IPS Vikas Vaibhav : आईपीएस विकास वैभव का छलका दर्द, बोले – ‘अनावश्यक ही डीजी मैडम के मुख से गालियां सुन रहा हूं.. मन द्रवित है’.

IPS Vikas Vaibhav : बिहार के तेजतर्रार आईपीएस ऑफिसर विकास वैभव इन दिनों परेशान चल रहे हैं. उन्होंने अपनी परेशानी और दर्द को सोशल मीडिया पर साझा किया है. उन्होंने ट्वीट कर अपनी सीनियर पर बेहद गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि होमगार्ड डीजी मैडम से मुझे रोज गालियां (Bihar IPS Gets Abuse From Home Guard DG) सुननी पड़ रही है.

IPS Vikas Vaibhav : अपनी कुशलता और कामयाबी से सुर्खियां बटोरने वाले आईपीएस विकास वैभव (IPS Vikas Vaibhav) ने होमगार्ड डीजी शोभा अहोतकर पर गाली-गलौज करने का आरोप लगाया है. आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर अपना दर्द साझा करते हुए उन्होंने बताया कि किस तरह से बेहतर काम करने के बाद भी उन्हें मानसिक प्रताड़ना का सामना करना पड़ता है. उनके ट्वीट के मुताबिक वह इन दिनों डीजी मैडम से काफी परेशान हैं. हालांकि पोस्ट करने के तुरंत बाद उन्होंने उसे डिलीट कर दिया है.

 

बिहार के आईपीएस को होमगार्ड डीजी से मिली गाली: 

आईपीएस विकास वैभव ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, “मुझे आईजी होमगार्ड एवं फायर सर्विस का दायित्व दिनांक 18 अक्टूबर 2022 को दिया गया था. तब से ही सभी नव दायित्वों के निर्वहन हेतु हरसंभव प्रयास कर रहा हूं. प्रतिदिन तब से अनावश्यक ही डीजी मैडम के मुख से गालियां ही सुन रहा हूं (recorded too)! परंतु यात्री मान आज वास्तव में द्रवित है.

ईटीवी भारत से विकास वैभव ने क्या कहा?: 

हालांकि उन्होंने टेलिफोनिक बातचीत के दौरान ईटीवी भारत से कहा, ‘वह इन दिनों काफी परेशान चल रहे हैं. जिस वजह से उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर अपनी बातों को लिखा था लेकिन उन्हें एहसास हुआ कि उन्हें नहीं लिखना चाहिए था. जिसके बाद उन्होंने तुरंत इसको ट्विटर हैंडल से डिलीट कर दिया है.’ उधर, इस मुद्दे पर फिलहाल न तो फायर ब्रिगेड और होमगार्ड की डीजी शोभा अहोतकर और न ही बिहार पुलिस मुख्यालय के वरिष्ठ अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार हैं.

कौन हैं आईपीएस विकास वैभव?: 

आपको बता दें कि तेजतर्रार आईपीएस अधिकारी विकास वैभव होमगार्ड फायर सर्विस के आईजी के पहले बिहार सरकार के गृह विभाग के विशेष सचिव के पद पर तैनात थे. इसके पहले वह पटना के एसएसपी रहते हुए उन्होंने अनंत सिंह जैसे बाहुबली नेता को गिरफ्तार किया था. वह एनआईए जैसे केंद्रीय जांच एजेंसी में भी अपने दायित्व का निर्वहन कर चुके हैं. बिहार पुलिस में अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने के साथ-साथ गरीब और असहाय युवाओं को शिक्षा मिल सके, इसको लेकर वह इन दिनों ‘इंस्पायर बिहार’ नाम से एक मुहिम भी चला रहे हैं. सोशल मीडिया पर भी वह काफी एक्टिव रहते हैं.

( source : etvbharat.com )