Follow Us On Goggle News

Rail News : पूर्व मध्य रेल के रेलवे क्वार्टरों के दिन बहुरेंगे, जर्जर क्वार्टर को तोड़कर बनाया जाएगा मल्टी स्टोरेज भवन.

इस पोस्ट को शेयर करें :

पूर्व मध्य रेल के रेलवे क्वार्टरों के दिन बहुरेंगे. पटना जंक्शन के पास करबिगहिया के जर्जर रेलवे क्वार्टर को तोड़कर पूर्व मध्य रेल मल्टी स्टोरेज अपार्टमेंट बनाएगी. जिससे आने वाले समय में रेलवे कर्मचारियों को जर्जर भवन और जलजमाव से छुटकारा मिलेगा.

बिहार में रेलवे कॉलोनी (Railway Colony) की दशा काफी दयनीय हो गयी है. कई दशक पहले बने रेलवे के सरकारी क्वार्टर पूरी तरह से जर्जर हो गए हैं. इन आवासों में मजबूरी में रेलकर्मी रह रहे हैं. पटना जंक्शन (Patna Junction) के पास करबिगहिया में बनी कॉलोनियों में जगह-जगह कूड़े के ढेर लगे हुए हैं और सालों से नालियों की सफाई नहीं हुई. जिससे गंदा पानी सड़कों पर बह रहा है और लोगों के घरों में घुस गया है. इसको लेकर रेल यूनियन ने कई बार मांग की लेकिन रेलवे के अधिकारियों द्वारा अनसुना कर दिया गया.

बता दें कि कई सालों से बारिश के मौसम में  ज्यादातर क्वार्टर (Quarter) की छतें टपकती हैं. जिससे घर में रखा सामान खराब हो जाता है. रेलवे कॉलोनी परिसर में बनी नालियों की सफाई और पानी निकलने की व्यवस्था नहीं होने से गलियों में गंदा पानी जमा रहता है. जिससे लोगों को काफी दिक्कत होती है और मजबूरी में पानी से होकर आना-जाना पड़ता है. 200 से ज्यादा रेल कर्मियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है.

यह भी पढ़ें :  Big Rail News : समस्तीपुर रेल मंडल के दरभंगा - समस्तीपुर रेल खंड पर रेल सेवा बहाल.

रेलवे कॉलोनी में 10 वर्षों से रह रही सीता देवी ने बताया कि क्वार्टर पूरी तरह से जर्जर हो गया है. बरसात के दिनों में छत से पानी रिसता है. जिससे यहां के लोग नारकीय जीवन जीने के लिए मजबूर हैं. नाली की साफ-सफाई तक नहीं होती. जिससे सड़कों पर पानी जमा हो जाता है और लोगों को आने-जाने में काफी परेशानी होती है. वहीं, रेलवे क्वार्टर में रहने वाली प्रियंका कुमारी ने बताया कि नाली का पानी सड़कों पर बह रहा है. जिससे स्कूल जाने में दिक्कत होती है. कभी-कभी सफाई होती है जिससे यहां गंदगी फैली है.

Railway quarters will become multi storage

रेलवे यूनियन की मांगों पर अब सहमति बन गयी है और पूर्व मध्य रेल के पटना और दानापुर की लोको कॉलोनी के दिन जल्द बहुरने वाले हैं. जर्जर हो चुके रेलवे क्वार्टर्स को तोड़कर करीब एक चौथाई जमीन पर रेल कर्मियों के लिए मल्टी स्टोरेज अपार्टमेंट बनेगा. बची हुई जमीन पर मल्टी स्टोरेज अपार्टमेंट बनाकर 99 साल के लिए लीज पर निजी लोगों को दिया जाएगा. पूर्व मध्य रेल के पटना के करबिगहिया और दानापुर के बाद समस्तीपुर, सहरसा, दरभंगा, मुजफ्फरपुर और धनबाद में भी जर्जर रेलवे क्वार्टर्स के दिन बहुरेंगे.

यह भी पढ़ें :  Railway Dress Code : ड्यूटी के दौरान वर्दी में नहीं दिखे रेलकर्मी तो होगी कार्रवाई, जानें किन रेलकर्मियों को मिलता है यूनिफॉर्म अलाउंस.

पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि रेल भूमि विकास प्राधिकरण को कार्य सौंपा गया है. सर्वे रिपोर्ट आ गयी है और एमओयू साइन हो गया है. मल्टी स्टोरेज अपार्टमेंट बनने के बाद 99 साल के लिए निजी लोगों को लीज पर भी दिया जाएगा. 3 साल तक रेल कर्मियों के आवास का मुफ्त मेंटेनेंस होगा और निजी लोगों के आवासों का मेंटेनेंस सोसाइटी करेगी. पटना के करबिगहिया साइड में बने लोको कॉलोनी में लगभग 50 से ज्यादा क्वार्टर के निर्माण की टेंडर प्रक्रिया पूरी हो गयी है. कंपनी को रेलवे सिर्फ अपनी जमीन देगी. अभी लागत की राशि क्लियर नही हुई है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page