Follow Us On Goggle News

Tokyo Olympics 2020 Live: भारत की उम्मीदों को लगा बड़ा झटका, हॉकी सेमीफाइनल में बेल्जियम ने 5-2 से हराया. पीएम मोदी बोले- हार और जीत जीवन का हिस्सा.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Tokyo Olympics 2020 : भारतीय पुरुष हॉकी टीम का आज सेमीफाइनल में विश्व चैंपियन बेल्जियम से मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा. इसी के साथ भारत की गोल्ड मेडल की उम्मीदें टूट गईं.

भारतीय मेंस हॉकी टीम को टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल मुकाबले में बेल्जियम के खिलाफ 2-5 से हार का सामना करना पड़ा. इस हार के बाद भारतीय मेंस हॉकी टीम का गोल्ड मेडल जीतने का सपना टूट गया. भारतीय पुरुष टीम अब ब्रोन्ज मेडल के लिए खेलेगी.इस हार ने भारतीय मेंस हॉकी टीम के साथ करोड़ों भारतीय खेल प्रेमियों का दिल भी तोड़ दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टीम का हौसला बढ़ाते हुए ट्वीट किया कि जीत और हार तो जिंदगी का हिस्सा है. हमारी मेंस हॉकी टीम ने अपना बेस्ट दिया.

पीएम मोदी बोले- हार और जीत जीवन का हिस्सा : बेल्जियम के हाथों मिली 5-2 से हार के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हार-जीत जीवन का हिस्सा है. टोक्यो ओलंपिक में हमारी पुरुष हॉकी टीम ने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया और यही मायने रखता है. टीम को अगले मैच और उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं. भारत को अपने खिलाड़ियों पर गर्व है.

यह भी पढ़ें :  Tokoyo Olympics Live : भारतीय महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल में अर्जेंटीना से 2-1 हारी, गोल्ड की उम्मीद टूटी.

पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा, ‘जीत और हार तो जिंदगी का हिस्सा है. टोक्यो ओलंपिक 2020 में हमारी भारतीय मेंस हॉकी टीम ने अपना बेस्ट दिया. भारतीय टीम को अगले मैच के लिए और भविष्य के लिए शुभकामनाएं. भारत को अपने खिलाड़ियों पर गर्व है.’ बेल्जियम के खिलाफ तीसरे क्वार्टर तक स्कोर 2-2 की बराबरी पर था. चौथे क्वार्टर में बेल्जियम के जबर्दस्त हमले का भारतीय टीम के पास कोई जवाब नहीं था.बेल्जियम की जीत के हीरो रहे एलेक्जेंड हेंड्रिक्स, जिन्होंने इस मैच में कुल तीन गोल दागे.

 

बता दें कि भारत ने हाफ टाइम तक शानदार हॉकी खेली है और मैच में 2-2 के स्कोर के साथ बराबरी पर है. अगर भारत इस मैच को जीत जाता है तो वो 57 साल बाद फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हो जाएगा. भारत ने आखिरी बार टोक्यो में ही साल 1964 में आयोजित ओलंपिक के फाइनल में जगह बनाई थी.

यह भी पढ़ें :  Tokyo Paralympics : अवनि लेखरा ने 10 मीटर एयर राइफल के फाइनल मैच में स्वर्ण पदक जीता, पीएम मोदी ने दी बधाई.

बेल्जियम ने पहले क्वॉर्टर में इस मैच में आक्रामक शुरुआत की और दूसरे ही मिनट में पेनल्टी कॉर्नर अर्जित कर लिया. ल्यूपर्ट ने इसे गोल में तब्दील कर अपनी टीम को 1-0 से आगे कर दिया. भारत ने इसके बाद शानदार वापसी की और दो मिनट के अंदर दो गोल करके बेल्जियम पर 2-1 की बढ़त बना ली. भारत के लिए हरमनप्रीत ने 7वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर गोल कर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया और इसके बाद 8वें मिनट में मंदीप ने मनदीप सिंह ने शानदार बैकहैंड शॉट से इंडिया के लिए दूसरा गोल कर टीम को इस मैच में आगे कर दिया.

दूसरे क्वॉर्टर के बाद स्कोर 2-2 से बराबर : दूसरे क्वॉर्टर में बेल्जियम ने एक बार फिर तेजतर्रार हॉकी का प्रदर्शन करते हुए लगातार भारतीय रक्षापंक्ति पर दबाव बनाए रखा और एक के बाद एक कई पेनल्टी कॉर्नर अर्जित किए. इस क्वॉर्टर में मिले चौथे पेनल्टी कॉर्नर को 19वें मिनट में ऐलेग्जेंडर हेंडरिक्स ने गोल में तब्दील कर स्कोर 2-2 से बराबर कर दिया. भारत ने खेल के अंतिम पलों में एक और पेनल्टी कॉर्नर बनाया लेकिन भारतीय खिलाड़ी इसे गोल में बदलने से चूक गए.

यह भी पढ़ें :  Bihar Sports 2021 : बिहार के खिलाड़ियों का दुनिया ने माना लोहा, अपनी प्रतिभा से बढ़ाया देश और प्रदेश का मान.

 


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page