Follow Us On Goggle News

Ayushman Bharat : ‘आयुष्मान भारत योजना’ में कोई भी ले सकता है फ्री मेडिकल इंश्योरेंस? जानिए सरकार ने क्या दिया जवाब.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Ayushman Bharat Yojana : आयुष्मान भारत पीएम-जेएवाई ऐसी स्कीम है जिसमें पात्र परिवारों को हेल्थ इंश्योरेंस दिया जाता है. यह काम आयुष्मान कार्ड की मदद से होता है. पीआईबी के मुताबिक सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रहा पत्र फर्जी है.

 

Ayushman Bharat Yojana : क्या आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) हर व्यक्ति के लिए है? क्या आयुष्मान भारत हेल्थ अकाउंट (ABHA) में कोई भी व्यक्ति फ्री मेडिकल इंश्योरेंस ले सकता है? अगर आपने मन में भी ऐसे सवाल हैं तो सरकार का जवाब सुन लीजिए. सरकार ने कहा है कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) के तहत पात्र परिवारों को ही हेल्थ इंश्योरेंस की सुविधा दी जाती और इसके लिए आयुष्मान कार्ड बनाया जाता है. दरअसल, सरकार ने एक फैक्ट चेक में इस बात की जानकारी दी है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक पत्र का फैक्ट चेक करते हुए सरकार की ओर से इसकी असली जानकारी दी गई है.

यह भी पढ़ें :  Pashu Credit Card Yojana : पशुपालकों को बिना गारंटी मिलेगा 1.60 लाख रुपए तक लोन, किसान अब आसानी से खरीद सकेंगे गाय-भैंस.

 

क्या है पीआईबी का ट्वीट :

सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रहे पत्र में दावा किया गया है कि आयुष्मान भारत हेल्थ अकाउंट के तहत देश का कोई भी व्यक्ति फ्री मेडिकल इंश्योरेंस के लिए रजिस्टर कर सकता है. प्रेस सूचना से जुड़ा काम देखने वाली सरकारी एजेंसी प्रेस इनफॉरमेशन ब्यूरो (PIB) ने इस पत्र की पड़ताल की है. पीआईबी ने फैक्ट चेक करते हुए लिखा है कि पत्र में फ्री मेडिकल इंश्योरेंस का दावा पूरी तरह से फर्जी है. पीआईबी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, एबीएचए डिजिटल हेल्थ रिकॉर्ड बनाने का काम करता है, जबकि पत्र में इसके माध्यम से फ्री मेडिकल इंश्योरेंस कराने की बात कही गई है.

पीआईबी फैक्ट चेक में यह भी लिखा गया है कि आयुष्मान भारत पीएम-जेएवाई ऐसी स्कीम है जिसमें पात्र परिवारों को हेल्थ इंश्योरेंस दिया जाता है. यह काम आयुष्मान कार्ड की मदद से होता है. पीआईबी के मुताबिक सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रहा पत्र फर्जी है. पत्र में लिखा गया है कि एबीएचए की वेबसाइट लॉन्च की गई है जहां हर कोई आयुष्मान फ्री मेडिकल इंश्योरेंस के लिए रजिस्टर कर सकता है. फर्जी पत्र में दावा किया गया है कि आयुष्मान भारत में 5 लाख रुपये की मेडिकल मदद दी जा रही है और इसके लिए आधार नंबर दर्ज करना होगा. आधार नंबर दर्ज करने से पहले एक लिंक पर क्लिक करने की बात कही गई है.

यह भी पढ़ें :  E-Shram Card Benefits : क्या आपके पास है ई-श्रम कार्ड ? ई-श्रम कार्ड होल्डर को मिल रहे हैं ये बड़े फायदे, जानिए पूरा डिटेल.

 

फर्जी पत्र में लिखा गया है, लिंक पर क्लिक करने के बाद आधार नंबर डालना होगा. आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा. ओटीपी दर्ज करने के बाद आपको अपना मोबाइल नंबर दोबारा टाइप करना होगा. इसके बाद रजिस्टर्ड आयुष्मान हेल्थ फोटो के साथ आसानी से आयुष्मान कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं. इसके लिए कोई भी व्यक्ति अप्लाई कर सकता है और आयुष्मान योजना में मेडिकल इंश्योरेंस का लाभ ले सकता है. पीआईबी ने इस पत्र को फर्जी बताते हुए लिंक पर क्लिक नहीं करने की सलाह दी है.

 


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page