Follow Us On Goggle News

PIB Fact Check : बेरोजगारों को हर महीने 25,000 रुपये का भत्ता दे रहा ESIC, साल भर चलेगी स्कीम.

इस पोस्ट को शेयर करें :

PIB Fact Check : सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल है जिसमें दावा किया गया है कि कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) भारत के सभी बेरोजगार नागरिकों को एक साल के लिए ₹25,000 मासिक दे रहा है. पीआईबी फैक्ट चेक के मुताबिक, ️यह मैसेज फर्जी है. ️ईएसआईसी की ओर से ऐसे किसी बेरोजगारी भत्ते की घोषणा नहीं की गई है.

PIB Fact Check : सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया गया है कि इंप्लॉइज स्टेट इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (ESIC) देश के हर बेरोजगार व्यक्ति को प्रति माह 25,000 रुपये दे रहा है. सरकार के मुताबिक यह मैसेज फर्जी है और ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही. ईएसआईसी लोगों को इस तरह के भत्ते नहीं देता. ईएसआई (ESI) पूरी तरह से स्वास्थ्य योजना है जिसमें बीमित व्यक्ति को इलाज या स्वास्थ्य देखभाल की सुविधा दी जाती है. सरकार ने इस मैसेज की छानबीन की है और बताया है कि यह मैसेज पूरी तरह से फर्जी है और इस पर भरोसा करने की जरूरत नहीं. यह बात सरकार के एक फैक्ट चेक (Fact Check) में कही गई है.

यह भी पढ़ें :  Pencil Portal : अब ऑनलाइन भी दर्ज करवा सकेंगे बाल मजदूरी की शिकायत, बस करना होगा ये काम.

 

सरकारी एजेंसी प्रेस इनफॉरमेशन ब्यूरो (PIB) ने वायरल हो रहे इस मैसेज का फैक्ट चेक किया है. ऐसी खबरों के प्रति लोगों को आगाह करने के लिए पीआईबी फैक्ट चेक के नाम से ट्विटर अकाउंट चलाता है. इसका नाम पीआईबी फैक्ट चेक है. पीआईबी फैक्ट चेक में लिखा गया है, सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल है जिसमें दावा किया गया है कि कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) भारत के सभी बेरोजगार नागरिकों को एक साल के लिए ₹25,000 मासिक दे रहा है. पीआईबी फैक्ट चेक के मुताबिक, ️यह मैसेज फर्जी है. ️ईएसआईसी की ओर से ऐसे किसी बेरोजगारी भत्ते की घोषणा नहीं की गई है.

 

क्या कहा सरकार ने :

 

 

यह भी पढ़ें :  EPFO Update : सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, अकाउंट में आया मोटा पैसा, ऐसे चेक करें बैलेंस.

वायरल मैसेज में एक कार्ड पेश किया जा गया है जिस पर ईएसआईसी का लोगो लगा है. उसके नीचे कर्मचारी राज्य बीमा निगम लिखा हुआ है. इसके साथ ही श्रम एवं रोजगार मंत्रालय लिखा हुआ है और अशोक स्तंभ के साथ आजादी का अमृत महोत्सव का लोगो भी लगा है. उसके नीचे मैसेज में लिखा गया है कि ईएसआईसी देश के हर बेरोजगार व्यक्ति को एक साल के लिए हर महीने 25,000 रुपये दे रहा है. मैसेज में लिखा गया है कि रकम पाने वालों की लिस्ट में आपका नाम है या नहीं, इसे चेक कर लें. यह भी चेक कर लें कि आप यह रकम ईएसआईसी से निकाल सकते हैं या नहीं. इसमें अपना नाम लिखना है, एक सवाल का जवाब देना है और अंत में रजिस्टर करना है.

 

ऐसे मैसेज से सावधान :

दरअसल, यह एक फर्जीवाड़ा है जिसमें आवेदन करने वालों की जानकारी चुराई जाती है. रजिस्ट्रेशन के नाम पर आवेदक से कई तरह की सूचनाएं जुटाई जाती हैं और बाद में ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार बना लिया जाता है. आजकल फ्रॉड के नए-नए तरीके सामने आ रहे हैं जिसमें यह भी एक है. इस मैसेज के जरिये लोगों को गुमराह किया जाता है, उन्हें नौकरी या भत्ते का प्रलोभन दिया जाता है और उनकी जानकारी ले ली जाती है. बैंक अकाउंट आदि की डिटेल भी मांग ली जाती है. ऐसे में इस तरह के मैसेज से सावधान रहना चाहिए. सरकार इस तरह के फर्जीवाड़े को लेकर अकसर लोगों को आगाह करती रहती है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page