Follow Us On Goggle News

Reliance Group: Akash Ambani का ‘राजतिलक’, पिता मुकेश अंबानी ने सौंपी Reliance Jio की कमान

इस पोस्ट को शेयर करें :

Reliance Group: मुकेश अंबानी लंबे समय से अगली पीढ़ी को कारोबार की कमान सौंपने की तैयारी में लगे हुए हैं. वह नहीं चाहते कि जैसा विवाद उनकी पीढ़ी ने देखा, उनके बच्चों को भी उससे गुजरना पड़े और कारोबारी साम्राज्य पर उसका बुरा असर पड़े.

 

Reliance Group: आकाश अंबानी रिलायंस जियो के चेयरमैन नियुक्त हो गए हैं. आज रिलायंस जियो (Reliance Jio) बोर्ड की मीटिंग में इस फैसले को हरी झंडी दी गई. बोर्ड ने आकाश अंबानी की चेयरमैन के रूप में नियुक्ति को मंजूरी दे दी है. वहीं मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) ने कंपनी के डायरेक्टर के पद से इस्तीफा दे दिया है जो कि 27 जून से लागू हो गया है. रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के मुखिया मुकेश अंबानी के बेटे आकाश अंबानी साल 2014 में जियो के बोर्ड में शामिल हुए थे. जियो रिलायंस इंडस्ट्रीज की टेलीकॉम इकाई है. इसी के साथ ही अंबानी परिवार की तीसरी पीढ़ी अब लीडरशिप की भूमिका में आ गई है. बोर्ड ने इसके साथ ही पंकज मोहन पवार की जियो के एमडी के रूप में नियुक्ति को मंजूरी दे दी है. पवार 5 साल के लिए एमडी के पद पर नियुक्त किए गए हैं.

यह भी पढ़ें :  Mukesh Ambani Birthday : एशिया के सबसे अमीर शख्स की दास्तां, जिन्होंने अपनी मेहनत से पेट्रो केमिकल को ‘सोने’ में बदला.

 

करीब 8 लाख करोड़ रुपये का कारोबार संभालेंगे आकाश

फिलहाल रिलायंस जियो की वैल्यूएशन करीब 100 अरब डॉलर आंकी गई है. यानि जियो की कमान संभालने के साथ ही आकाश अंबानी करीब 8 लाख करोड़ रुपये के कारोबार को लीड करेंगे. इसी साल की शुरुआत में ग्लोबल ब्रोकिंग फर्म सीएलएसए ने जियो कारोबार की वैल्यूएशन 99 अरब डॉलर आंकी थी. दरअसल जियो की लिस्टिंग की भी तैयारी चल रही है. ऐसे में अब माना जा रहा है कि लिस्टिंग से पहले ही आकाश को कमान देकर मुकेश अंबानी ने नई कंपनी बनाने से पहले ही नेतृत्व को लेकर तस्वीर साफ कर दी है. इससे पहले ही जियो प्लेटफार्म ने दुनिया भर के निवेशकों से 1.52 लाख करोड़ रुपये का निवेश उठाया था. इसमें फेसबुक, गूगल, इंटेल कैपिटल, क्वालकाम वेंचर्स और दुनिया भर की कुछ प्रमुख पीई कंपनियां शामिल थीं.रिलायंस इंडस्ट्री के लिए जियो कितना अहम है ये इस बात से पता चलता है कि जब मुकेश अंबानी ने कहा था कि डाटा नये दौर का ऑयल है. जियो ने सेक्टर में बड़ी आक्रामक रणनीति के साथ कदम रखा था और जियो की वजह से सेक्टर में काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिला. आने वाले समय में जियो के आईपीओ की भी तैयारी चल रही है.

यह भी पढ़ें :  Reliance Jio के ये प्लान 365 दिन तक देते हैं अनलिमिटिड कॉलिंग और 3GB तक डेली डाटा.

कैसा रहा जियो का प्रदर्शन

जियो फिलहाल घरेलू टेलीकॉम सेक्टर की लीडरशिप पोजीशन में है. कंपनी ने चौथी तिमाही में 4173 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया है. तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 3615 करोड़ रुपये था. वहीं चौथी तिमाही में जियो की आय 20901 करोड़ रुपये थी.जिसमें पिछले साल के मुकाबले 20 प्रतिशत की बढ़त रही है.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page