Follow Us On Goggle News

Kisan Yojana 2022 : खुशखबरी ! किसानों के खाते में पहुंचे 4 – 4 हजार रुपए, 40 लाख किसानों के खाते में ट्रांसफर किए गए 804 करोड़ रुपए.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Kisan Yojana 2022 : इस योजना को कालिया योजना के नाम से भी जाना जाता है. इसके तहत किसानों को हर साल 4 हजार रुपए की सहायता प्रदान की जाती है. पिछले दिनों अक्षय तृतीया के पर्व पर ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस योजना के तहत 40 लाख किसानों के खाते में करीब 804 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए हैं.

 

Kisan Yojana 2022 : आज केंद्र सरकार की ओर से किसानों के लिए कई लाभकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं जिनका उन्हें लाभ मिल रहा है। केंद्र की पीएम किसान सम्मान निधि योजना से किसानों को हर साल 6 हजार रुपए बतौर आर्थिक सहायता दी जाती है। इसी तर्ज पर कई राज्यों ने भी अपने स्तर पर ऐसी ही योजनाएं संचालित कर रखी हैं जिसके माध्यम से किसानों को आर्थिक मदद दी जाती है। ऐसी ही एक योजना राज्य सरकार की ओर से चलाई जा रही है जिसका नाम कृषक सहायता आजीविका और आय वृद्धि योजना है। इस योजना को कालिया योजना के नाम से भी जाना जाता है। इसके तहत किसानों को हर साल 4 हजार रुपए की सहायता प्रदान की जाती है। पिछले दिनों अक्षय तृतीया के पर्व पर ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस योजना के तहत 40 लाख किसानों के खाते में करीब 804 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए हैं।

 

क्या है कृषक सहायता आजीविका और आय वृद्धि योजना ( कालिया ) योजना :

ओडिशा सरकार की ओर से किसानों की आय बढ़ाने और उनकी आर्थिक मदद करने के उद्देश्य से कृषक सहायता आजीविका और आय वृद्धि योजना वर्ष 2018 में शुरू की गई थी। इसका संक्षिप्त नाम कालिया योजना है। इस योजना के तहत किसानों को साल में दो बार 2-2 हजार रुपए की सहायता राशि हर खरीफ और रबी सीजन में दी जाती है ताकि किसान इस पैसे से बीज, खाद, उर्वरक आदि कृषि अदान खरीद सकें। इस योजना का लाभ राज्य के 40 लाख किसानों तक पहुंचाया जा रहा है। इस योजना के तहत जिन किसानों के पास खेती की जमीन नहीं है उन्हें अलग-अलग लाभ प्रदान किए जाते हैं। 

यह भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana : करोड़ों किसानों के लिए खुशखबरी, पीएम किसान योजना को लेकर सरकार ले सकती है ये बड़ा फैसला.

 

किन किसानों को मिलेगा इस योजना का लाभ : 

कृषक सहायता आजीविका और आय वृद्धि योजना यानि कालिया योजना के तहत खेती करने वाले किसान, फसल काटने वाले मजदूर और भूमिहीन खेतीहार मजदूरों को इस योजना का लाभ दिया जाता है। 

 

योजना के लाभार्थियों को क्या-क्या मिलती है सहायता :

जैसा कि हमने ऊपर आपको बताया कि कृषक सहायता आजीविका और आय वृद्धि योजना यानि कालिया योजना में अलग-अलग योजनाओं में लाभ प्रदान करती है। कालिया योजना के अंतर्गत किसानों को कई योजनाओं का लाभ दिया जाता है, जो इस प्रकार से है :

  • खेती के लिए व्यापक सहायता :  इसके तहत किसानों वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। इसके तहत पांच सत्रों में प्रति परिवार 25000 रुपए की सहायता छोटे और सीमांत किसानों को दी जाएगी। यह सहायता किसानों को बीज, उर्वरक, कीटनाशक जैसे आदानों की खरीद और श्रम और अन्य निवेशों के लिए आर्थिक सहायता दी जाती है। 
  • आजीविका के लिए व्यापक सहायता:  इसके तहत भूमिहीन कृषि परिवारों को प्रति परिवार 1500 रुपए की वित्तीय सहायता मिलेगी। यह सहायता कृषि संबद्ध गतिविधियों के लिए देगी जैसे कि छोटी बकरी पालन इकाई, मिनी-परत इकाई, डकरी इकाइयां मछुआरों के लिए मत्स्य किट, मशरूम की खेती और मधुमक्खी पालन आदि के लिए प्रदान की जाएगी। इस योजना का लाभ विशेष रूप से अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति किसानों को दिया जाएगा।  
  • कमजोर कृषि घरेलू के लिए सहायता:  कालिया योजना के इस भाग में कमजोर खेती करने वाले / भूमिहीन कृषि मजदूर जो वृद्धावस्था के कारण खेती नहीं कर पा रहे हैं, उन्हें विकलांगता / बीमारी या अन्य कारण होने पर भी आर्थिक मदद दी जाएगी। प्रत्येक कमजोर किसानों / भूमिहीन कृषि श्रमिकों को हर साल उनकी जीविका की देखभाल के लिए 1,0 हजार रुपए की वित्तीय सहायता एक मुश्त दी जाएगी।
  • जीवन बीमाकर्ताओं और भूमिहीन कृषि मजदूरों के लिए बीमा: किसानों और भूमिहीन किसानों और उनके परिवार के सदस्यों की मृत्यु या विकलांगता के बाद होने वाली वित्तीय कठिनाई और अनिश्चितता को कम करने के लिए जीवन बीमा सहायता प्रदान की गई है। इस बीमा के लाभ निम्नानुसार प्रदान किए जाएंगे। 18 से 50 वर्ष की आयु के सभी बचत खाताधारकों के पास 2 लाख रुपये की वार्षिक जीवन बीमा पॉलिसी है। राज्य सरकार वार्षिक प्रीमियम के किसानों के हिस्से के लिए 175 करोड़ रुपये का भुगतान करेगी। 18 से 50 वर्ष की आयु के सभी बचत खाताधारकों के पास 2 लाख रुपये प्रति वर्ष की व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा पॉलिसी है। राज्य सरकार 12 रुपये प्रति वर्ष के प्रीमियम के किसानों के हिस्से के लिए 12 रुपये प्रति वर्ष का भुगतान करेगी। राज्य सरकार उपर्युक्त व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा लाभों के लिए 51 से 60 वर्ष की आयु के बीच के व्यक्तिगत बचत खाताधारकों को कुल 12 रुपये प्रति वर्ष का भुगतान करेगी। इस योजना के तहत 51 से 60 वर्ष की आयु के लाभार्थियों के लिए प्रीमियम ओडिशा सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
  • ब्याज मुक्त फसल ऋण: योजना के इस भाग में ग्राम पंचायतों ने कमजोर भूमिहीन मजदूरों, किसानों, बटाईदारों और कृषि परिवारों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराया जाएगा यानि किसान द्वारा लिए गए ऋण पर उसे कोई ब्याज नहीं चुकाना होगा। केवल मूल उधार ली हुई राशि ही उसे बैंक को लौटानी होगी।
यह भी पढ़ें :  MANREGA Job Card: मनरेगा जॉब कार्ड धारकों के लिए सरकार ने शुरू की नई योजना.

