Follow Us On Goggle News

EPF KYC Update : ईपीएफ अकाउंट में KYC अपडेट कैसे करें, आसान भाषा में समझे पूरा प्रोसेस.

इस पोस्ट को शेयर करें :

EPF KYC Update : ईपीएफ से ऑनलाइन पैसा तभी निकाल सकेंगे जब आपका केवाईसी अपडेट होगा. केवाईसी अपडेट न हो तो ईपीएफ को आसानी से एक कंपनी से दूसरी कंपनी में ट्रांसफर नहीं कर सकते. केवाईसी अपडेट करें तो ईपीएफ से आपको मासिक पीएफ की जानकारी मिलेगी.

 

EPF KYC Update : इंप्लॉई प्रोविडेंट फंड खाते (EPF Account) को अपडेट रखना बहुत जरूरी है. पर्सनल जानकारी हो या नॉमिनी का नाम, यहां तक कि कॉन्टेक्ट डिटेल को भी ईपीएफ खाते में हमेशा अपडेट रखना चाहिए. आपसे जुड़ी किसी जानकारी में कोई अपडेट हुआ हो या बदलाव हुआ हो, तो उसे फौरन ईपीएफ खाते में बदल दें. मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी में कोई बदलाव हुआ हो, तो उसे कॉन्टेक्ट डिटेल (Contact detail) में जाकर तुरंत बदल दें. ऐसा नहीं करने पर भविष्य में परेशानी बढ़ सकती है. इस तरह की दिक्कत अकसर नॉमिनी का नाम दर्ज नहीं होने पर देखा जाता है. आजकल केवाईसी अपडेट (KYC Update) नहीं होने पर ट्रांजैक्शन तक रुक जाता है. ईपीएफ खाते के साथ भी यही बात है.

यह भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana : पीएम किसान निधि योजना पर बड़ी खबर ! एक मई से शुरू होगा सोशल ऑडिट, अपात्र लोगों के हटाए जाएंगे नाम.

 

केवाईसी अपडेट नहीं होने पर जहां कई सर्विस रुक सकती है, तो वहीं इसे अपडेट रखें तो कई अतिरिक्त लाभ मिलते हैं. ईपीएफ से ऑनलाइन पैसा तभी निकाल सकेंगे जब आपका केवाईसी अपडेट होगा. केवाईसी अपडेट न हो तो ईपीएफ को आसानी से एक कंपनी से दूसरी कंपनी में ट्रांसफर नहीं कर सकते. केवाईसी अपडेट करें तो ईपीएफ से आपको मासिक पीएफ की जानकारी मिलेगी. उसमें बताया जाएगा कि आपके खाते में किते पैसे जमा हुए और पूरा बैलेंस कितना है. सबसे खास बात, अगर नौकरी के 5 साल पूरे होने पर पीएफ निकालते हैं और उसमें पैन कार्ड की जानकारी अपडेट है तो 10 फीसदी टीडीएस कटेगा. पैन अपडेट नहीं है तो टीडीएस की मात्रा 30 फीसदी से अधिक हो जाएगी. आइए जान लेते हैं कि ईपीएफ खाते में केवाईसी अपडेट कैसे करना है.

 

ईपीएफ खाते में केवाईसी अपडेट कैसे करें :

  • सबसे पहले https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ पर जाएं और यूएएन, पासवर्ड डालकर लॉगिन करें
  • ‘मैनेज’ सेक्शन में जाएं और ‘KYC’ पर क्लिक करें
  • आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा जिसमें पैन, आधार, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, राशन कार्ड, वोटिंग कार्ड, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर आदि की जानकारी भरनी होगी
  • फॉर्म के साथ जो भी दस्तावेज देना चाहते हैं उसके नाम के सामने टिक लगा दें और उसका नंबर डाल दें. नाम और पता के अलावा बैंक के लिए आईएफएससी कोड और पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस के मामले में एक्सपायरी डेट लिखें
  • ये सभी जानकारी देने के बाद ‘सेव’ बटन पर क्लिक करें. इसके बाद आपकी पूरी जानकारी ‘पेंडिंग केवाईसी’ में सेव हो जाएगी
  • आपकी दी गई ये सभी जानकारी ईपीएफओ के पास जाएगी और वहीं से वेरिफिकेशन होगा
  • जैसे ही वेरिफिकेशन पूरा होगा, आपके दस्तावेज के सामने सही का निशान दिखाई देने लगेगा और केवाईसी अपडेट हो जाएगी
यह भी पढ़ें :  Sukanya Samriddhi : अच्छी खबर! आपकी बेटी को सरकार की इस स्कीम में मिलेंगे पूरे 15 लाख रुपये, जल्दी से जानिए कैसे ले सकते हैं फायदा?

केवाईसी के लिए फॉर्म में पर्सनल जानकारी देने के बाद आप कॉन्टेक्ट डिटेल्स को भी अपडेट कर सकते हैं. इस डिटेल्स में फोन नंबर और ईमेल आईडी आती है. इसमें किसी प्रकार का बदलाव हुआ हो तो उसे भी केवाईसी अपडेट के साथ बदल देना चाहिए. लगे हाथ दोनों काम हो जाएंगे. कॉन्टेक्ट डिटेल सबसे जरूरी है क्योंकि खाते से जुड़ी किसी भी एक्टिविटी में आपके फोन या मेल पर मैसेज आ जाएगा. आप उसे चेक कर निश्चिंत हो सकते हैं.

कैसे अपडेट करें कॉन्टेक्ट डिटेल :

  • यूएएन और पासवर्ड डालकर ईपीएफ अकाउंट में लॉगिन करें
  • ‘मैनेज’ सेक्शन में जाएं और ‘कॉन्टेक्ट डिटेल’ पर क्लिक करें
  • अगर मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी में कोई बदलाव हो तो ‘चेंज मोबाइल नंबर’ या ‘चेंज ईमेल आईडी’ के सामने टिक कर दें. इसके बाद ‘गेट अथॉराइजेशन पिन’ पर क्लिक करें
  • आपके मोबाइल नंबर पर एक पिन भेजा जाता है जिसे ऑथराइजेशन पिन के बक्से में दर्ज करना होता है. यह पिन डालते ही आपका मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी अपडेट हो जाएगा. हालांकि ईपीएफ खाते में यह नई जानकारी दिखने में थोड़ा समय लग सकता है

इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page