Follow Us On Goggle News

Agnipath Yojana: भर्ती से पहले युवाओं को देना होगा हिंसा में शामिल ना होने का शपथ पत्र, उपद्रवी नहीं बन पाएंगे अग्निवीर

इस पोस्ट को शेयर करें :

Agnipath Yojana: सेना की ओर से बताया गया है कि भर्ती प्रक्रिया के तहत आवेदनकर्ताओं का पुलिस वेरिफिकेशन भी कराया जाएगा. पुलिस की ओर से जांच के बाद ही सेना भर्ती के लिए युवा आवेदन कर पाएंगे.

अग्निपथ योजना (Agnipath Yojana) को लेकर देश में मचे बवाल के बीच रविवार को सेना, वायुसेना और नौसेना की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए इस योजना से जुड़ी कई अहम जानकारी साझा की गईं. इस दौरान साफतौर पर कहा गया कि हिंसा (Violence) में शामिल होने वाले युवाओं को सेना भर्ती में शामिल नहीं किया जाएगा. अग्निवीर (Agniveer) बनने के लिए सेना में भर्ती का आवेदन देने से पहले युवाओं को शपथ पत्र (Affidavit) देना होगा. इसमें उन्हें बताना होगा कि वे किसी भी हिंसा में शामिल नहीं हुए हैं.

 

वहीं सेना की ओर से जानकारी दी गई है कि भर्ती प्रक्रिया के तहत आवेदनकर्ताओं का पुलिस वेरिफिकेशन भी कराया जाएगा. पुलिस की ओर से जांच के बाद ही सेना भर्ती के लिए युवा आवेदन कर पाएंगे. अगर एफआईआर में भी किसी का नाम हुआ तो भी वह चयन प्रक्रिया में शामिल नहीं हो पाएगा. दरअसल केंद्र सरकार की ओर से अग्निपथ भर्ती योजना की घोषणा के बाद से ही बिहार, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना जैसे राज्यों में युवाओं ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है. ये इस योजना के खिलाफ हैं.

यह भी पढ़ें :  Agnipath Scheme: भारतीय सेनाओं में भर्ती का बड़ा ऐलान: 'अग्निपथ योजना' के तहत होगी सेना की भर्ती.

पूरे देश में 83 रैलियों का होगा आयोजन

बताया गया है कि भारतीय वायुसेना में 24 जून से अग्निपथ योजना के तहत अग्निवीरों की बहाली शुरू की जाएगी. वहीं नौसेना में अग्निवीरों की भर्ती के 25 जून को अधिसूचना जारी की जाएगी. इसके साथ ही थलसेना में 1 जुलाई को अग्निवीरों की भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की जाएगी. प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा गया है कि सेना अग्निपथ योजना के तहत करीब 40,000 अग्निवीरों की भर्ती करने के लिए 83 रैलियों का आयोजन करेगी.

पहला बैच इस साल के अंत में होगा शामिल

प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह भी कहा गया है कि सेना में भर्ती के लिए अग्निपथ योजना के तहत भर्ती रैलियां अगस्त, सितंबर और अक्टूबर में पूरे भारत में आयोजित की जाएंगी. लगभग 25,000 अग्निवीरों का पहला बैच दिसंबर में सेना में शामिल किए जाने की योजना है. वहीं अग्निवीरों के दूसरे बैच को अगले साल यानी फरवरी, 2023 तक सेना में शामिल किए जाने की योजना है. सेना की ओर से सोमवार को अग्निपथ योजना के तहत भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की जाएगी.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page