Bihar News : बिहार में फिर जहरीली शराबकांड? सीवान में संदिग्ध हालत में 2 की मौत, 6 की हालत गंभीर

Poisonous liquor case in Bihar : सीवान जिले के लकड़ी नबीगंज इलाके में संदिग्ध हालात में दो लोगों की मौत हो गई. जबकि 6 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है. वहीं परिजनों का कहना है कि जहरीली शराब पीने से दोनों की मौत हुई है.

Bihar poisonous liquor case : बिहार के सीवान में दो लोगों की संदिग्ध परिस्थितियों में रविवार की रात में मौत हो गई। जबकि 6 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। वहीं परिजनों का कहना है कि जहरीली शराब पीने से दोनों की मौत हुई है। घटना जिले के लकड़ी नबीगंज थाने के बाला गांव की बतायी गई है। एक मृतक की पहचान जनकदेव रावत के रूप में की गई है, जबकि दूसरे की पहचान नहीं हो पाई है। वहीं अन्य छह लोग अभी भी बीमार हैं, जिनको प्राथमिक उपचार के लिए बसंतपुर के पीएचसी में भेजा गया है।

जहरीली शराब से हुई मौत-परिजन :

मृतकों के परिजनों ने आरोप लगाया है कि जहरीली शराब पीने के कारण ही इनकी तबीयत खराब हुई, इसके बाद मौत हो गई। बताया गया है कि बाला गांव में ही शराब पीने के बाद इनकी तबीयत बिगड़ी है। चार बीमार व्यक्ति का का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। वहीं, डीएम अमित कुमार पांडेय ने बताया कि संदिग्ध हालत में एक की मौत की सूचना मिली है, इसके बाद शव को बरामद कर सदर अस्पताल में पोस्ट मार्टम कराया जा रहा है। वहीं अन्य बीमार लोगों को सदर अस्पताल में लाकर इलाज कराने के लिए प्रशासन और पुलिस की टीम लगतार जुटी हुई है।

यह भी पढ़े :  Bihar News : बिहार में जारी रहेगी जातीय जनगणना ! याचिकाओं पर विचार करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, CM नीतीश बोले- 'सुप्रीम कोर्ट ने हमारे पक्ष में फैसला दिया है'.

पोस्टमार्टम से साफ होगी मौत की वजह-डीएम :

डीएम अमित कुमार के मुताबिक मौत शराब पीने से हुई है या अन्य कारणों से इनकी मौत हुई है , यह पोस्टमार्टम के बाद ही साफ हो पाएगा। प्रशासन की टीम को पूरी तरह से अलर्ट कर दिया गया है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लकड़ी नबीगंज ओर बसंतपुर पीएचसी को भी कोई बीमार आता है तो उसकी चिकित्सा करने को कहा गया है। अगर हालत बिगड़ी है तो उसको सदर अस्पताल में रेफर करने को भी कह दिया गया है। पूरी रह से नजर रखी जा रही है। सभी बीमार लोगों का पता लगाकर इलाज में जाने के लिए कहा जा रहा है।

 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए 

यहाँ क्लिक करें.

सारण में जहरीली शराब से 77 लोगों की हुई थी मौत :

बता दें कि इससे पहले बिहार के ही सारण में 77 लोगों जहरीली शराब पीने से मौत हो गई थी। जिसे होमियोपैथिक दवा और केमिकल से तैयार किया गया था। इसी होमियोपैथिक दवा के नाम पर स्प्रिट सप्लाई चेन के माध्यम से शराब बिकवायी गयी थी। सारण पुलिस ने जहरीली शराब कांड का खुलासा किया था। इस मामले में शराब बनाने वाले बेचवाने के मास्टर माइंड राजेश सिंह उर्फ डॉक्टर समेत पांच लोगों को एसआईटी ने गिरफ्तार भी किया था। लेकिन एक बार फिर जहरीली शराब से मौत की खबर ने शराबबंदी की पोल खोल दी है।