Follow Us On Goggle News

Air Conditioner: आपका 5-स्टार AC अगले महीने से हो जाएगा 4-स्टार, जानिए क्यों पड़ेगा रेटिंग पर असर

इस पोस्ट को शेयर करें :

Air Conditioner की रेटिंग अगले महीने से बदलने वाली है. ऐसे में अगर आपने इस साल 5 स्टार रेटिंग वाला AC खरीदा है तो वो अगले महीने से 4-स्टार का हो जाएगा.

 

Air Conditioner इस भयंकर गर्मी से राहत देने सबसे अच्छा उपाय है. हालांकि यह एनर्जी की भी ज्यादा खपत करता है, जिसमें पावर सेविंग को दर्शाने के लिए स्टार रेटिंग दी जाती है. यह स्टार रेटिंग 5 (5 Star AC Rating) तक पहुंचती है. लेकिन अब स्टार रेटिंग की गणित या कहें कि एबीसीडी बदलने जा रहा है. इस फैसले के बाद 1 जुलाई से आने वाला 5 स्टार एसी मौजूदा समय में आने वाले 5 स्टार एसी से ज्यादा पावर सेविंग करेगा. सीधे और साफ शब्दों में कहें तो इस महीने आने वाला 5 स्टार एसी अगले महीने से 4 स्टार एसी में कंवर्ट हो जाएगा.

 

दरअसल, विंडोज और स्प्लिट एसी के लिए 5स्टार रेटिंग्स अलग-अलग होगी. दोनों ही प्रकार के एसी डिजाइन के मद्देनजर अलग-अलग होती है और ऐसे में दोनों की रेटिंग भी अलग-अलग तरह से दी जाएंगी. ऐसी की कीमत कितनी प्रभावितः एसी पर मिलने वाले रेटिंग बदलने से यूजर्स की पॉकेट पर भी प्राभाव पड़ेगा. जहां न्यू 5 स्टार एसी बेहतर पावर सेविंग और कम पावर की खपत करेगी. वहीं एसी की कीमत में 7-10 प्रतिशत तक का इजाफा हो सकता है.

यह भी पढ़ें :  Nokia Best Flip 4G Phone : नोकिआ के इस फ़ोन ने दुनियाभर में मचाया धमाका! आ रहा हैं फ्लिप वाला 4G फोन.

5 स्टार एसी आखिर क्यों होती है महंगी

दरअसल, 5 स्टार एसी के पैरामीटर अलग गोते हैं, जिसमें एयरफ्लो, कॉपर ट्यूब का सरफेस एरिया और एफिसिएंटी कंप्रेसर को फिट किया जाता है, जो बिजली बजत करने में मदद करते हैं. ऐसे में ऐसी की कीमत और पावर सेविंग दोंनों में इजाफा होता है.

फ्रिज की भी जल्द बदलेगी रेटिंग

BEE ने कहा है कि फ्रोस्ट फ्री और डायरेक्ट कूल रेफ्रिरेजेटर की कीमत में इस साल कोई बदलाव नहीं होगा. हालांकि फ्रिज की रेटिंग में अगले साल से बदलाव हो सकते हैं, जिनकी मदद से बेहतर पावर सेविंग को अपडेट किया जाएगा.

हालांकि अब पावर सेविंग के लिए इनवर्टर तकनीक को भी एसी में शामिल कर लिया गया है, जिसका मतलब है कि कंप्रेसर के लिए लगी मोटर की स्पीड कम और ज्यादा हो सकती है. जबकि नॉन कंवर्टेबल में कंप्रेसर के लिए लगी मोटर्स की स्पीड कंट्रोल नहीं कर सकते हैं. ऐसे में नॉन इनवर्टर एसी का बिल, इनवर्टर एसी की तुलना में ज्यादा आता है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page