Follow Us On Goggle News

Cryptocurrency Prices Today: दुनियाभर में आज से लागू हुए क्रिप्टोकरेंसी के नए रेट, यहाँ देखें लिस्ट.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Cryptocurrency Prices Today: पिछले कुछ समय से गिरावट के शिकार हो रहे क्रिप्टोकरेंसी मार्केट (Cryptocurrency Market) में बीते 24 घंटे के दौरान अचानक तूफानी तेजी देखने को मिली. बिटकॉइन (Bitcoin) समेत लगभग सारी क्रिप्टोकरेंसीज (Cryptocurrencies) पिछले 24 घंटे के दौरान बढ़त में हैं, जिसके चलते क्रिप्टोकरेंसी बाजार का ग्लोबल मार्केट कैप 1.63 फीसदी बढ़कर 1.92 ट्रिलियन डॉलर पर पहुंच गया.

 

मेजर क्रिप्टोकरेंसीज में आई इतनी तेजी: Cryptocurrency Prices Today

कॉइन मार्केट कैप (Coin Market Cap) के डेटा के अनुसार, पिछले 24 घंटे में बिटकॉइन 1.48 फीसदी चढ़कर 41,336 डॉलर पर ट्रेड कर रहा है. वहीं इथेरियम (Ethereum) 1.12 फीसदी की तेजी के साथ 3,085 डॉलर पर बना हुआ है. BNB में 1.01 फीसदी की तेजी आई है, जबकि USDT Tether और USDC जैसे स्टेबल कॉइन्स (Stable Coins) इस दौरान 0.01 फीसदी तक की बढ़त में हैं. ADA टोकन में 0.65 फीसदी की तेजी है, तो Terra LUNA 4.15 फीसदी की बढ़त में है. बीते 24 घंटे के दौरान Solana 6.03 फीसदी मजबूत हुआ है, तो Avalanche 2.66 फीसदी चढ़ा हुआ है.

यह भी पढ़ें :  Cryptocurrency News : बिटकॉइन में गिरावट जारी, Ethereum भी नीचे खिसकी.

 

सिर्फ एक क्रिप्टोकरेंसी नुकसान में… Cryptocurrency Prices Today

बीते 24 घंटे के दौरान लगभग सारी क्रिप्टोकरेंसीज में तेजी आई है. XRP Ripple एकमात्र क्रिप्टोकरेंसी है, जिसमें बीते 24 घंटे के दौरान गिरावट आई है. यह 0.07 फीसदी की गिरावट में है. दूसरी ओर भारतीय क्रिप्टो बाजार को देखें तो CoinDCX देश की सबसे ज्यादा वैल्यू वाली क्रिप्टो कंपनी (Crypto Company) बन चुकी है. क्रिप्टो एक्सचेंज (Crypto Exchange) ने मंगलवार को बताया कि उसने ताजा फंडिंग राउंड में 135 मिलियन डॉलर जुटाया है और उसकी वैल्यू 2.15 बिलियन डॉलर आंकी गई है.

 

भारत में ऐसा है क्रिप्टो का फ्यूचर: Cryptocurrency Prices Today

आज तक की सहयोगी वेबसाइट बिजनेस टुडे (Business Today) के साथ एक खास बातचीत में कॉइनडीसीएक्स के फाउंडर (CoinDCX Founder) नीरज खंडेलवाल ने भारत में क्रिप्टो मार्केट के फ्यूचर पर अपनी राय दी. खंडेलवाल ने बताया कि भारत में एक्सचेंजों के बीच कंपटीशन के बजाए कोलाबोरेशन होने से क्रिप्टो (Crypto) और वेब3 (Web3) स्पेस तैयार करने में मदद मिलेगी.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page