Follow Us On Goggle News

Graduate Pass Scholarship: स्नातक पास छात्रों को मिलेगी 50 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि, इस पोर्टल पर करना होगा आवेदन.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Graduate Pass Scholarship: राज्य के स्नातक पास लाखों छात्राओं के लिए बड़ी खुशखबरी है। बिहार की नीतीश सरकार जल्द ही बिहार के लाखों छात्राओं को ग्रेजुएट पास करने पर प्रोत्साहन राशि के रूप में 50 – 50 हज़ार रुपये देने जा रही है। जिसको लेकर विभाग तैयारी पूरी कर दी गई है। जल्द ही ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से छात्राओं को आवेदन करना होगा। जिसके बाद सीधा उनके बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से पैसे भेजे जाएंगे।

शिक्षा विभाग ने सभी कुलपतियों को चिट्ठी लिखकर लाभुक छात्राओं के लंबित आवेदनों को पोर्टल पर अपलोड कराने हेतु आवश्यक तकनीकी तैयारी सुनिश्चित करने को कहा है। इस बारे में पहले ही विभाग के स्तर से प्रशिक्षण कार्यशाला कराई जा चुकी है। पोर्टल पर आवेदनों के सत्यापन के बाद लाभुकों के खाते में प्रोत्साहन के रूप में 50-50 हजार की राशि डीबीटी के माध्यम से भेजी जाएगी।

यह भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana पर आया बड़ा अपडेट, सरकार ने बताया खाते में कब आएगी 11वीं क‍िस्‍त, क‍िसानों के ल‍िए e-KYC अनिवार्य.

काफी आवेदन जांच के लिए लंबित: Graduate Pass Scholarship

शिक्षा विभाग ने अपने निर्देश में कहा है कि राज्य के विश्वविद्यालयों में पौने दो लाख छात्राओं के आवेदन जांच के लिए लंबित हैं। यह गंभीर मामला है। शैक्षणिक सत्र 2015-18 एवं 2016-19 और 2017-20 में स्नातक पास छात्राओं के आवेदनों के सत्यापन नहीं होने से राशि नहीं मिली है। इस बारे में शिक्षा विभाग ने कई बार कुलपतियों को निर्देश दिया है:

  • – बिहार की पौने दो लाख स्नातक पास छात्राओं को प्रोत्साहन राशि देने की तैयारी।
  • – लाभुक लड़कियों के खातों में डीबीटी के माध्यम से भेजी जाएगी राशि।
  • – सात जुलाई से पोर्टल पर अपलोड होंगे आवेदन।
  • – शिक्षा विभाग ने सभी विश्वविद्यालयों को दिया निर्देश।
  • स्नातक पास छात्राओं के आवेदन अब पोर्टल पर ही जमा होंगे।

 

प्रत्येक विश्वविद्यालय के स्तर पर आवेदनों का सत्यापन होने पर ही लाभुकों को राशि का भुगतान हो पाएगा। सत्र 2020-21 एवं 2021-22 बैच की स्नातक पास करने वाली छात्राओं के आवेदन अब पोर्टल पर ही जमा होंगे, ताकि आवेदनों का ससमय सत्यापन हो सके और लाभुकों को प्रोत्साहन राशि भेजी जा सके। सात जुलाई से पोर्टल पर आवेदन अपलोड होंगे। पोर्टल पर गलत नाम से आवेदन अपलोड नहीं हो सकेगा। आवेदन के समय ही आवेदक के नाम, महाविद्यालय और विश्वविद्यालय के साथ ही किस विषय के लिए मान्यता मिली है, की जांच हो जाएगी।


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page