Follow Us On Goggle News

Sahara India Scam: सहारा इंडिया में निवेश के नाम पर लाखों की ठगी, सुब्रतो राय सहित कई लोगों पर मामला दर्ज.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Sahara India Scam: सहारा इंडिया में पैसे इन्वेस्ट करने के नाम पर ठगी Sahara India Scam करने का एक और बड़ा मामला सामने आया है। ताजा मामला गुजरात के सूरत ज़िले के महिधरपुरा क्षेत्र से जुड़ा है। जहां सहारा इंडिया में रुपए निवेश करने के बहाने ठगी Sahara India Scam करने वाले 4 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है। इसमें सहारा के प्रमुख सुब्रतो राय सहित चार लोगों को आरोपी बनाया गया है।

 

मिली जानकारी के अनुसार पालनपुर पाटिया की रहने वाली 52 वर्षीय रेणुका अशोक बाल कृष्ण राजपूत ने वर्ष 2013 में सुमूल डेयरी रोड पर स्थित धनवंतरि कॉम्पलेक्स की चौथी मंजिल पर सहारा इंडिया के कार्यालय में अलग-अलग स्कीम में 13लाख, 32हजार रुपए निवेश किया था। स्कीम की अवधि पूरी होने के बाद सहारा इंडिया न तो पैसे लौटा रही और न ही योजना का लाभ दे रही है।

यह भी पढ़ें :  Petrol Diesel Price Today: देशभर में आज से लागू हुआ पेट्रोल-डीजल के नए दाम, यहाँ देखें लिस्ट.

 

कंपनी पैसे देने से साफ इनकार कर रही: Sahara India Scam

रेणुका ने पांडेसरा में स्थित आकाश भूमि अपार्टमेंट में रहने वाले अरुण कुमार वासुदेव सिंह, डिंडोली निवासी अनंतराम पृथ्वीराज मिश्रा, अलकापुरी वडोदरा के रहने वाले गोपाल दास के खिलाफ फर्जीवाड़ा की शिकायत दर्ज कराई है। इसमें सहारा इंडिया Sahara India Scam के प्रमुख सुब्रतो राय को भी आरोपी बनाया गया है। रेणुकाबेन ने बताया कि स्कीम की अवधि पूरी होने के बाद उन्हें 13 लाख, 32 हजार के बदले कुल 21, लाख 39 हजार रुपए मिलने वाले थे, पर कंपनी पैसे देने से साफ इनकार कर रही है। महिधरपुरा पुलिस शिकायत दर्ज कर आगे की जांच कर रही है।

 

सुब्रतो राय पर पहले भी दर्ज हो चुकी है शिकायत: Sahara India Scam

बता दें, सहारा इंडिया के चेयरमैन सुब्रतो राय के खिलाफ सूरत में पहले भी फर्जीवाड़ा Sahara India Scam की शिकायत दर्ज हो चुकी है। एक बिल्डर से रुपए लेने के बाद प्लॉट न देने का मामला सामने आया था। सुब्रतो राय के खिलाफ ठगी की यह दूसरी शिकायत है। सहारा इंडिया ने अच्छा लाभ मिलने के लालच में लोगों ने अपनी पूरी कमाई जमा कर दी थी। समय पूरा होने के बाद एक रुपया भी नहीं मिल रहा है।


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page