Follow Us On Goggle News

Indira Awaas Yojana: इंदिरा आवास योजना में हो रही धांधली को लेकर बदलेगा नियम.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Indira Awaas Yojana: इंदिरा आवास से जुड़ी गड़बड़ी के एक मामले में जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने प्रधान सचिव दीपक कुमार और मुख्य सचिव आमिर सुबहानी को अपने पास बुलाकर यह निर्देश दिया कि नियम तो बदलना पड़ेगा।

 

Indira Awaas Yojana इस शिकायत पर सीएम ने सीएस को बुलाया :

एक युवक ने मुख्यमंत्री से यह गुहार लगायी कि इंदिरा आवास उसके पिता के नाम पर स्वीकृत हुआ था पर दूसरे व्यक्ति को दे दिया गया। लोक शिकायत निवारण कानून के तहत जब उन्होंने अपील किया तो मेरे पिता के पक्ष में फैसला हुआ। अब यह कहा जा रहा कि जिस दूसरे व्यक्ति को इंदिरा आवास मिला उससे वसूली होगी तब हमें मिलेगा इंदिरा आवास।

Indira Awaas Yojana मुख्यमंत्री ने कहा ऐसे कैसे होगा?

उन्होंने तुरंत लोक शिकायत निवारण विभाग के वरिष्ठ अधिकारी को बुलाया। मुख्यमंत्री को यह बताया गया कि संबंधित इंदिरा आवास सहायक पर प्राथमिकी हुई है। दूसरे आवंटी से राशि वसूली जानी है। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि चीफ सेक्रेट्री साहब को बुलाइए। उन्होंने अपने प्रधान सचिव को भी बुला लिया। मुख्यमंत्री ने कहा- इस व्यक्ति का क्या दोष है? आप वसूलते रहें। इसे तो देना ही पड़ेगा। नियम तो बदलना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें :  Anganwadi Centers : बिहार में आंगनबाड़ी केंद्रों का बदलेगा स्वरुप, सेविकाओं को मिलेगी शिक्षिका का दर्ज़ा.

Indira Awaas Yojana हर घर नल का जल से जुड़ी कई शिकायतें पहुंचीं :

जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में हर घर नल का जल से जुड़ी कई शिकायतें पहुंची। मुख्यमंत्री ने फोन कर संबंधित अधिकारी को कार्रवाई का निर्देश दिया। एक ने कहा कि ढाई करोड़ खर्च कर उनके गांव की योजना बनी। सत्यापन करा लीजिए, गांव में कहीं भी एक बूंद पानी नहीं पहुंची। एक ने कहा कि पानी का टावर बन गया। जब आपके यहां शिकायत की कि तो केवल मेरे घर में पानी आया है। वार्ड में किसी और के यहां नहीं।

Indira Awaas Yojana शौचालय का निर्माण काफी पहले हुआ पर उसका पैसा अब तक नहीं मिला :

जहानाबाद के घोसी इलाके से आए व्यक्ति ने कहा कि उनके इलाके में सौ से अधिक लोगों ने शौचालय काफी पहले बनवाया था पर अभी तक राशि नहीं मिली। मुख्यमंत्री ने इस पर हैरानी जताते हुए संबंधित अधिकारी को इसे तुरंत देखने को कहा।


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page