Follow Us On Goggle News

Big Rail News : दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड पर लगातार तीसरे दिन भी रेल परिचालन रहा स्थगित, 16 ट्रेनें रद्द.

इस पोस्ट को शेयर करें :

दरभंगा में बाढ़ के कारण दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड पर दिन-प्रतिदिन पानी बढ़ता जा रहा है. जिसके कारण कई ट्रेनों का परिचालन रद्द कर दिया गया है.

नेपाल की तराई में हो रही भारी बारिश की वजह से दरभंगा (Darbhanga) से होकर बहने वाली नदियां उफान पर हैं. इसकी वजह से एक बार फिर बाढ़ ने कई प्रखंडों को अपनी चपेट में ले लिया है. जिससे रेल परिचालन भी प्रभावित हुआ है. दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड (Darbhanga-Samastipur Railway Line) पर बागमती नदी का पानी हायाघाट और थलवारा स्टेशनों के बीच बने पुराने पुल पर खतरनाक स्थिति में पहुंच गया है. यह पानी लगातार बढ़ता ही जा रहा है.

पुल पर पानी बढ़ने के कारण पूर्व मध्य रेल (East Central Railway) ने 31 अगस्त से ट्रेनों का परिचालन बंद (Train Operation Stopped) कर दिया है. अब लगातार तीसरे दिन इस रेलखंड पर ट्रेनें नहीं चल रही हैं. इस इलाके की बड़ी आबादी के लिए ट्रेन ही आवागमन का एकमात्र सहारा है. अब इसके भी बंद हो जाने की वजह से लोगों को जिला मुख्यालय दरभंगा की 7 किलोमीटर की दूरी 30 किलोमीटर पैदल तय करनी पड़ रही है. यदि कोई बीमार जाता है, तो पैदल चलकर सड़क तक पहुंचना पड़ता है.

यह भी पढ़ें :  Bihar Flood : बाढ़ से बेहाल बिहार, घरों में घुसा गंगा के बाढ़ का पानी, सांप-बिच्छू के कारण जीना हुआ मुश्किल.

रेलवे ट्रैक पर पानी अब भी बढ़ रहा है. इसकी वजह से ये कहना मुश्किल हो रहा है कि ट्रेनों का परिचालन दोबारा कब शुरू किया जाएगा. वहीं, स्थानीय चौकीदार रामबली पासवान ने कहा कि इस रेल रूट पर ट्रेनों पर ही लोग छोटा-मोटा व्यवसाय या मजदूरी करने जाते थे. अब इसके बंद हो जाने की वजह से लोगों की रोजी-रोटी मर गई है.

चौकीदार ने कहा कि पहले से ही कोरोना के कारण रोजी-रोजगार की स्थिति खराब है. वहीं, अब ट्रेन के बंद हो जाने से सब कुछ ठप पड़ गया है. उन्होंने कहा कि पानी लगातार बढ़ रहा है. ऐसे में ट्रेन फिर से कब शुरू होगी, इसका कोई ठिकाना नहीं है. तब तक स्थानीय लोगों को ऐसे ही कठिनाईयों का सामना करना पड़ेगा.

 

दरभंगा रेलवे स्टेशन के डायरेक्टर पुष्कर कुमार कहते हैं कि –  ‘दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड पर हायाघाट और थलवारा बीच सिंगल लाइन पर बने पुल संख्या-16 पर पानी खतरनाक स्थिति में पहुंच गया है. इस रेलखंड के अप और डाउन रेल लाइन पर परिचालन स्थगित कर दिया गया है. दरभंगा से होकर समस्तीपुर होते हुए भागलपुर और पटना जाने वाली पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है. साथ ही लंबी दूरी की एक्सप्रेस ट्रेनों को सीतामढ़ी मुजफ्फरपुर होते हुए चलाया जा रहा है. कई ट्रेनों को सीमित कर दिया गया है. रेलवे हर पल स्थिति पर नजर रख रहा है और स्थिति सामान्य होने पर ट्रेनों का परिचालन बहाल कर दिया जाएगा.’

यह भी पढ़ें :  Big Rail News : पूर्व मध्य रेलवे ने कोहरे के कारण 6 ट्रेनों का परिचालन किया रद्द, देखें सूची

बता दें कि इस वर्ष 2021 में अब तक के आंकड़ों के अनुसार बिहार में बाढ़ से लगभग 16 जिले प्रभावित हुए हैं. इसके साथ ही करोड़ों की आबादी समस्याओं का दंश झेल रही हैं. उत्तर बिहार में 76% आबादी बाढ़ के खतरे में रहती है. देश में बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का 16.5% बिहार में है. उत्तर बिहार के जिले में मॉनसून के दौरान कम से कम पांच प्रमुख नदियों महानंदा, कोसी, बागमती, बूढ़ी गंडक और गंडक लगभग हर साल बाढ़ लाती हैं. इसके अलावा दक्षिण बिहार भी पुनपुन और फल्गु नदी से बाढ़ की चपेट में आ जाता है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page