Follow Us On Goggle News

Womens Day 2022 : इस महिला दिवस पर घर की महिलाओं को ऐसे बनाएं आत्मनिर्भर! इनमें से दें कोई भी गिफ्ट

इस पोस्ट को शेयर करें :

Womens Day 2022 : महिला दिवस के मौके पर घर की औरतों को कुछ ऐसा उपहार दें जिससे वो आत्मनिर्भर बन सकें. इस खास दिन पर आप हम आपको बता रहे हैं कुछ खास निवेश जो महिलाओं को हमेशा आर्थिक सम्पन्न रखेगा.

 

Womens Day 2022 : 8 मार्च यानी आज महिला दिवस है. अगर आप चाहते हैं कि इस खास दिन पर आप अपनी पत्नी को कोई ऐसा गिफ्ट दें जिससे वह आत्मनिर्भर बन सकें तो ये खबर आपके लिए ही है. आपके अनुपस्थिति में घर में एक रेगुलर इनकम आती और भविष्य में आपकी पत्नी पैसे के लिए किसी पर निर्भर न रहें तो आप आज ही उनके लिए रेगुलर इनकम (Regular Income) का इंतजाम कर सकते हैं. आज यहां आपको कुछ ऐसे विकल्प बता रहे हैं जिससे आपकी पत्नी का भविष्य आर्थिक सम्पन्न रहेगा. 

 

1. पत्नी के नाम पर खोलें न्यू पेंशन सिस्टम खाता :

आप अपनी पत्नी के नाम पर न्यू पेंशन सिस्टम (NPS) अकाउंट खोल सकते हैं. NPS अकाउंट आपकी पत्नी को 60 साल की उम्र पूरी होने पर एकमुश्त रकम देगा. साथ ही हर महीने उन्हें पेंशन के रूप में रेगुलर इनकम भी होगी. इतना ही नहीं, NPS अकाउंट के साथ आप यह भी तय कर सकते हैं कि आपकी पत्नी  को हर महीने कितनी पेंशन मिलेगी. इससे आपकी वाइफ 60 साल की उम्र के बाद पैसों के लिए किसी पर भी निर्भर नहीं रहेंगी. आइए जानते हैं इस स्कीम के बार में विस्तार से. 

निवेश करना भी है बेहद आसान 

आप न्यू पेंशन सिस्ट (NPS) अकाउंट में अपनी सुविधा के अनुसार हर महीने या सालाना पैसा जमा कर सकते हैं. आप सिर्फ 1,000 रुपये से भी पत्नी के नाम पर NPS अकाउंट खोल सकते हैं. 60 वर्ष की उम्र में NPS अकाउंट मैच्योर हो जाता है. नए नियमों के तहत आप चाहें तो वाइफ की उम्र 65 साल होने तक भी NPS अकाउंट चला सकते हैं. 

यह भी पढ़ें :  PM Modi Yojana : मजदूरों के लिए बड़े काम की है ये योजना, हर महीने मिलते है 3000 रुपये, जानिए कैसे उठा सकते हैं फायदा.

45 हजार तक की मासिक इनकम

उदाहरण से समझिए- अगर आपकी वाइफ की उम्र 30 साल है और आप उनके NPS अकाउंट में हर महीने 5000 रुपये का निवेश करते हैं. अगर उन्हें निवेश पर सालाना 10 फीसदी रिटर्न मिलता है तो 60 साल की उम्र में उनके अकाउंट में कुल 1.12 करोड़ रुपये होंगे. उनको इसमें से लगभग 45 लाख रुपये मिल जाएंगे. इसके अलावा उनको हर महीने 45,000 रुपये के आसपास पेंशन मिलने लगेगी. सबसे खास बात कि यह पेंशन उनको आजीवन मिलती रहेगी.

एकमुश्त कितनी मिलेगी रकम और पेंशन :

कितनी मिलेगी पेंशन?

उम्र- 30 साल 
निवेश की कुल अवधि- 30 साल 
मंथली कंट्रीब्यूशन- 5,000 रुपये 
निवेश पर अनुमानित रिटर्न- 10 फीसदी 
कुल पेंशन फंड- 1,11,98,471 रुपये (मैच्योरिटी पर निकाल सकते हैं रकम)
एन्युटी प्लान खरीदने के लिए रकम – 44,79,388 रुपये 
अनुमानित एन्युटी रेट 8 फीसदी – 67,19,083 रुपये
मंथली पेंशन- 44,793 रुपये.

 

2. म्यूचुअल फंड है बेहतर विकल्प :

म्यूचुअल फंड निवेश का एक जबरदस्त ऑप्शन है. दरअसल, शेयर बाजार में रिटर्न तगड़ा मिलता है लेकिन, वहां रिस्क फैक्टर भी ज्यादा है. अगर आप कम जोखिम में ज्यादा रिटर्न पाना चाहते हैं तो म्यूचुअल फंड में निवेश की प्लानिंग कर सकते हैं. इतना ही नहीं, अगर आपकी अच्छी खासी सैलरी है तो आप एक ऐसे स्कीम में निवेश कर सकते हैं, जो आपको मैच्योरिटी पर 2.45 करोड़ की बड़ी रकम दे सकता है. इससे आपका बुढ़ापा एकदम तनाव मुक्त होगा. 

