Earthquake : लखनऊ में भूकंप के बाद गिरी पांच मंजिला इमारत! अब तक 12 लोग मलबे से निकाले गए, बिल्डर हिरासत में.

Earthquake in Lucknow : यूपी की राजधानी लखनऊ में मंगलवार को बड़ा हादसा हो गया. यहां वजीर हसन रोड पर पांच मंजिला इमारत भर – भराकर गिर गई. मलबे से 12 लोगों को सुरक्षित निकाला गया है. साथ ही 30 से 35 लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है. घटनास्थल पर पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीमें मौजूद हैं.

Building Collapse after Earthquake : यूपी की राजधानी लखनऊ में मंगलवार की शाम बड़ा हादसा हो गया. वजीर हसन रोड पर पांच मंजिला इमारत भरभराकर गिर गई. मलबे में 30 से 35 लोगों के दबे होने की आशंका है.जबकि 11 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. हादसे की सूचना पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम को दी गई. इसके साथ ही डिप्टी सीएम बृजेश पाठक भी मौके पर पहुंच गए हैं. बताया जा रहा है कि ये हादसा भूकंप की वजह से हुआ है. दरअसल, आज दिन नेपाल से लेकर भारत तक भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. इस प्राकृतिक आपदा के कुछ घंटे बाद ही लखनऊ में ये हादसा हो गया.

आजतक से बात करते हुए डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने बताया कि 12 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. फिलहाल कोई हताहत नहीं हुआ है. इमारत अचानक से भरभराकर गिर गई थी. मौके पर NDRF, पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीमें हैं. हम कोशिश कर रहे हैं कि लोगों को सुरक्षित बचा लिया जाए.

वहीं एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने हादसे का संज्ञान लिया और मौके पर NDRF और SDRF की टीमें भेजने के निर्देश दिए. सीएम योगी ने जिला प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि घायलों को बेहतर इलाज के इंतजाम किए जाएं, साथ ही कहा कि वह घायलों को तुरंत अस्पताल पहुंचाने की व्यवस्था करें. सीएम ने कई अस्पतालों को भी अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं.

यह भी पढ़े :  Bihar Poisonous liquor scandal : सिवान में मरने वालों की संख्या हुई 8, अस्पताल में भर्ती युवक की मां ने कहा -'बेटे ने 50 रुपये में शराब खरीदकर पी थी'.

 

 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए 

यहाँ क्लिक करें.

45 जवानों की टीम रेस्क्यू में जुटी :

आधिकारिक बयान में कहा गया है कि सीएम ने घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना की है. साथ ही जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमों को राहत कार्य करने के निर्देश दिए हैं. साथ ही कई अस्पतालों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं. मौके पर NDRF की अतिरिक्त टीम भी पहुंच गई है, इसमें 45 जवान राहत और बचाव कार्य में जुटे हुए हैं.

सपा नेता का परिवार भी इसी बिल्डिंग में रहता था :

डिप्टी सीएम बृजेश पाठक के बाद नगर विकास मंत्री AK शर्मा, सीएम योगी के सूचना सलाहकार अवनीश अवस्थी के साथ ही प्रमुख सचिव गृह संजय प्रसाद भी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं. पांच मंजिला इमारत में करीब 15 परिवार रहते थे. बताया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता और नेता शाहिद मंजूर का परिवार भी इसी बिल्डिंग में रहता था. जब इमारत गिरी तो सपा नेता अब्बास हैदर के पिता और कांग्रेस नेता अमीर हैदर और उनकी पत्नी भी बिल्डिंग में मौजूद थे. इसके साथ ही बग़ल की बिल्डिंग में भी दरार आई है.

बिल्डिंग में 30 से 35 लोगों के फंसे होने की आशंका :

डीजीपी डीएस चौहान ने कहा कि जिस समय बिल्डिंग गिरी उस समय 8 परिवार बिल्डिंग के अंदर थे. 5 लोग सकुशल निकाल लिए हैं. लगभग 30-35 लोगों के अंदर होने की संभावना है. रेस्क्यू ऑपरेशन युद्ध स्तर पर जारी है.

‘रेस्क्यू पर हमारा पूरा फोकस’ :

पुलिस अधिकारी ने बताया कि अभी तक जो भी हालात बन रहे हैं, उससे यही लग रहा है कि ये हादसा भूकंप की वजह से हुआ है. उन्होंने कहा कि हमारा पूरा फोकस रेस्क्यू की तरफ है. लोगों को बचाना हमारी प्राथमिकता है. बाकी कार्रवाई बाद में की जाएगी.