 

कृषक सहायता आजीविका और आय वृद्धि योजना ( Kalia ) योजना के लिए पात्रता और शर्तें :

राज्य के जो किसान इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं उन्हें पहले इस योजना के लिए पात्रता और शर्तों को जरूर जान लेना चाहिए ताकि आसानी से इस योजना का लाभ मिल सके। कालिया योजना के लिए कुछ पात्रता और शर्तें निर्धारित की गई हैं जो इस प्रकार से हैं : 

  • इस योजना का लाभ राज्य के छोटे और सीमांत किसानों को दिया जाएगा।
  • योजना में आवेदन करने वाला किसान ओडिशा राज्य का मूल निवासी होना चाहिए।
  • योजना में आवेदन करने वाले किसान के पास एक कार्यशील बैंक खाता होना जरूरी है।
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति का बीपीएल श्रेणी के तहत आना चाहिए।

 

इन्हें नहीं मिलेगा योजना का लाभ :

  • हर किसान जो कर भुगतान संरचना के तहत आता है, वे इस योजना में आवेदन नहीं कर सकते हैं। 
  • यदि किसान राज्य सरकार या केंद्र सरकार के लिए काम कर रहा है या किसी पीएसयू विभाग से जुड़ा है तो वे इस योजना का पात्र नहीं माना जाएगा 
यह भी पढ़ें :  PM Awas Yojana 2022 : आवास मिलने में हो रही है परेशानी, तो बस करें ये काम; जल्द मिल जाएगा घर.

 

योजना में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज :

कृषक सहायता आजिविका और आय वृद्धि योजना यानि कालिया योजना में आवेदन करने के इच्छुक किसानों को कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी जो इस प्रकार से हैं :

  • आवेदन करने वाले किसान का आधार कार्ड
  • आवेदन करने वाले किसान का पते का सबूत
  • आवेदक किसान का बैंक खाता विवरण, इसके लिए बैंक पासबुक की कॉपी
  • आवेदन करने वाले किसान का पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवेदन करने वाले किसान का मोबाइल नंबर जो आधार से लिंक हो।

 

कृषक सहायता आजीविका और आय वृद्धि योजना/कालिया योजना में कैसे करें आवेदन : 

राज्य के जो किसान कृषक सहायता आजीविका और आय वृद्धि योजना यानि कालिया योजना में करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए तरीके से ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन की प्रक्रिया इस प्रकार से है :

  • सबसे पहले आपको कृषक सहायता आजीविका और आय वृद्धि योजना यानि कालिया योजना आधिकारिक वेबसाइट https://kalia.odisha.gov.in/index.html पर जाना होगा।
  • यहां होमपेज पर नए आवेदन के लिए के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • फिर वहां एक नया वेब पेज प्रदर्शित होगा।
  • यहां अपना आधार नंबर दर्ज करना होगा। इसके बाद फॉर्म दिखाने के लिए शो बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आवेदन पत्र आपकी स्क्रीन पर दिखाई देगा।
  • इस आवेदन पत्र को सही-सही और पूरा भरें। सभी पूछी गई सूचनाएं और विवरण दर्ज करें। 
  • इसके बाद सभी दस्तावेज आवेदन पत्र के साथ अटैच कर दें।
  • इसके बाद सब्मिट बटन पर क्लिक करके फार्म को जमा कर दें।

 

कृषक सहायता आजीविका और आय वृद्धि योजना/कालिया योजना की अधिक जानकारी के लिए कहां करें संपर्क :

कृषक सहायता आजीविका और आय वृद्धि योजना/कालिया योजना की अधिक जानकारी के लिए किसान इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://kalia.odisha.gov.in/index.htm पर जाकर इसका अवलोकन कर सकते हैं। 


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page