Follow Us On Goggle News

CM Farmer Accident Welfare Scheme : खेत में कृषि कार्य करते समय दुर्घटना होने पर किसान को मिलेंगे 5 लाख रुपये, जानिए कैसे?

इस पोस्ट को शेयर करें :

CM Farmer Accident Welfare Scheme : उत्तरप्रदेश सरकार की ओर से किसान परिवार को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना को शुरू किया गया है. इस योजना के तहत यदि कोई किसान खेत में कृषि कार्य करते समय किसी दुर्घटना के शिकार हो जाते हैं, जिसमें किसान विकलांग हो जाता है या फिर हादसे में उसकी मौत हो जाती है तो उसकेे परिवार को राज्य सरकार की ओर से मुआवजा दिया जाएगा. ये मुआवजा राशि क्रमश: दो लाख से लेकर पांच लाख रुपए तक होगी.

 

CM Farmer Accident Welfare Scheme : देश के किसान खेत में काम करते समय कई बार दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं। जिसमें सबसे ज्यादा दुर्घटना थ्रेसर चलाते समय होता है, जिनमे में कई बार किसान का हाथ कट जाते हैं तो कभी कभी थ्रेसर के चपेट में आने से जान भी चले जाते हैं। इसके अलावे खेत पर काम करते समय बिजली का करंट लगने या जहरीले कीट के काटने से भी मौत हो जाती है। ये ऐसी दुर्घटनाएं है जो किसान परिवार को तोड़ देती है। ऐसे में किसान परिवार को आर्थिक मदद देने के उद्देश्य से उत्तरप्रदेश की योगी सरकार ने मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना शुरू की है। इसके तहत दुर्घटना होने पर किसानों को अब 5 लाख रुपए तक की आर्थिक सहायता दी जायेगी । आज हम आपको इसी मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना की जानकारी दे रहे हैं :

 

मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना क्या है (What Is Chief Minister Farmer Accident Welfare Scheme) :

यूपी सरकार द्वारा शुरू की गयी यह एक ऐसी कल्याणकारी योजना है, जो किसानों के लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकेगी। इस योजना के तहत यदि किसी किसान की खेती करते समय मृत्यु हो जाती है अथवा कोई शारीरिक रूप से विकलांग हो जाता है तो उसके परिवार के सदस्यों को मुआवजे के रूप में सहायता राशि प्रदान की जाती है।

यह भी पढ़ें :  Sarkari Yojana 2022 : खुशखबरी! केंद्र सरकार हर महीने देगी 5000 रुपये, सालाना होगी पूरे 60,000 की कमाई, जानें कैसे?

 

CM Farmer Accident Welfare Scheme में कितना मुआवजा दिया जाता है :

बता दें कि मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना ( CM Farmer Accident Welfare Scheme) के तहत राज्य के किसी किसान की यदि दुर्घटना में मृत्यु (death) हो जाती है, तो उसके परिवार को 5 लाख रूपये तक की आर्थिक सहायता राशि मुआवजे (Compensation) के रूप प्रदान की जाती है, साथ ही अगर कोई किसान शारीरिक रूप से 60 प्रतिशत से अधिक विकलांग हो जाते हैं, तो उन्हें इस योजना के तहत 2 लाख रूपए तक की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती है।

 

CM Farmer Accident Welfare Scheme में कौन उठा सकता है इस योजना का लाभ :

  • उत्तर प्रदेश योगी सरकार द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना का लाभ केवल किसान के परिवार के लोग ही उठा सकते है, जिनमें मुख्यरूप से किसान की बेटी, पत्नी, पोता, बेटा, माता, पिता आदि शामिल हैं. इसके अलावा जो किसान खेती के बटाईदार में शामिल हैं, वो भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं.

  • जिन किसानों की आजीविका खेती बाड़ी पर ही निर्भर है.

  • जो किसान उत्तर प्रदेश का मूलनिवासी होगा वो भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं.

  • इसके अलावा इस योजना का लाभ उठाने के लिए एक निश्चित आयु सीमा भी निर्धारित की गयी है, जिसमें किसान की आयु सीमा 18 से 70 वर्ष के बीच होनी चाहिए.

 

CM Farmer Accident Welfare Scheme के तहत किन दुर्घटनाओं पर मिलेगा मुआवजा :

  • आग लगने, बाढ़, बिजली गिरने, करंट लगने से विकलांग या मौत होने पर.
  • सर्पदंश, जीव-जंतु व जानवर के काटने से मौत होने पर.
  • समुद्र, नदी, झील, तालाब, पोखर व कुएं में डूबने से हुई मौत पर.
  • आंधी-तूफान, पेड़ से गिरने, दबने व मकान गिरने से हुई मौत.
  • आकाश से बिजली गिरने, आग लगने, बाढ़ आदि में होने वाली दुर्घटना.
  • सीवर चैंबर में गिरना आदि हादसों को इस योजना में कवर किया गया है.
यह भी पढ़ें :  Ration Card : बड़ी खबर ! अगर आपने भी की है ये गलती? एक झटके में रद्द हो जाएगा राशन कार्ड, जानें क्या है नया नियम.

