Follow Us On Goggle News

Driving License Rules : गाड़ी चलाने के लिए Licence-RC रखने की कोई जरूरत नहीं, इस ऐप से हो जाएगा सारा काम.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Driving License Rules : DigiLocker और mParivahan मोबाइल ऐप पूरे देश में मान्य है और इसमें स्टोर किए गए डॉक्यूमेंट्स की सॉफ्ट कॉपी को हार्ड कॉपी के रूप में ही स्वीकार किया जाता है.

 

Driving License Rules : अगर आप देश के किसी भी राज्य में हैं और गाड़ी चलाने के लिए सड़क पर उतर रहे हैं, तो आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस (Driving Licence) होना अनिवार्य है. एक वाहन चालक के पास सिर्फ ड्राइविंग लाइसेंस ही नहीं बल्कि अन्य सभी जरूरी डॉक्यूमेंट्स जैसे गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC), पॉल्यूशन सर्टिफिकेट (PUC Certificate) और इंश्योरेंस के पेपर्स (Insurance Certificate) होना भी अनिवार्य है.

 

यदि आपके पास इनमें से कोई भी डॉक्यूमेंट नहीं है तो आपके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है. अगर गाड़ी चलाते वक्त आपके पास ये डॉक्यूमेंट्स नहीं है तो आपको 2000 रुपये से 5000 रुपये तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है. इसलिए गाड़ी चलाते समय आपके पास ये सभी डॉक्यूमेंट्स होना बहुत जरूरी है. लेकिन आज हम आपको ऐसे मोबाइल ऐप के बारे में बताएंगे, जिसे देखते ही ट्रैफिक पुलिस सतर्क हो जाती है और लाइसेंस-RC न होने पर भी चालान नहीं काटती है.

यह भी पढ़ें :  Reliance Jio New Recharg Offer | जियो के इन प्लान में 90GB तक मिलेगा डेटा, 129 रुपये का है सबसे सस्ता प्लान.

 

ये दो मोबाइल ऐप करेंगे आपकी मदद :

दरअसल, भारत सरकार ने डिजिटल इंडिया मुहिम को ध्यान में रखते हुए सभी जरूरी डॉक्यूमेंट्स को एक जगह सेफ रखने के लिए डिजिलॉकर (DigiLocker) और एमपरिवहन (mParivahan) मोबाइल ऐप बनाया है. इन दोनों ही ऐप में आप अपना ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, पॉल्यूशन सर्टिफिकेट और इंश्योरेंस के पेपर्स अपलोड कर सकते हैं और जरूरत पड़ने पर कभी भी और कहीं भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.

बता दें कि ये मोबाइल ऐप पूरे देश में मान्य है और इसमें स्टोर किए गए डॉक्यूमेंट्स की सॉफ्ट कॉपी को हार्ड कॉपी के रूप में ही स्वीकार किया जाता है. लिहाजा, अगर आपके पास डिजिलॉकर या एमपरिवहन ऐप है और इसमें सभी जरूरी डॉक्यूमेंट्स स्टोर हैं तो आप देश के किसी भी हिस्से में बेधड़क होकर गाड़ी चला सकते हैं और पुलिस का आपका चालान भी नहीं काटेगी.

 

डिजिलॉकर और परिवहन ऐप के अन्य फायदे :

डिजिलॉकर और एमपरिवहन ऐप के और भी कई फायदे हैं. पहला फायदा तो आपने जान लिया कि अगर आप ड्राइव पर जाते समय अपने डॉक्यूमेंट्स भूल जाते हैं तो इस ऐप में रखे डॉक्यूमेंट्स की सॉफ्ट कॉपी दिखाकर जुर्माने से बच सकते हैं. दूसरा फायदा ये है कि इन ऐप की मदद से आपको अपने साथ ‘डॉक्यूमेंट्स की चलती-फिरती दुकान’ लेकर नहीं घूमना पड़ता.