 

SIP में करें 3500 रुपये मंथली निवेश :

एसआईपी ने मार्केट में पिछले कुछ सालों में जबरदस्त पकड़ बनाई है. पिछले 10 वर्षों में यह देखा गया है कि म्यूचुअल फंड सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान यानी SIP में निवेश करने पर आपको लगभग 15 फीसदी का रिटर्न सालाना मिलता है. अगर आपकी पत्नी की उम्र निवेश करते वक्त 30 साल है तो आप इसमें बाकी के कुल 30 साल तक 12.60 लाख रुपये निवेश कर सकते हैं. अब इस हिसाब से देखें तो 15 फीसदी के रिटर्न पर आपके पास 30 साल बाद करीब 2.45 करोड़ रुपये का फंड जमा होगा. ढेन रहे कि म्यूचुअल फंड स्कीम में ब्याज दर कंपाउंडिंग पर होता है. और यही वजह है कि लोग सुरक्षित निवेश और बेहतर मुनाफे के लिए इसे चुनते हैं. 

यह भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana: सरकार ने पीएम किसान योजना में किए 2 बड़े बदलाव, जानें अब ₹2000 के लिए क्या करना होगा.

 

समझिए कितने मिलेगा आपको रिटर्न :

स्कीम                                                         रिटर्न
SBI स्मॉल कैप म्यूचुअल फंड                    20.04 फीसदी
निप्पॉन इंडिया स्मॉल कैप म्यूचुअल फंड      18.14 फीसदी
इंवेस्को इंडिया मिडकैप म्यूचुअल फंड        16.54 फीसदी
डीएसपी मिडकैप म्यूचुअल फंड                15.27 फीसदी
कोटक इमर्जिंग इक्विटी म्यूचुअल फंड         15.95 फीसदी

 

3. सुकन्या समृद्धि योजना :

सुकन्या समृद्धि योजना बेटियों का भविष्य सुधारने के लिए सरकार की एक पॉपुलर स्कीम है. 10 साल तक की बेटी का सुकन्या समृद्धि योजना में अकाउंट खुलवाया जा सकता है. इसमें न्यूनतम 250 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये सालाना जमा कर सकते हैं. ये स्कीम तब मैच्योर होगी जब बेटी 21 साल की हो जाएगी. हालांकि, इस स्कीम में आपका निवेश कम से कम तब तक लॉक हो जाएगा जबतक की बेटी 18 साल की नहीं हो जाती. 18 साल के बाद भी वो इस स्कीम से कुल राशि का 50 परसेंट हिस्सा निकाल सकती है. जिसका इस्तेमाल वो ग्रेजुएशन या आगे की पढ़ाई के लिए कर सकती है. इसके बाद सारा पैसा तभी निकाला जा सकता है जब वो 21 साल की उम्र की होगी.

यह भी पढ़ें :  7th Pay Commission : केन्द्रीय कर्मचारियों की सैलरी में होगी बढ़ोतरी, जानिए कितना बढ़ेगा DA?

 

कैसे करें निवेश की तैयारी :

सबसे पहले आपको ये तय करना होगा कि आपको अपनी बेटी के लिए जब वो 21 साल की होगी तो कितनी रकम चाहिए. स्कीम की शुरुआत आप जितनी जल्दी करेंगे आपको उतनी ही ज्यादा रकम मैच्योरिटी यानी बेटी के 21 साल के होने पर मिलेगी. निवेश का मंत्र है सही समय का चुनाव. 

 

कब शुरू करें निवेश :

जैसे अगर आपकी बेटी आज 10 साल की है, और आपने निवेश आज शुरू किया तो आप सिर्फ 11 साल तक ही निवेश कर पाएंगे, ऐसे ही अगर 5 साल की बेटी है और आपने निवेश शुरू किया तो आप 16 साल तक निवेश कर पाएंगे, जिससे मैच्योरिटी अमाउंट बढ़ जाएगा. अब अगर आपकी बेटी आज 2021 में 1 साल की है और आपने निवेश शुरू कर दिया तो ये 2042 में मैच्योर होगा. और आपको इस स्कीम का मैक्सिमम फायदा मिल सकता है.

 

416 रुपये से ऐसे बनेंगे 65 लाख रुपये :

1. यहां पर हम ये मानकर चल रहे हैं कि आपने 2021 में निवेश शुरू किया तो आपकी बेटी की उम्र है 1 साल.
2. अब आपने 416 रुपये रोजाना बचाए, तो महीने में हुए 12,500 रुपये
3. 12,500 रुपये हर महीने जमा किए तो साल में हुए 15,00,00 रुपये
4. आप ये निवेश सिर्फ 15 साल तक करेंगे, तो कुल निवेश हुआ 2,250,000 रुपये
5. 7.6 परसेंट सालाना ब्याज के हिसाब से आपको कुल ब्याज मिला 4,250,000 रुपये
6. 2042 में जब बेटी 21 साल की होगी तो स्कीम मैच्योर होगी, उस वक्त कुल मैच्योरिटी अमाउंट होगा 6,500,000 रुपये.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page