 

CM Farmer Accident Welfare Scheme  के लिए पात्रता और शर्ते :

मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना का लाभ लेने के लिए कुछ पात्रता और शर्तें तय की गई है जो इस प्रकार से हैं :

  • किसान उत्तरप्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए.
  • योजना के तहत केवल उन्हीं किसानों को योजना का लाभ मिलेगा जो 18 वर्ष से 70 वर्ष के आयु वर्ग के अंतर्गत आते हैं.
  • इसके अलावा शेष लोगों को योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा.

 

CM Farmer Accident Welfare Scheme  कितने प्रतिशत विकलांगता पर मिलेगा मुआवजा : 

मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना के तहत जो लोग खेती करते हुए 60 प्रतिशत से अधिक विकलांग हो गए हैं, उन्हें 2 लाख रुपए का मुआवजा इस योजना के तहत दिए जाने का प्रावधान है। इसके अलावा यदि खेती के कार्य के दौरान हादसे में किसान की मौत हो जाती है तो उनके परिवार पांच लाख रुपए का पांच लाख मुआवजा दिया जाएगा। 

 

CM Farmer Accident Welfare Scheme में दावा/मुआवजा हेतु आवेदन कैसे करें :

 

  • यदि खेती का काम करते समय यदि किसी किसान की मौत हो गई है या फिर वे विकलांग हो गया है तो उसके परिवार को मुख्यमंंत्री किसान दुघर्टना कल्याण योजना के तहत फॉर्म भरना होगा.
  • फॉर्म को सारी सूचनाएं भरकर इसे अपने संबंधित शहर के तहसील कार्यालय में सभी संबंधित दस्तावेजों के साथ जमा करना होगा.
  • इसी के साथ इस फॉर्म के साथ सभी आवश्यक दस्तावेजों को अटैच करना होगा।  घटना होने की तारीख से 45 दिनों की अवधि के भीतर ये फार्म भरना होगा.
  • यदि किसी तरह किसान का परिवार एक निर्धारित अवधि के अंदर दस्तावेज जमा नहीं करता है, तो योजना के तहत उसे फॉर्म जमा करने के लिए 30 दिन का और समय दिए जाने का प्रावधान है. लेकिन इसके लिए उन्हें एक पत्र प्रस्तुत करना होगा जिस पर शहर के डीएम द्वारा हस्ताक्षर किए गए हो.
  • यदि आप उपरोक्त 75 दिनों की अवधि में मुआवजे के लिए दावा फॉर्म जमा नहीं करते है तो इसके बाद आपका आवेदन फॉर्म स्वीकार नहीं किया जाएगा।
यह भी पढ़ें :  Ration Card Update : राशन कार्ड लाभार्थियों के लिए अच्छी खबर! सरकार ने किया बड़ा ऐलान, फटाफट उठाएं फायदा.

 

CM Farmer Accident Welfare Scheme में दावा आवेदन फॉर्म के लिए आवश्यक दस्तावेज :

मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना में दावा आवेदन फॉर्म भरते समय आपको कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, जो इस प्रकार से है :

  • खसरा खतौनी की प्रति
  • रजिस्टर्ड निजी पट्टेदार हेतु पट्टे की प्रमाणित प्रति
  • बटाईदार हेतु वैध कोई एक प्रमाण पत्र
  • मृत्यु प्रमाण पत्र
  • पोस्टमार्टम रिपोर्ट अथवा जहां पर पोस्टमार्टम संभव नहीं है वहां पर पंचनामा
  • दिव्यांग की स्थिति में मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा जारी प्रमाण पत्र
  • उत्तराधिकार प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक की छायाप्रति
  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • आयु का प्रमाण
  • निवास का प्रमाण

 

CM Farmer Accident Welfare Scheme मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना की खास बातें :

  • मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण योजना का लाभ लेने के लिए किसान की आयु 18 से 70 वर्ष होनी चाहिए.
  • इस योजना के तहत सभी किसान जिनकी मृत्यु हो चुकी है या 60 प्रतिशत से अधिक विकलांग हो गए हैं, उनका परिवार इस योजना का लाभ ले सकता है.
  • यदि किसान खेती के कार्य के दौरान दुघर्टना में विकलांग हो गया है और विकलांगता 60 प्रतिशत से ज्यादा है तो उन्हें 2 लाख रुपए का मुआवजा इस योजना के तहत दिया जाएगा.
  • यदि किसी किसान की खेती के कार्य के दौरान दुर्घटना में मौत हो जाती है तो उसके परिवार को 5 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा.
  • इस योजना के तहत परिवार के सभी सदस्यों के साथ बटाईदारों को भी शामिल किया गया है.
  • मुआवजे की राशि किसान परिवार के खाते में जमा की जाएगी.
  • यदि किसी किसान के कोई बेटा और पत्नी नहीं है और उसकी एक बेटी है जिसकी शादी हो चुकी है, तो उस स्थिति में, मुआवजे की राशि उसके खाते में जमा कर दी जाएगी.

इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page