Follow Us On Goggle News

Agnipath Scheme: साल में 30 दिन छुट्टी, 1 करोड़ का बीमा और कैंटीन सुविधा… ‘अग्निपथ स्कीम’ पर वायुसेना ने दी डिटेल जानकारी

इस पोस्ट को शेयर करें :

Agnipath Scheme: भारतीय वायु सेना ने अपनी वेबसाइट पर अग्निपथ स्कीम (Agnipath Scheme) की डिटेल जानकारी दी है. इसमें बताया गया कि साल में ‘अग्निवीरों’ को कितनी छुट्टी दी जाएंगी, साथ ही उन्हें साल में कितने का इश्योरेंस कवर मिलेगा.

 

अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) को लेकर पिछले काफी दिनों से बवाल मचा हुआ है. सेना में भर्ती के आकांक्षी सैकड़ों अभ्यार्थियों की तरफ से बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश समेत 13 राज्यों में जमकर तबाही (Agneepath Scheme Protest) मचाई और तोड़फोड़ की गई है. इस बीच भारतीय वायु सेना ने अपनी वेबसाइट पर अग्निपथ स्कीम की डिटेल जानकारी दी है. इसमें बताया गया कि साल में ‘अग्निवीरों’ को कितनी छुट्टी दी जाएंगी, साथ ही उन्हें साल में कितने का इश्योरेंस कवर मिलेगा. वायुसेना ने अपने लेटेस्ट अपडेट में बताया है कि ‘अग्निवीरों’ को वही सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी जो एक सेना के जवान को कराई जाती हैं.

यह भी पढ़ें :  Agnipath protests: अभी तक कुल 200 ट्रेनें हुईं प्रभावित; 35 ट्रेनों को किया गया कैंसिल, देखें लिस्ट

 

इसमें कहा गया है कि अग्निवीर एक रेगुलर सैनिक की तरह सैलरी के साथ हार्डशिप एलाउंस, यूनीफॉर्म एलाउंस, कैंटीन सुविधा और मेडिकल सुविधा पा सकेंगे. इसके अलावा उन्हें सालाना 30 छुट्टियां मिलेंगी. वायु सेना ने बताया कि अगर चार साल के दौरान किसी अग्निवीर की मृत्यु होती है तो उसके परिवार को इंश्योरेंस कवर के तौर पर एक करोड़ रुपए दिए जांएंगे. इसके साथ ही ड्यूटी के दौरान विकलांग होने पर 44 लाख रुपए मिलने का प्रावधान है.

यही नहीं, उस अग्निवीर की जितनी नौकरी बची है उसकी पूरी सैलरी दी जाएगी और सेवा निधि पैकेज भी मिलेगा. इस तरह से अग्निवीरों का कुल 48 लाख का इंश्योरेंस होगा. वायु सेना ने बताया है कि अगर अग्निवीर ड्यूटी पर रहते हुए वीरगति को प्राप्त होते हैं तो सरकार की तरफ से 44 लाख रुपए दिए जाएंगे.

यहां पढ़ें अग्निपथ स्कीम की पूरी डिटेल

 

 

यह भी पढ़ें :  Sarkari Yojana 2022 : युवाओं के लिए बड़ी खुशखबरी ! उद्योग लगाने के लिए नितीश सरकार दे रही 10 लाख रुपए, यहाँ करें आवेदन.

‘अग्निवीरों’ को 10 फीसदी आरक्षण के प्रस्ताव पर केंद्र सरकार ने लगाई मुहर

इससे पहले केंद्र सरकार ने आवश्यक योग्यता मानदंडों को पूरा करने वाले अग्निवीरों के लिए रक्षा मंत्रालय की नौकरियों में 10 फीसदी आरक्षण के प्रस्ताव को शनिवार को मंजूरी दी. सशस्त्र बलों में सैनिकों की भर्ती की नई योजना अग्निपथ के बारे में आशंकाओं को दूर करने के लिए पिछले कुछ दिनों में किए गये सिलसिलेवार उपायों को जारी रखते हुए यह कदम उठाया गया.

सशस्त्र बलों में सैनिकों की अल्पकालिक भर्ती के विरोध में देश के विभिन्न हिस्सों में प्रदर्शन बढ़ने के बीच रक्षा मंत्रालय की नौकरियों में अग्निवीरों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण के प्रस्ताव को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मंजूरी प्रदर्शनकारियों को शांत करने की कोशिश के तौर पर देखी जा रही है. सिंह के कार्यालय ने कहा, ‘तटरक्षक और रक्षा विभाग में असैन्य पदों तथा रक्षा क्षेत्र के सभी 16 सार्वजनिक उपक्रमों में 10 प्रतिशत आरक्षण लागू किया जाएगा.’


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page