Follow Us On Goggle News

Russia Ukraine War : यूक्रेन में फंसे बिहार के छात्रों की भारत सरकार से गुहार- ‘हम काफी डरे हुए हैं, प्लीज हमारी मदद कीजिए’.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Russia Ukraine War : यूक्रेन में एमबीबीएस (MBBS) की तैयारी कर रहे बिहार के सिवान जिले के कई लड़के-लड़कियों ने वीडियो जारी कर भारत सरकार और यूक्रेन में भारतीय दूतावास (Indian Embassy in Ukraine) से सुरक्षा की गुहार लगाई है. वहां पढ़ाई करने गए छात्र रूस और यूक्रेन के बीच शुरू हुए युद्ध की वजह से वहां फंसे हुए हैं. दरौली प्रखंड के सरना (बिश्वानिया) गांव के रहने वाले छात्र राघवेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि सिवान जिले के करीब 30 छात्र-छात्राएं यूक्रेन में रह कर मेडिकल की पढ़ाई करते हैं, अब यहां फंसे हुए हैं.

 

Russia Ukraine War : यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद वहां के हालात बेहद चिंताजनक हो गए हैं. यूक्रेन में पढ़ रहे भारतीय मूल के छात्र-छात्राओं के सामने यू्क्रेन से वापस लौटने का संकट मंडरा रहा है. भारतीय मूल के कई छात्र वहां पर अब भी फंसे हुए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक इनमें बिहार के करीब 800 छात्र भी शामिल हैं. यह सभी यूक्रेन में मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने गए हुए हैं. यूक्रेन में रह रहे बिहार के विभिन्न जिलों के रहने वाले छात्र काफी डरे-सहमे हैं. ये बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुहार लगा रहे हैं कि उनकी जान की रक्षा की जाए.

यह भी पढ़ें :  Gold Price Today: देशभर में आज से लागू हुआ सोने - चांदी के नए रेट, यहाँ देखें लिस्ट.

 

 

 

यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने कहा – ‘व्याकुल न हों, जहां भी हैं, सुरक्षित रहें’ :

उधर यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने गुरुवार को भारतीय नागरिकों से कहा कि वे व्याकुल न हों और आप जहां भी हैं सुरक्षित रहें . दूतावास ने कहा कि यूक्रेन वायु क्षेत्र के नागरिक विमानों के लिये बंद किये जाने के मद्देनजर भारतीय नागरिकों को निकालने के लिये वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है. उसने यह भी कहा कि ऐसी व्यवस्था को अंतिम रूप देते ही दूतावास इसके बारे में जानकारी देगा.

यूक्रेन के खिलाफ रूस द्वारा सैन्य अभियान शुरू करने के बाद भारतीय दूतावास ने कुछ ही घंटे के अंतराल में दो परामर्श जारी किए. भारतीय दूतावास ने कहा कि यूक्रेन में वर्तमान हालात बेहद अनिश्चित हैं. कृपया व्याकुल नहीं हों और आप जहां भी हैं सुरक्षित रहें, चाहे घर हो, हॉस्टल हो या कोई अन्य रहने का स्थान अथवा कहीं बीच रास्ते में हों. दूतावास ने कहा कि जो लोग कीव की यात्रा कर रहे हैं जिसमें कीव का पश्चिमी हिस्सा शामिल है, उन्हें अस्थायी तौर पर अपने शहरों को लौटने की सलाह दी जाती है, खास तौर पर सुरक्षित स्थानों पर.

यह भी पढ़ें :  Caste Based Census : नीतीश कुमार की अगुवाई में बिहार का प्रतिनिधिमंडल पीएम मोदी से मिलने पहुंचा, 10 दलों के 11 नेता शामिल.

भारतीय दूतवास ने दूसरे परामर्श में कहा कि यूक्रेन में सभी भारतीयों को यह सूचित किया जाता है कि यूक्रेन के वायु क्षेत्र के बंद कर दिये जाने के कारण विशेष उड़ान रद्द की जाती है. दूतावास ने कहा कि भारतीय नागरिकों को निकालने के लिये वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है. नई दिल्ली में आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि विदेश मंत्रालय यूक्रेन संकट पर उच्च स्तरीय बैठक कर रहा है और आकस्मिक योजनाओं पर काम चल रहा है.

सूत्रों ने बताया कि भारत इस पूर्वी यूरोप के देश से अपने नागरिकों, खासकर छात्रों की सहायता के उपायों पर ध्यान केंद्रित किये हुए है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भारत, यूक्रेन में तेजी से बदलती स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए हैं और इस बात पर ध्यान केंद्रित किये हुए है कि किस प्रकार से भारतीयों की मदद की जा सकती है.

उन्होंने कहा कि हम तेजी से बदल रहे हालात पर करीब से नजर रख रहे हैं. हमारा पूरा ध्यान भारतीय नागरिकों, खासतौर पर छात्रों की रक्षा और सुरक्षा पर केन्द्रित है. सूत्रों ने बताया कि कुछ दिन पहले विदेश मंत्रालय द्वारा स्थापित नियंत्रण कक्ष का विस्तार किया जा रहा है और इसे 24 घंटे काम करने के आधार पर परिचालित किया जा रहा है. अनुमान के मुताबिक, यूक्रेन में अभी 20 हजार भारतीय हैं.

यह भी पढ़ें :  Bihar News : मांगा हक़...... तो मिलीं लाठियां ! पटना में प्रदर्शन कर रहे पंचायत वार्ड सचिवों को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा.

 

यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने हेल्प नंबर किया जारी :

 

ukraine helpline Russia Ukraine War : यूक्रेन में फंसे बिहार के छात्रों की भारत सरकार से गुहार- 'हम काफी डरे हुए हैं, प्लीज हमारी मदद कीजिए'.

 


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page