Follow Us On Goggle News

Kisan Credit Card Scheme: किसानों को बिना ब्याज मिलेगा फसल ऋण, यहाँ पढ़े पूरी जानकारी.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Kisan Credit Card Scheme: मौसम की बेरुखी का सामना करते हुये देशभर में किसान खरीफ सीजन (Kharif Season) की खेती में जुटे हुये हैं। अनुमान के मुताबिक इस साल कई इलाकों में खरीफ सीजन की बुवाई कम ही हो पाई, जिससे खरीफ फसलों के उत्पादन (Kharif Season 2022) पर असर पड़ सकता है। खासकर किसानों को इस बार किसान अनुमानित उत्पादन (Kharif Crop Production) और आमदनी से चूक सकते हैं। इसी समस्या से किसानों को बाहर निकालने के लिये राजस्थान सरकार ने 5 लाख किसानों को शून्य ब्याज दरों पर ऋण मुहैया करवाने का बेड़ा उठाया है।

ऐसे में राजस्थान सरकार ने किसानों को राहत पहुंचाने के लिए शून्य ब्याज दर पर कृषि ऋण मुहैया कराने का फैसला किया है। इसमें विशेष तौर पर मत्स्य व पशुपालन करने वाले किसानों को प्राथमिकता दी जाएगी। इस बार करीब 5 लाख नए किसानों को कृषि ऋण योजना में शामिल करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए सभी सहकारी बैंकों के अधिकारियों को निर्देश दिए गए है ताकि अधिक से अधिक किसानों को कृषि ऋण मिल सके।

अधिकारियों को दिए निर्देश, सहकारिता समूहों को मिले लाभ: Kisan Credit Card Scheme

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता श्रेया गुहा ने कहा कि किसानों के साथ ही मत्स्यपालकों एवं पशुपालकों को भी शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराए ताकि इनकी जरूरतें पूरी हो सके। उन्होंंने निर्देश दिए कि अधिक से अधिक नए सदस्य किसानों को फसली ऋण से जोड़ा जाए और इस वर्ष 5 लाख नए सदस्य किसानों को शून्य प्रतिशत पर फसली ऋण का लाभ दिलाया जाए। पिछले दिनों गुहा अपेक्स बैंक में सभी केंद्रीय सहकारी बैंकों के प्रबंध निदेशकों की बैठक को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि सभी बैंक यह सुनिश्चित करें कि राजीविका से जुड़े स्वयं सहायता समूहों को आवश्यकता अनुसार ऋण उपलब्ध कराए। उन्होंने कहा कि इस वर्ष 25 करोड़ का ऋण इन समूहों को वितरित किया जाना है। इसके लिए बैंक योजनाबद्ध तरीके से इन समूहों को ऋण सुविधा से जोड़े।

यह भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana : पीएम क‍िसान योजना के 12वीं किस्त पर आया बड़ा अपडेट, स्टेटस पर द‍िखे ये मैसेज तो आपको पक्‍का म‍िलेंगे पैसे

ग्राम पंचायत पर हो ग्राम सेवा सहकारी समिति का गठन: Kisan Credit Card Scheme

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के निर्देशों के क्रम में प्रत्येक ग्राम पंचायत पर ग्राम सेवा सहकारी समिति के गठन किया जाना है। इसके लिए ग्राम सेवा सहकारी समितियां अपनी आय के लिए केवल फसली ऋण वितरण तक ही सीमित नहीं रहें। उन्होंने निर्देश दिए कि ग्राम सेवा सहकारी समितियों को व्यवसाय के विविधिकरण के लिए प्रेरित करें ताकि स्वयं की आवश्यकता के साथ ही आस-पास के लोगों की जरूरतों को भी पूरा कर सके। बैठक में अतिरिक्त रजिस्ट्रार प्रथम श्री राजीव लोचन शर्मा, अतिरिक्त रजिस्ट्रार बैंकिंग ओम प्रकाश पारीक तथा सभी केन्द्रीय सहकारी बैंकों के प्रबंध निदेशक तथा अपेक्स बैंक के संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

किसानों को साल में दो बार दिया जाता है फसल ऋण: Kisan Credit Card Scheme

राजस्थान सरकार की फसल ऋण योजना के तहत किसानों को साल में दो बार रबी और खरीफ सीजन में खेती-किसानी के काम के लिए सहकारी समितियों के माध्यम से बैंक से ऋण उपलब्ध करवाया जाता है। केंद्रीय सहकारिता बैंकों द्वारा वितरित होने वाला अल्पकालीन फसली ऋण खरीफ सीजन में 1 अप्रैल से 31 अगस्त तक दिया जाता है तथा रबी सीजन में 1 सितंबर से 31 मार्च तक किसानों को वितरित किया जाता है। किसान केसीसी के जरिये खेती-किसानी के लिए बैंक से ऋण ले सकते हैं। इसके लिए किसानों को बिना ब्याज के ऋण उपलब्ध कराया जाता है। बता दें कि राज्य सरकार ने पिछले वित्त वर्ष में 2.57 लाख नए किसानों को फसली ऋण दिया गया था।

यह भी पढ़ें :  Kisan Credit Card : अगर 15 दिन में नहीं बने किसान क्रेडिट कार्ड तो यहां करें शिकायत.

बिना ब्याज ऋण के लिए किसान क्रेडिट कार्ड होना है जरूरी: Kisan Credit Card Scheme

बिना ब्याज के ऋण लेने के लिए किसानों के पास क्रेडिट कार्ड होना जरूरी है। इसकी सहायता से किसानों को एक लाख रुपए तक का फसली ऋण बिना ब्याज के मुहैया कराया जाता है। वहीं किसान क्रेडिट कार्ड से 3 लाख रुपए तक का ऋण ले सकते हैं। इस कृषि लोन को राज्य सरकार के सहकारी बैंक से प्राप्त किया जा सकता है। इस योजना को फसल ऋण कहा जाता है। खास बात है कि किसानों को इस लोन पर कोई ब्याज नहीं देना पड़ता है।

अकृषि कार्यों के लिए भी मिल सकेगा ऋण: Kisan Credit Card Scheme

बता दें कि मुख्यमंत्री ने अपने बजट भाषण में कहा था कि ग्रामीण क्षेत्रों में कई किसान परिवार, कृषि एवं पशुपालन के साथ नॉन फार्मिंग गतिविधियां जैसे- हस्तशिल्प, लघु उद्योग, कताई-बुनाई, रंगाई-छापाई आदि का काम करते हैं, यह वर्ग आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग हैं। राज्य सरकार इस वर्ष अकृषि क्षेत्र में भी 1 लाख परिवारों को 2 हजार करोड़ रुपए के ब्याज मुक्त ऋण वितरित करेगी। इस योजना के लिए राज्य सरकार ने बजट में 100 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

यह भी पढ़ें :  LIC Jeevan Labh Scheme: 238 रुपये बन जायेंगे 54 लाख रुपये, एलआईसी की स्कीम आपको बना देगी मालामाल.

शून्य ब्याज पर कृषि ऋण की अधिक जानकारी के लिए किसान कहां करें संपर्क: Kisan Credit Card Scheme

किसान शून्य ब्याज दर पर कृषि ऋण की अधिक जानकारी के लिए अपने नजदीकी सहकारी बैंक से संपर्क करके जानकरी ले सकते हैं।


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page