Follow Us On Goggle News

Sahara India Scam : सहारा प्रमुख को पटना हाईकोर्ट की फटकार ! HC ने कहा – ‘कोर्ट से बड़े नहीं सुब्रत राय, कल सशरीर हाजिर हों’.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Sahara India Scam : सहारा प्रमुख सुब्रत राय को पटना हाईकोर्ट ने फटकार लगायी है. पटना हाई कोर्ट ने सहारा इंडिया के विभिन्न स्कीमों में उपभोक्ताओं द्वारा जमा किए गए पैसे के भुगतान को लेकर दायर की गई याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए सहारा प्रमुख सुब्रतो राय को 13 मई शुक्रवार को साढ़े दस बजे हाई कोर्ट में उपस्थित होने का एक और मौका दिया है.

Sahara India Scam : सहारा इंडिया के मालिक सुब्रत राय को पटना हाईकोर्ट से बड़ा झटका दिया है। इनके तरफ से दायर किए गए अंतिरम आवेदन को खारिज कर दिया गया है। गुरुवार को सुनवाई करते हुए जस्टिस संदीप कुमार ने कहा कि कल हर हाल में सुबह 10:30 बजे सहारा इंडिया के मालिक सुब्रत राय को हाजिर होना होगा। कल अगर यह फिजिकली नहीं आए तो फिर हाईकार्ट इनकी गिरफ्तारी का वारंट जारी करेगा।सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने कड़ी टिप्पणी भी की है।

 

दरअसल, पिछली सुनवाई के दौरान सुब्रत राय को 12 मई यानी आज के दिन पटना हाईकोर्ट में फिजिकली पेश होने का आदेश दिया गया था। मगर, सुब्रत राय गुरुवार को नहीं आए। इनकी तरफ से वकील ने अंतरिम आवेदन जमा किया। निवेशकों की ओर एडवोकेट प्रत्युष कुमार के अनुसार जस्टिस संदीप कुमार ने कहा कि सुब्रत राय हाईकोर्ट से बड़े नहीं हैं। आज नहीं आ कर उन्होंने बड़ी गलती कर दी है।

यह भी पढ़ें :  Credit Card Cash: क्रेडिट कार्ड से कैश निकालने पर कितना भरना पड़ेगा ब्‍याज.

 

वर्चुअल तरीके से कोर्ट में पेश होने की मांगी थी अनुमति :

आवेदन के जरिए सुब्रत राय ने हाईकोर्ट से एक अपील की। उन्होंने कहा कि मेरी उम्र 74 साल हो चुकी है। जनवरी महीने में ऑपरेशन कराया था। अभी भी बीमार हूं। इस कारण फिजिकल तौर पर पेश होने से राहत दी जाए। मुझे वर्चुअल तरीके से कोर्ट में पेश होने की अनुमति दी जाए।

आवेदन के जरिए सहरा के मालिक ने यह भी कहा कि इंवेस्टर्स के रुपए लौटाने के लिए उनके पास डिटेल प्लान तैयार है। साथी तत्काल में वो 5 करोड़ रुपए जमा करने को भी तैयार हैं। साथ ही इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट के पास भी एक याचिका दायर की गई है।

 

कोर्ट ने कहा- इन्हें कोर्ट आना होगा :

वकील प्रत्युष कुमार के अनुसार इस पर पटना हाईकोर्ट ने सुब्रत राय के वकील से कहा कि सुप्रीम कोर्ट के नाम पर आप डरा नहीं सकते हैं। सवालिया लहजे में हाईकोर्ट ने कहा कि कौन हैं ये सुब्रत राय सहारा जो कोर्ट नहीं आ सकते हैं? इन्हें कोर्ट आना होगा, ये देखना होगा कि लोग यहां कैसे परेशान हैं?

यह भी पढ़ें :  Fixed Deposit Rate : कोटक महिंद्रा बैंक ने ग्राहकों को दिया तोहफा, अब FD पर पहले से ज्यादा मिलेगा मुनाफा.

 

कोर्ट ने पूछा कब तक मिलेगा निवेशकों का पैसा :

इसके पहले की सुनवाई में कोर्ट ने सहारा के वकील से यह जानकारी मांगी थी कि वह कोर्ट को यह बताए की बिहार के निवेशकों का पूरा पैसा उन्हें कब तक और किस तरह दिया जाएगा । कोर्ट के निर्देश दिए जाने के बाद भी सहारा की ओर से कोई भी जानकारी स्पष्ट रूप में नहीं दी गई है. जिसके बाद नाराज होकर कोर्ट ने यह निर्देश दिया है। 

 

बता दें कि न्यायधीश संदीप कुमार की एकलपीठ ने याचिकाकर्ता प्रमोद कुमार सैनी की याचिका पर सुनवाई करते हुए सहारा समूह को 27 अप्रैल तक का वक्त देते हुए पूछा था कि कंपनी यह बताए कि जनता का पैसा कब तक लौटाया जाएगा।  दरअसल कंपनी ने विभिन्न स्कीम में लाखों उपभोक्ताओं से निवेश के नाम पर पैसा जमा करवाए थे और अवधि पूरी होने के बाद भी रकम नहीं लौटाई गई।  इसको लेकर 2,000 से ज्यादा लोगों ने पटना हाईकोर्ट में हस्तक्षेप याचिका दायर की थी। 

यह भी पढ़ें :  Petrol Diesel Price Today : पेट्रोल और डीजल के नए दाम जारी, जानिए आज आपके शहर में क्या है कीमत.

जिस पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने सहारा समूह को यह बताने का निर्देश दिया था कि बिहार की जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा, जो सहारा कंपनी के अलग-अलग स्कीमों में निवेशकों के द्वारा जमा किया गया है, उसे किस तरह से जल्द से जल्द लौटाया जाएगा। निवेशक कई वर्षों से सहारा में अपने पैसे फंसे होने के कारण परेशान हैं। 

 

लोगों के करोड़ों रुपए है फंसे : 

वहीं, 27 अप्रैल को हुई सुनवाई में सहारा की ओर से वकील उमेश प्रसाद सिंह ने हाईकोर्ट को बताया था कि सहारा ने ग्राहकों को पैसा लौटाने के लिए कई विकल्प तैयार किए हैं।  लेकिन अदालत ने उनकी दलीलों को नामंजूर करते हुए उक्त आदेश दिया।  हाईकोर्ट ने स्पष्ट कर दिया है कि वो इस मामले में उचित आदेश जारी करेगा।  जिससे निवेशकों को उनके रुपए मिल सकें। 


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page