसाइट पर जाएं।
  2. अब ‘किसान कॉर्नर’ के विकल्प को चुनें।
  3. यहां आपको ‘आधार एडिट’ का विकल्प दिखाई देगा, यहां आप अपने आधार नंबर में सुधार कर सकते हैं।
  4. अगर आपने अपना बैंक एकाउंट नंबर में गलती की है तो आपको इसे सुधारने के लिए कृषि विभाग के कार्यालय या लेखपाल से संपर्क करना होगा।
यह भी पढ़ें :  Solar Street Light : नीतीश सरकार का बड़ा फैसला ! सोलर लाइट से जगमग होंगी गांवों की गलियां-सड़कें; जानें कब शुरू होगा काम

 

11वीं किस्त के लिए e-KYC कराना है अनिवार्य :

बता दें कि जिन किसानों ने e-KYC की प्रकिया पूरी नहीं की है, वह 11वीं किस्त पाने के पात्र नहीं होंगे। अगर आप उन्ही किसानों की लिस्ट में हैं तो जल्द से जल्द अपना e-KYC करा लें, क्योंकि सरकार की तरफ से इसे अनिवार्य कर दिया गया है। हालांकि, e-KYC कराने के नियमों में भी बदलाव किया गया है। पहले जहां यह प्रकिया ओटीपी के जरिए ही पूरी कर दी जाती थी, अब उसके लिए किसानों के लिए नजदीकी सीएससी सेंटर जाकर बॉयोमैट्रिक की प्रकिया पूरी करानी होगी।

 

बता दें कि पीएम किसान पोर्टल पर ई-केवाईसी को लेकर एक संदेश फ्लैश हो रहा है। संदेश में लिखा गया है कि PM KISAN के पंजीकृत किसानों के लिए eKYC अनिवार्य है। कृपया, बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के लिए अपने निकटतम सीएससी यानी आधार सेवा केंद्रों से संपर्क करें। ओटीपी प्रमाणीकरण के माध्यम से आधार आधारित ईकेवाईसी को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है। सभी PM KISAN लाभार्थियों के लिए eKYC की समय सीमा 31 मई 2022 तक बढ़ा दी गई है। फिलहाल अभी यह सुविधा बंद है। बहुत हद तक संभव है कि पिछली बार की तरह इस बार भी बिना ई-केवाईसी के 11वीं किस्त किसानों के खातों में भेज दी जाए।

यह भी पढ़ें :  7th Pay DA Hike: कर्मचारियों के महंगाई भत्ता - डीए एरियर पर फैसला.

 

इस तरह चेक करें अपना स्टेटस :

 

  • सबसे पहले pmkisan.gov.in वेबसाइट पर जाएं.
  • अब ‘Farmers Corner’ के ऑप्शन पर क्लिक करें.
  • इसके बाद लाभार्थी सूची (Beneficiary Status) पर क्लिक करें.
  • अब अपने राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव का नाम दर्ज करें.
  • फिर ‘Get Report’ ऑप्शन पर क्लिक करने पर पूरी लिस्ट खुलेगी.
  • किसान इस लिस्ट में आप अपनी किस्त का विवरण देख सकते हैं.

 

इन किसानों को नहीं मिलेंगे पैसे :

पीएम किसान योजना का उन किसानों को नहीं मिलेगा जो किसी संवैधानिक पद पर हैं। केंद्र या राज्य सरकारों या पीएसयू के किसी भी विभाग या किसी भी सरकारी संस्था में काम करने वाला शख्स इस योजना का पात्र नहीं होगा। वहीं संस्थागत किसान भी इस योजना का लाभ नहीं उठा पाएंगे।


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page