यह भी पढ़ें :  YouTube channels Blocked : सरकार ने 22 यूट्यूब न्यूज चैनलों को किया ब्लॉक, राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर फैला रहे थे झूठ.

गाड़ी चलाते वक्त कम से कम 4 डॉक्यूमेंट्स की जरूरत पड़ती है. इनमें से लाइसेंस और आरसी को तो आसानी से वॉलेट में रखा जा सकता है लेकिन इंश्योरेंस और पॉल्यूशन के पेपर्स वॉलेट में नहीं रखे जा सकते क्योंकि ये ज्यादा मुड़ने की वजह से खराब हो जाते हैं.

आमतौर पर देखा जाता है कि कार चालकों को ये डॉक्यूमेंट्स रखने में कोई समस्या नहीं होती है क्योंकि वे इन सभी डॉक्यूमेंट्स को अपनी गाड़ी में रख लेते हैं. लेकिन दोपहिया चालकों के लिए एक साथ इतने सारे डॉक्यूमेंट्स लेकर चलना काफी चुनौतीपूर्ण हो जाता है. ऐसे में डिजिलॉकर और एमपरिवहन ऐप उनके लिए काफी सुविधाजनक साबित होते हैं.

 

ड्राइविंग लाइसेंस को डिजिलॉकर में कैसे ऐड करें :

डिजिलॉकर की ऑफीशियल वेबसाइट http://www.digilocker.gov.in पर जाएं और अपने फोन नंबर का इस्तेमाल करके साइन अप करें. आपको एक ओटीपी (वन-टाइम पासवर्ड) मिलेगा, जिसे एंटर करके आप अकाउंट के लिए एक यूजर नेम और पासवर्ड बना सकेंगे. आप एक एमपिन भी सेट कर सकते हैं, जो फ्यूचर में या कुछ ऐसी कंडीशन में फास्ट लॉगिन को आसान बनाता है जहां आपको अपने डाक्यूमेंट को बहुत जल्दी सोर्स करने की जरूरत होती है.

यह भी पढ़ें :  Aadhaar Seva Kendra : UIDAI देश भर में 166 आधार सेवा केंद्र खोलेगा , जानिए यहां क्या-क्या काम कराए जाते हैं.

 

  1. अपना अकाउंट बनाने के बाद, अपने आधार कार्ड को अपने डिजिलॉकर अकाउंट से लिंक करें.
  2. यहां, आप ऐप पर ‘पुल पार्टनर्स डॉक्यूमेंट’ सेक्शन को एक्सेस कर पाएंगे. इस सेक्शन में, आप अपना ड्राइविंग लाइसेंस नंबर भर सकते हैं और ऐप एप्लिकेशन को लाइसेंस देगा.
  3. ‘पुल डाक्यूमेंट’ सलेक्ट करने के बाद, आपको उस पार्टनर को चुनना होगा जिसके जरिए आप डाक्यूमेंट को सोर्स बनाना चाहते हैं, उदाहरण के लिए, इस मामले में, यह सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, सभी राज्य का विकल्प मिलता है.
  4. डाक्यूमेंट टाइप में, ड्राइविंग लाइसेंस ढूंढें और उस पर टैप करें.
  5. एक बार जब आप अपने नाम और एड्रेस सहित सभी जरूरी डिटेल भर देते हैं, तो ऐप सलेक्टेड पार्टनर से डाक्यूमेंट लेगा और उसे ऐप में स्टोर करेगा. हर एक ऐप यूजर को अपने डाक्यूमेंट्स को स्टोर करने के लिए 1 जीबी स्पेस मिलता है.
  6. सभी सरकारी डिपार्टमेंट्स को अब डिजिलॉकर के लिए मिले डाक्यूमेंट का पालन करने और किसी भी सरकारी प्रक्रिया के लिए इसका इस्तेमाल करने का निर्देश दिया गया है.

इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page