Follow Us On Goggle News

Rail News : ‘एक स्टेशन, एक उत्पाद’ के तहत पटना स्टेशन पर लगे मधुबनी पेंटिंग्स के स्टॉल, अब प्लेटफॉर्म पर मिलेंगी ये सभी चीजें.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Rail News : पटना रेलवे स्टेशन पर मधुबनी पेंटिंग और इससे जुड़े सामानों की प्रदर्शनी और बिक्री 25 मार्च, 2022 से 15 दिनों के लिए चलाया जाएगा.

Rail News :  बजट 2022-23 में ‘एक स्टेशन, एक उत्पाद’ से संबंधित की गई घोषणा के अनुरूप स्थानीय कारीगरों, शिल्पकारों, कुम्हारों, बुनकरों एवं जन-जातियों के बेहतर जीवन और कल्याण के लिए रेलवे स्टेशनों (Railway Station) के प्लेटफॉर्म पर स्थानीय उत्पादों की मार्केटिंग के लिए निर्धारित स्थान पर ‘स्टॉल‘ उपलब्ध कराया जा रहा है. इसी कड़ी में आत्मनिर्भर भारत (Atmanirbhar Bharat) अभियान के तहत स्थानीय हस्तशिल्प और उद्योगों को बढ़ावा देने की पहल के तहत स्थानीय उत्पादों जैसे कि खाद्य पदार्थ, हस्त शिल्प उत्पाद, कलाकृतियां, हथकरघा आदि क्षेत्र विशेष के अनुसार रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर प्रदर्शनी और बिक्री किया जाएगा. यह स्थानीय लोगों के लिए स्वरोजगार का एक नया अवसर भी पैदा करेगा. इसका उद्देश्य रेलवे परिसर का उपयोग कर स्थानीय उत्पादों की सप्लाई चेन को बढ़ावा देना है.

यह भी पढ़ें :  Bihar Band Today : सड़क पर उतरे छात्र संगठन.. कई जगहों पर की आगजनी.. यातायात ठप.

पूर्व मध्य रेल ने पटना रेलवे स्टेशन का किया चयन :

इसी क्रम में, रेलवे बोर्ड द्वारा पायलट प्रोजेक्ट के तहत सभी क्षेत्रीय रेलों के एक या दो स्टेशनों पर इसे शुरू करने का निर्णय लिया गया है. पूर्व मध्य रेल पर ‘एक स्टेशन, एक उत्पाद‘ योजना को शुरू करने के लिए पायलट प्रोजेक्ट के रूप में पटना जंक्शन का चयन किया गया है. पटना जंक्शन पर मधुबनी पेंटिंग और इसके उत्पाद की प्रदर्शनी और बिक्री केंद्र 25 मार्च, 2022 से 15 दिनों के लिए चलाया जाएगा.

रेलवे स्टेशन पर मिलेंगे ये सभी उत्पाद :

‘एक स्टेशन, एक उत्पाद‘ के अन्तर्गत पटना जंक्शन के प्लेटफार्म नंबप 1 पर मधुबनी पेंटिंग और इससे संबंधित उत्पादों जैसे हैंड पेंटेड सिल्क और कॉटन की साड़ियां, दुपट्टा, फाइल फोल्डर, बैग, पर्स, मोबाईल कवर, पेन होल्डर, वॉल पेंटिंग, हैंगिंग लैंप, टेबल लैंप, मास्क, कुर्ता, जैकेट, बनियान, की-रिंग होल्डर, टी ग्लास, नोट पैड बॉक्स, नोट बुक, बेड कवर सहित अन्य चीजों के प्रदर्शनी और बिक्री के लिए एक संस्था को स्टॉल लगाने के लिए स्थान उपलब्ध कराया जा रहा है, जहां आने-जाने वाले यात्रियों की पहुंच आसान हो. रेलवे स्टेशन पर इसका स्टॉल लगाए जाने से यहां के हस्तशिल्पियों का उत्साहवर्धन तो होगा ही इसके साथ ही उत्पादों को एक बेहतर बाजार भी मिलेगा.

यह भी पढ़ें :  Railway Recruitment 2022: 10 वीं पास के लिए भारतीय रेल में शानदार मौका, रेलवे स्टेशन पर बुकिंग क्लर्क की निकली भर्ती.

दुनियाभर के यात्रियों को आकर्षित कर रही है मधुबनी पेंटिंग :

विश्व प्रसिद्ध पारंपरिक कला, मधुबनी शैली की चित्रकारी ‘मधुबनी पेंटिंग‘ स्थानीय लोगों के साथ-साथ दुनिया भर के यात्रियों को आकर्षित कर रही है. इसके पहले भी पूर्व मध्य रेल द्वारा ट्रेनों और स्टेशनों पर मधुबनी पेंटिंग का प्रयोग कर इस कला को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाई गई है. पूर्व मध्य रेल के लिए यह गौरव की बात है कि मधुबनी पेंटिंग से युक्त सामग्रियों को एक लोकप्रिय कला शैली के एक आदर्श प्रतिबिंब के रूप में देखा जा रहा है, जिसका सीधा लाभ स्थानीय कलाकारों को नई पहचान एवं उनके उत्पादों को नए बाजार उपलब्ध कराने में मील का पत्थर साबित होगा.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page