Follow Us On Goggle News

Business Ideas : जन औषधि केंद्र खोलकर करें कमाई ! पीएमबीआई के तहत केंद्र खोलने के लिए आवेदन शुरू, यहां करें आवेदन.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Business Ideas : PM Bhartiya Janaushadhi Kendra योजना से देश के कोने-कोने में लोगों तक सस्ती दवा की पहुंच आसान होगी. सरकार जन औषधि केंद्र (Janaushadhi Kendra) खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन मंगा रही है. सरकारी बयान के मुताबिक, 26 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 406 जिलों के 3579 प्रखंडों में प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए गए हैं.

 

Business Ideas : आम लोगों की कमाई बढ़ाने के लिए सरकार ने एक बड़ी तैयारी की है. यह तैयारी भारतीय जन औषधि केंद्र ( PM Bhartiya Janaushadhi Kendra ) खोलने के लिए है. अगर आप भी अपने गांव-नगर या शहर में जन औषधि केंद्र खोलकर कमाई करना चाहते हैं तो यह अच्छा मौका है. सरकार जन औषधि केंद्र (Janaushadhi Kendra) खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन मंगा रही है. सरकारी बयान के मुताबिक, 26 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 406 जिलों के 3579 प्रखंडों में प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए गए हैं. सरकार ने मार्च 2024 तक जन औषधि केंद्रों की संख्या बढ़ाकर 10,000 करने का लक्ष्य निर्धारित किया है. सरकार का दावा है कि इस परियोजना (PMBJP) के तहत आम जनता को लगभग 15,000 करोड़ रुपये की बचत हुई है.

 

पीएमबीजेपी को चलाने के लिए खास एजेंसी फार्मास्युटिकल्स एंड मेडिकल डिवाइसेस ब्यूरो ऑफ इंडिया (पीएमबीआई) को जिम्मा दिया गया है. इस एजेंसी ने भारतीय जन औषधि केंद्र (PMBJK) खोलने के लिए व्यक्तियों, बेरोजगार फार्मासिस्टों, सरकार द्वारा नामित संस्थाओं, गैर सरकारी संगठनों, ट्रस्ट, सोसायटी आदि से आवेदन मांगे हैं. एक ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से ये आवेदन आमंत्रित किए गए हैं. इच्छुक आवेदक पीएमबीआई की वेबसाइट janaushadhi.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. जो आवेदकों पात्र माने जाएंगे, उन्हें “पहले आओ पहले पाओ” के आधार पर पीएमबीजेपी के नाम पर ड्रग लाइसेंस लेने के लिए मंजूरी दी जाएगी.

यह भी पढ़ें :  PM Mudra Yojana : बिना गारंटी मिल रहा है 10 लाख रुपये तक का लोन, न ही कोई प्रो‍सेसिंग फीस, जानिए कैसे मिलेगा लाभ?

क्या है जन औषधि केंद्र ( Janaushadhi Kendra ) :

आम आदमी विशेषकर गरीब जनता के लिए सस्ती दर पर क्वालिटी की दवाएं उपलब्ध कराने के मकस से सरकार ने मार्च 2024 तक प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केंद्रों (पीएमबीजेके) की संख्या को 10000 तक बढ़ाने का लक्ष्य निर्धारित किया है. 31 मार्च 2022 तक औषधि केंद्रों की संख्या बढ़कर 8610 हो चुकी है. पीएमबीजेपी के तहत देश के सभी 739 जिलों को इस योजना में शामिल किया गया है. इन 406 जिलों के 3579 प्रखंडों को कवर करने के लिए नए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं. छोटे शहरों और प्रखंड में रहने वाले लोग भी अब जन औषधि केंद्र खोलने के अवसर का लाभ उठा सकते हैं.

क्या कहा सरकार ने :

 

 

 

यह भी पढ़ें :  Sarkari Yojana 2022 : सीएम नितीश ने बेटियों को दी बड़ी सौगात, ग्रेजुएट को 50 हजार तो इंटर पास को मिलेंगे 25 हजार, ऐसे करें आवेदन.

