Follow Us On Goggle News

Bihar News : रामविलास को श्रद्धांजलि देकर बोले लालू, – ‘चिराग की हरसंभव करूंगा मदद, मेरा परिवार मजबूती से साथ खड़ा रहेगा’.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Bihar News: राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने कहा है कि वह चिराग पासवान की हर संभव मदद करेंगे. उनका पूरा आशीर्वाद चिराग के साथ है. उनका पूरा परिवार चिराग के साथ मजबूती से खड़ा रहेगा.

Bihar News : राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) ने शुक्रवार को कहा कि मैं चिराग पासवान की हर संभव मदद करूंगा. मेरा परिवार हमेशा चिराग के साथ मजबूती से खड़ा रहेगा. लालू यादव ने ये बातें रामविलास को श्रद्धांजलि (Ram Vilas Paswan Death Anniversary) देने के बाद कहीं.

स्वर्गीय रामविलास पासवान की पहली पुण्यतिथि के अवसर पर उनके पुत्र और लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने अपने आवास 12 जनपथ पर श्रद्धांजलि सभा कार्यक्रम का आयोजन किया. लालू यादव कार्यक्रम में शामिल हुए और रामविलास को श्रद्धा सुमन अर्पित किया.

“रामविलास गरीबों, वंचितों और दबे- कुचले वर्ग के लोगों के मसीहा थे. कमजोर वर्ग के लोगों की उन्होंने हमेशा मदद की. उनके निधन से मुझे बहुत झटका लगा था. वह हमारे बहुत अच्छे मित्र थे. उनकी कमी बहुत महसूस हो रही है. उनके जो भी अधूरे सपने हैं. अब उसको उनके पुत्र चिराग पासवान पूरा करेंगे. मेरा आशीर्वाद चिराग के साथ है. मैं चिराग पासवान का हर संभव मदद करूंगा. मैं और मेरा परिवार चिराग के साथ मजबूती से खड़ा रहेगा.”- लालू यादव, राजद प्रमुख

यह भी पढ़ें :  Bihar Politics: पत्रकार के इस सवाल पर हंस पड़े मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, कहा- ये सब बात सुनकर आ जाती है हंसी.

राहुल गांधी ने दिल्ली में रामविलास पासवान को दी श्रद्धांजलि : दिल्ली में चिराग पासवान द्वारा रामविलास पासवान की पहली पुण्यतिथि (Ram Vilas Paswan Death Anniversary) को लेकर कार्यक्रम आयोजित किया गया है. इस श्रद्धांजलि सभा में कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पहुंचे. राहुल गांधी ने रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि दी. बता दें कि चिराग पासवान ने श्रद्धांजलि सभा में राहुल गांधी को भी आमंत्रित किया था.

rahul-gandhi

बता दें कि पिछले साल 8 अक्टूबर 2020 को 74 साल की उम्र में रामविलास पासवान का निधन हुआ था. वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे. रामविलास के निधन के बाद लोजपा में टूट हो गई थी. चिराग के चाचा और सांसद पशुपति पारस के साथ 5 सांसद पार्टी से अलग हो गए थे. पार्टी 2 खेमों में बंट गई है. चुनाव आयोग ने पार्टी का चुनाव चिन्ह बंगला जब्त कर लिया है.

लोजपा के संस्थापक स्वर्गीय रामविलास पासवान की पहली पुण्यतिथि पर केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस द्वारा पटना स्थित लोजपा कार्यालय में श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) इस मौके पर पहुंचे और रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि दी.

बता दें कि 12 सितंबर को सांसद चिराग पासवान ने रामविलास पासवान की पहली बरखी मनायी थी. इस कार्यक्रम में पशुपति पारस के साथ बिहार बीजेपी के कई नेता, विधायक और मंत्री शामिल हुए थे. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और राज्यपाल फागू चौहान भी कार्यक्रम में शामिल हुए थे, लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नहीं आए थे.

यह भी पढ़ें :  RJD Crisis : तेजप्रताप IN या OUT! तेजस्वी से लेकर तमाम नेता जवाब देने से क्यों काट रहे कन्नी?

गौरतलब है कि चिराग पासवान और पशुपति पारस के बीच सियासी खींचतान जारी है. 5 अक्टूबर को चुनाव आयोग ने एलजेपी के दोनों गुटों को अलग-अलग नाम और अलग-अलग चुनाव चिह्न आवंटित कर दिए थे. चिराग पासवान गुट की पार्टी ‘लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास)’ को हेलीकॉप्टर चुनाव चिह्न दिया गया है. जबति पशुपति पारस गुट की पार्टी ‘राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी’ को सिलाई मशीन चुनाव चिह्न आवंटित किया गया है.

वहीं लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने अपने पिता की पहली पुण्यतिथि (Ram Vilas Paswan death anniversary) पर एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) और अपने चाचा पशुपति कुमार पारस पर निशाना साधा है. चिराग ने कहा कि बिहार की जनता नीतीश कुमार से नफरत करती है.

रामविलास पासवान की पुण्यतिथि के मौके पर भी बयानबाजी का दौर जारी है. चिराग पासवान और पशुपति पारस के पक्ष और विपक्ष में कई बयान सुनने को मिल रहे हैं. रामविलास पासवान का ‘असली वारिस कौन’ के सवाल का जबाव भी अलग अलग सामने आ रहा है. कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि पुण्यतिथि के मौके पर रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि देने के साथ ही राजनीति भी खूब हो रही है.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page