Follow Us On Goggle News

Bihar Politics : बिहार में सत्ता परिवर्तन की आहट ! CM नीतीश कुमार के इस बयान से तेज हुई अटकलें.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Bihar Politics : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में राज्यसभा जाने की इच्छा व्यक्त की है. इन सब से अटकलों का बाजार गर्म है कि क्या नीतीश दिल्ली जाएंगे और बिहार में बीजेपी का मुख्यमंत्री बनेगा?

 

Bihar Politics : क्या नीतीश कुमार (Nitish Kumar) बिहार के मुख्यमंत्री का पद छोड़ दिल्ली जाना चाहते हैं? राज्यसभा का सदस्य बनना चाहते हैं? हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि आज बिहार विधानसभा में अपने चेंबर में सीएम ने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में जो भी कहा उससे यही झलक रहा है. दरअसल, नीतीश विधायक, लोकसभा सांसद, केंद्र सरकार में मंत्री, बिहार विधान परिषद के सदस्य रह चुके हैं. अभी भी एमएलसी हैं. ऐसे में उन्हें लगता है कि उनको अगर एक बार राज्यसभा की सदस्यता मिल जाए तो उनका सियासी जीवन पूरा हो जाएगा.

 

लोकसभा चुनाव लड़ने को लेकर कही ये बात :

पत्रकारों ने जब उनसे पूछा कि आप अपने पुराने संसदीय क्षेत्र नालंदा का दौरा कर रहे हैं. पुराने संसदीय क्षेत्र बाढ़ को जिला बनाने की बात किए हैं. वहां से कई बार सांसद रह चुके तो क्या फिर से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे? इस पर उन्होंने कहा कि यह मेरा बिल्कुल निजी दौरा है. दो सालों तक कोरोना काल के कारण मैं नहीं जा पाया था. इसलिए वहां जा रहा हूं. लोगों से मिल रहा हूं. समस्याएं सुन रहा हूं. लोकसभा चुनाव लड़ने का इरादा नहीं है.

यह भी पढ़ें :  Bihar Politics : लालू यादव की अध्यक्षता में राजद के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरू, तेजस्वी यादव समेत कई बड़े नेता हैं मौजूद.

 

इस दौरान नीतीश ने कहा कि अब तक वह राज्यसभा के सदस्य नहीं बने हैं. बता दें उनकी इस बात से ऐसा प्रतीत होता है कि राज्यसभा जाना चाहते हैं. साथ में नीतीश ने यह भी कहा कि वह फिलहाल बिहार की सेवा कर रहे हैं. यहां की जिम्मेदारी उनके पास है. लेकिन नीतीश ने राज्यसभा वाली जो बात कही इसके बाद से सियासी गलियारों में अटकलें लगने लगी हैं कि क्या नीतीश सच में बिहार की बागडोर दूसरे को सौंप राज्यसभा जाना चाहते हैं. नीतीश के उप राष्ट्रपति बनने की चर्चा भी जोरों पर है. चर्चा है कि बीजेपी अगर उनको उपराष्ट्रपति बनाने का ऑफर देगी तो उनके राज्यसभा जाने का रास्ता भी साफ हो जाएगा. वे राज्यसभा के सभापति बन जाएंगे.

 

समझिए बिहार का राजनीतिक समीकरण :

वैसे भी बिहार के पॉलिटिकल कॉरिडोर में चर्चा है कि बिहार में बीजेपी अपना मुख्यमंत्री बनाना चाहती है. वीआईपी के तीन विधायक बीजेपी में शामिल हो गए हैं. बिहार विधानसभा में 77 विधायकों के साथ बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बन गई है. बिहार से बीजेपी विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल ने दावा किया है कि कांग्रेस के 19 में से 13 विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं, जो जल्द बीजेपी का दामन थामेंगे.

यह भी पढ़ें :  Bihar Politics : कांग्रेस के साथ गठजोड़ पर लालू ने साधी चुप्पी, पत्रकारों से कहा- '..आप लोग लड़ाई मत लगाइए'.

 

बिहार में बीजेपी अपने विधायकों की संख्या को बढ़ा रही है. ऐसे में सवाल उठने लगा है कि क्या मुख्यमंत्री के पद पर उसकी नजर है? वहीं, इन अटकलों को हवा बीजेपी विधायक विनय बिहारी ने दे दी है. बीजेपी विधायक विनय बिहारी ने कहा है कि बिहार में नीतीश को सीएम पद से हटा देना चाहिए. उन्होंने कहा कि बिहार में भाजपा का मुख्यमंत्री होना चाहिए. ऐसे में कयास लगने लगा है कि क्या बीजेपी नीतीश को उपराष्ट्रपति बनाने का ऑफर देकर बिहार में अपना मुख्यमंत्री बनाना चाहती है?

 

वहीं, नीतीश ने भी आज पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में राज्यसभा जाने की इच्छा व्यक्त की है. इन सब से अटकलों का बाजार गर्म है कि क्या नीतीश दिल्ली जाएंगे और बिहार में बीजेपी का मुख्यमंत्री बनेगा? सियासत संभावनाओं का खेल है और नीतीश अपने चौंकाने वाले निर्णय के लिए ही जाने जाते हैं. ऐसे में समय ही बताएगा कि क्या होगा. 


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page