Follow Us On Goggle News

Indian Railway Train News : चलती ट्रेन में नहीं खुलेंगे दरवाजे, सिग्नल होते ही हो जाएंगे बंद.

इस पोस्ट को शेयर करें :

रेलवे लगातार यात्रियों की सुविधाओं को देखते हुए व्यवस्थाओं में बदलाव कर रहा है। इसी कड़ी में रेलवे ने मुंबई रतलाम दिल्ली मुंबई राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन में तेजस श्रेणी के डिब्बे जुड़ने के बाद बड़ा बदलाव किया है। अब इस ट्रेन के प्लेटफॉर्म पर रुकते ही अपने आप ट्रेन के डिब्बों के दरवाजे खुलते हैं और सिग्नल होते ही दरवाजे अपने आप बंद हो जाते हैं। Indian Railway Train News

 

इससे बड़ा लाभ यह है कि जब तक दरवाजे नहीं खुले, कोई अपराध की नियत से न तो ट्रेन में आ सकता है नहीं चलती ट्रेन या ट्रेन के धीमे होने पर उतरकर जा सकता है। रेलवे यात्री सुविधा के लिए आए दिन कई तरह के निर्णय ले रहा है। इन निर्णय के अंतर्गत ही रेलवे ने 2017 में निर्णय लिया था कि सबसे पहले मुंबई रतलाम नई दिल्ली मुंबई राजधानी ट्रेन में तेजस ट्रेन के डिब्बे लगाए जाएं। हालांकि इस लिए गए निर्णय को अमलीजामा पहनाने में चार साल लग गए। इस निर्णय को अब यात्री भी पसंद कर रहे हैं। Indian Railway Train News

यह भी पढ़ें :  Rail News : रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी ! पटना जंक्शन पर रिटायरिंग रूम की सुविधा शुरू, जानें रेट और बुकिंग पॉइंट.

 

 

बदलाव से बड़ा फायदा : 

लिफ्ट की तरह ट्रेन के दरवाजों के खुलने और बंद होने का सबसे बड़ा लाभ यह है कि पूर्व के वर्षो में राजधानी ट्रेन में चोरी से लेकर लूट तक की वारदाते हुई हैं। अब नई व्यवस्था में ट्रेन के दरवाजे सिर्फ तब खुलेंगे जब ट्रेन किसी स्टेशन पर पहुंचेगी ऐसे में अपराधों पर नियंत्रण लगेगा। इसके अलावा आपात हालात में ट्रेन के दरवाजे खोलने का अधिकार विशेष बटन से गार्ड व इंजन के चालक को रहेगा। इसके अलावा दरवाजे के करीब खड़े रहने के दौरान कई बार यात्री तेज गति की ट्रेन से गिर जाता है व दुर्घटना से लेकर मृत्यु तक होती रही है। दरवाजे बंद रहने से इस प्रकार की दुर्घटना पर रोक लग जाएगी। Indian Railway Train News

 

धुआं होते ही सूचना : 

तेजस श्रेणी के इन डिब्बों में सबसे बड़ा लाभ यह है कि आग लगने या धुआ निकलने ही अरली फायर डिटेक्शन वार्निंग सिस्टम काम करना शुरू कर देगा। ट्रेन के पॉवर कार, पैंट्री कार, विशेष सेवाओं के लोकोमोटिव को भी हाई-प्रेशर, वॉटर-मिस्ट फायर सप्रेशन सिस्टम से लैस किया गया है। ताकि आग लगने की स्थिति में महंगे उपकरणों को बचाया जा सके। आग लगने से जुड़ी सूचना के पूर्व में ही मिल जाने पर अफरा-तफरी का माहौल टाला जा सकेगा। रतलाम रेल मंडल के प्रवक्ता खेमराज मीणा ने बताया कि राजधानी व अगस्त क्रांति ट्रेन के डिब्बों को तेजस श्रेणी के डिब्बों से चलाना शुरू किया है। इससे बड़ा लाभ यह है कि अपराध होने की संभावना न्यूनतम हो गई है। Indian Railway Train News


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page