यह योजना महिलाओं, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति, पहाड़ी जिलों, द्वीप जिलों और पूर्वोत्तर राज्यों सहित अलग-अलग श्रेणियों को बढ़ावा या खास प्रोत्साहन देती है. इससे देश के कोने-कोने में लोगों तक सस्ती दवा की पहुंच आसान होगी. पीएमबीजेपी केंद्र खोलने के नियमों और शर्तों को पीएमबीआई की वेबसाइट यानी janaushadhi.gov.in पर देखा जा सकता है.

 

कौन सी दवाएं मिलती हैं औषधि केंद्र में :

पीएमबीजेपी के उपलब्ध औषध समूह में 1616 दवाएं और 250 सर्जिकल उपकरण शामिल हैं, जो देश भर में संचालित 8600 से अधिक प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केंद्रों (पीएमबीजेके) के माध्यम से बिक्री के लिए हैं. इसके अलावा, कुछ आयुष उत्पादों जैसे आयुष किट, बलरक्षा किट और आयुष- 64 टैबलेट को प्रतिरोधक क्षमता बूस्टर के रूप में इस परियोजना से जोड़ा गया है, जिसे कुछ चुने हुए केंद्रों के माध्यम से उपलब्ध कराया जा रहा है. औषधियों में कार्डियोवास्कुलर, एंटी-कैंसर, एंटीडायबिटिक, एंटी-इंफेक्टिव, एंटी-एलर्जी, गैस्ट्रो-इंटेस्टाइनल दवाएं, न्यूट्रास्यूटिकल्स आदि को शामिल किया गया है.

पीएमबीआई एफएसएसएआई के तहत फास्ट-मूविंग कंज्यूमर गुड्स (एफएमसीजी) वस्तुओं और खाने के सामान लॉन्च करने को लेकर काम किया जा रहा है. पीएमबीजेपी के तहत अत्यधिक मांग वाले आयुर्वेदिक उत्पादों को लाने पर भी काम हो रहा है. पीएमबीआई ने गुरुग्राम, चेन्नई, गुवाहाटी और सूरत में चार गोदाम बनाए हैं जिससे सप्लाई चेन को मजबूत किया गया है. इसके अलावा, देश के हर हिस्से में समय पर सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए पूरे भारत में 39 वितरकों का एक मजबूत डिस्ट्रिब्यूटर नेटवर्क भी उपलब्ध है.

यह भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana 2022 : पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ पाने वाले किसानों को कराना होगा यह काम, वरना नहीं आएंगे रुपए.

 

कैसे करें ऑनलाइन अप्लाई :

  1. सबसे पहले फार्मास्युटिकल्स एंड मेडिकल डिवाइसेस ब्यूरो ऑफ इंडिया (पीएमबीआई) की आधिकारिक वेबसाइट http://janaushadhi.gov.in/ पर जाएं
  2. इसके बाद ‘गो टू होम पेज’ पर क्लिक करें
  3. इस लिंक पर क्लिक करने पर पीएम भारतीय जन औषधि परियोजना पेज दिखाई देगा
  4. इस पेज पर पीएम भारतीय जनऔषधि केंद्र के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए हेडर में मौजूद पीएमबीजेके के लिए आवेदन करें लिंक पर क्लिक करें
  5. चाहें तो डायरेक्ट लिंक http://janaushadhi.gov.in/online_registration.aspx से मदद ले सकते हैं
  6. बाद में पीएम भारतीय जन औषधि योजना (पीएमबीजेपी) केंद्र पंजीकरण का पेज खुल जाएगा
  7. जन औषधि योजना लॉगिन पेज खोलने के लिए ‘अप्लाई ऑनलाइन’ लिंक पर क्लिक करें
  8. सभी आवेदक यूजर आईडी, पासवर्ड, लॉग इन टाइप का उपयोग करके पीएमबीजेपी लॉगिन कर सकते हैं. हालांकि नए यूजर को BPPI / PMBJP के साथ पंजीकृत नहीं है पर क्लिक करना होगा
  9. बाद में, पीएम जन औषधि योजना ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म दिखाई देगा

आवेदक सभी विवरण सटीक रूप से दर्ज कर सकते हैं और जन औषधि केंद्र ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरने के लिए “सबमिट” बटन पर क्लिक कर सकते हैं. इसके बाद बाकी आवेदन प्रक्रिया को पूरा करने के लिए लॉगिन कर सकते हैं


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page