Follow Us On Goggle News

PM Awas Yojana 2022: पीएम आवास योजना से मुखिया व आवास सहायक का पावर खत्म, जीविका दीदियों को दी गयी आवास योजना की जिम्मेवारी.

इस पोस्ट को शेयर करें :

PM Awas Yojana 2022: प्रधानमंत्री आवास योजना, ग्रामीण से जुड़े कार्यों का निरीक्षण अब जीविका की दीदियां भी करेंगी। इसके लिए इन्हें जिलों में प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। प्रशिक्षण कार्य की मॉनिटरिंग जिला उप विकास आयुक्त (डीडीसी) करेंगे। आवास निर्माण को तेज गति से पूरा करने और लाभुकों को सहयोग प्रदान करने के मकसद से ग्रामीण विकास विभाग ने यह निर्णय लिया है।

 

PM Awas Yojana 2022: प्रधानमंत्री आवास योजना, ग्रामीण से जुड़े कार्यों का निरीक्षण अब जीविका की दीदियां भी करेंगी। इसके लिए इन्हें जिलों में प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। प्रशिक्षण कार्य की मॉनिटरिंग जिला उप विकास आयुक्त (डीडीसी) करेंगे। आवास निर्माण को तेज गति से पूरा करने और लाभुकों को सहयोग प्रदान करने के मकसद से ग्रामीण विकास विभाग ने यह निर्णय लिया है।

इसको लेकर विभाग के सचिव बालामुरूगन डी. ने सभी जिलाधिकारियों को पत्र जारी किया है। विभाग ने कहा है कि राज्य की 8067 ग्राम पंचायतों में से 5792 में ग्रामीण आवास सहायक कार्यरत हैं। शेष 2275 ग्राम पंचायतों में ग्राम संगठन सदस्य (जीविका दीदी) को इस कार्य के लिए लगाया जाएगा। इसके लिए दीदियों को सेवा शुल्क के रूप में राशि भी दी जाएगी, जिसका निर्धारण भी विभाग ने कर दिया है।

यह भी पढ़ें :  Ration Card Rules : फ्री राशन योजना के फर्जी दावेदारों पर होगी सख्त कार्रवाई, जल्द सरेंडर करें अपना राशन कार्ड.

वर्तमान में कई ग्रामीण आवास सहायकों को एक से अधिक पंचायतों की जिम्मेदारी मिली है, जिसके कारण निरीक्षण में विलंब होता है। इसी को देखते हुए सहायकों के रिक्त पदों पर जीविका दीदियों को लगाया जाएगा। इसके लिए इन्हें आवास योजना के तकनीकी बिंदुओं का प्रशिक्षण दिया जाएगा। कौन जीविका दीदियां इस प्रशिक्षण के लिए चयनित होंगी, इसका निर्धारण ग्राम संगठन के अध्यक्ष द्वारा किया जाएगा। इसके बाद संगठन के माध्यम से इसकी सूचना प्रखंड परियोजना प्रबंधक को दी जाएगी, जो इसकी सूची प्रखंड विकास पदाधिकारी को सौंपेंगे। मालूम हो कि अभी राज्य में दस लाख से अधिक आवासों का निर्माण उक्त योजना के अंतर्गत इस साल कराया जाना है।

प्रति आवास 500 मिलेंगे: PM Awas Yojana 2022

प्रति आवास पूर्ण कराने पर जीविका दीदी को 500 रुपये बतौर सेवा शुल्क दिया जाएगा। आवास की स्वीकृति मिलने के तीन माह में कोई घर पूर्ण होता है तो संबंधित दीदी को 500 रुपये व प्रोत्साहन राशि अलग से दी जाएगी। इसके लिए ग्राम संगठनों के माध्यम से हर माह पूर्ण आवास की विवरणी प्रखंड विकास पदाधिकारी को दी जाएगी। ग्राम संगठनों द्वारा किये गये कार्यों की समीक्षा डीडीसी करेंगे।

यह भी पढ़ें :  PM Awas Yojana : खुशखबरी ! पूरा होगा आपके अपने घर का सपना, अधूरा निर्माण को पूरा कराने के लिए सरकार देगी आर्थिक मदद.

क्या होगा दीदियों का काम: PM Awas Yojana 2022

आवास योजना के लाभुकों से दस्तावेजों की प्राप्ति, किस्त भुगतान के लिए लाभुकों से आवेदन की प्राप्त करना और आवास सॉफ्ट पर लाभुकों का निबंधन करना आदि कार्यों की जानकारी दी जाएगी। जो लाभुक किस्त प्राप्त कर चुके हैं और आवास निर्माण नहीं करा रहे हैं, उनसे मिलकर उन्हें निर्माण में तेजी लाने के लिए जीविका दीदियां प्रेरित भी करेंगी। इन सभी कार्यों की ही इन्हें पहले प्रशिक्षण दिया जाएगा।


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page