Tech News: ठंड से बचने के लिए जलाते हैं अंगीठी या हीटर तो हो जाएं सावधान, जरा सी चूक बन सकती है खतरनाक

उत्तर भारत में इस समय कड़ाके की ठंड पड़ रही है. कुछ हिस्सों में आने वाले कुछ दिनों तक भी जबरदस्त ठंड पड़नी जारी रहेगी. ऐसे में ठंड से बचने के लिए लोग हीटर, ब्लोअर और अंगीठी का इस्तेमाल करते हैं. खासतौर पर अंगीठी जलाकर सो जाने की हर साल मौत की घटनाएं भी सामने आती हैं. ऐसे में आज हम यहां आपको बताएंगे कि सुरक्षित रहते हुए कैसे घर को गर्म रखा जा सकता है.

अंगीठी जलाने की वजह से ऑक्सीजन की कमी, सांस की बीमारी, स्किन प्रॉब्लम, सिरदर्द, आंखों में दिक्कत और बच्चे और पालतू जानवर के जलने जैसे खतरे रहते हैं. ऐसे में हीटर, ब्लोअर या अंगीठी कुछ भी जलाएं सबसे पहले वेंटिलेशन सुनिश्चित करें. वर्ना इन तीनों से खतरा हो सकता है.

अंगीठी जलाकर सोने से क्यों मौत होती है?
दरअसल, अंगीठी जलाने के लिए कच्चे कोयले और लड़की का इस्तेमाल होता है. इससे निकलने वाली जहरीली कॉर्बन मोनोऑक्साइड गैस कमरे में मौजूद ऑक्सीजन गैस को रिप्लेस कर देती है. ऐसे में ऑक्सीजन कम होने पर व्यक्ति पहले बेहोश हो जाता है और कॉर्बन मोनोऑक्साइड गैस ज्यादा इनहेल करने पर व्यक्ति की जान चली जाती है. ये गैस जब खून में मिलता है तब हीमोग्लोबिन कम हो जाता है. ऑक्सीजन की सप्लाई भी कम होने लगती है. ऐसे में व्यक्ति की मौत हो सकती है.

अंगीठी जलाते वक्त रखें ये सावधानियां:
जिस कमरे में अंगीठी जलाई जा रही हो वहां वेंटिलेशन हो.
रातभर कमरे अंगीठी जलाकर ना सोएं.
जहां अंगीठी जल रही हो वहां एक-दो बाल्टी पानी जरूर रखें.
अंगीठी के आसपास केमिकल, प्लास्टिक प्रोडक्ट और कागज जैसी जलने वाली कोई भी चीज न रखें.
जहां अंगीठी जल रही हो वहां जमीन में ना सोएं.
बुजुर्ग या बच्चों के कमरों में अंगीठी न जलाएं.

यह भी पढ़े :  Cheap Groceries: अब ग्रॉसरी का सामान जैसे आटा चावल जैसी जरुरी चीजें मिलेंगी आधी कीमत पर! यहां से करें आर्डर

अगर किसी बंद जगह में हों जहां अंगीठी जल रही है और इससे प्रॉब्लम होने लगे तो तुंरत किसी खुली जगह पर चले जाएं. कतई ये ना सोचे कि थोड़ी देर में सबकुछ ठीक हो जाएगा.

हीटर उपयोग करते वक्त भी रखें सावधानियां:
आपको अपने रूम हीटर को कभी भी लंबे समय तक खुला नहीं छोड़ना चाहिए. कमरे से निकलने या बिस्तर पर जाने से पहले हीटर को हमेशा बंद कर अनप्लग करना याद रखें. बंद कमरों में लंबे समय तक हीटर का उपयोग खतरनाक हो सकता है क्योंकि यह कार्बन मोनोऑक्साइड दिक्कत पैदा कर सकता है. इससे सिरदर्द, चक्कर आना, मतली और कमजोरी हो सकती है.

 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए 

यहाँ क्लिक करें.

आपको बता दें कि बाज़ार में आजकल कई तरह के रूम हीटर मिलते हैं. इनमें फैन हीटर, ऑयल हीटर, गैस हीटर और इन्फ्रारेड हीटर आदि शामिल है. इनमें से ऑयल हीटर को सबसे अच्छा माना जाता है, क्योंकि इससे कमरे में नमी बरकरार रहती है. बाकी के हीटर कमरे की हवा (खासकर ऑक्सीन) को सुखा देते हैं, और इससे हमारी सेहत पर भी असर पड़ता है.