Follow Us On Goggle News

Post Office Scheme : पोस्‍ट ऑफिस में एकमुश्‍त 10 लाख करिए जमा ! मैच्‍योरिटी पर गारंटीड मिलेंगे 13.90 लाख, देखिए कैलकुलेशन.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Post Office Scheme : अगर आप स्टॉक मार्केट के जोखिम उठाए बिना गारंटीड रिटर्न चाहते हैं, तो पोस्‍ट ऑफिस के इस स्‍माल सेविंग्‍स स्‍कीम में पैसा लगा सकते हैं.

 

Post Office Scheme : मार्केट के जोखिम उठाए बिना अगर आप स्टॉक मार्केट के जोखिम उठाए बिना गारंटीड रिटर्न चाहते हैं, तो पोस्‍ट ऑफिस के इस स्‍माल सेविंग्‍स स्‍कीम में पैसा लगा सकते हैं. पोस्‍ट ऑफिस की नेशनल सेविंग्‍स सर्टिफिकेट (NSC) एक ऐसी स्‍कीम है, जिसमें एकमुश्‍त निवेश करना होता है. तो पोस्‍ट ऑफिस के इस इस स्‍कीम की मैच्‍योरिटी पांच साल की है. इस स्‍माल सेविंग्‍स स्‍कीम्‍स की खासियत यह है कि इसमें निवेश की मैक्सिमम लिमिट नहीं है. वहीं, इसमें मल्‍टीपल अकाउंट खुलवाए जा सकते हैं. इसमें निवेश पर टैक्‍स डिडक्‍शन का भी फायदा लिया जा सकता है.

 

NSC : 10 लाख जमा पर 13.90 लाख मिलेंगे :

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) में अभी सालाना 6.8 फीसदी ब्याज मिल रहा है. इसमें ब्‍याज की कम्‍पाउंडिंग सालाना आधार पर होती है लेकिन इसका भुगतान मैच्‍योरिटी पर ही होता है. इस स्कीम का मैच्‍योरिटी 5 साल का है. अगर आप 1000 रुपये से NSC में निवेश करते हैं तो अगले 5 साल बाद आपको 1389.49 रुपये मिलेंगे.

यह भी पढ़ें :  Sugar mill scam : अन्ना हजारे का आरोप, चीनी मिल बिक्री में हुआ 25 हजार करोड़ का घोटाला, अमित शाह को लिखा पत्र.

 

NSC कैलकुलेटर के मुताबिक, इस स्‍कीम में अगर एकमुश्‍त 10 लाख रुपये जमा किया जाए, तो 5 साल बाद मैच्‍योरिटी पर कुल 13,89,493 रुपये मिलेंगे. इसमें ब्‍याज से 3,89,493 रुपये की इनकम होगी. नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) में निवेश किसी भी पोस्‍ट ऑफिस, जहां पर सेविंग्‍स अकाउंट खुलवाने की सुविधा उपलब्‍ध हो, वहां से कर सकते हैं. इसमें निवेश पूरी तरह सुरक्षित रहता है. बाजार के जोखिम का इस पर कोई असर नहीं होता है. सरकार स्माल सेविंग्स स्कीम पर 3 महीने बाद मिलने वाले ब्याज को रिवाइज करती है.  

 

NSC: स्‍कीम के कुछ अन्‍य फीचर्स :

  • NSC अकाउंट देशभर में पोस्ट ऑफिस के ब्रांच में खुलवाया जा सकता है. कोई भी बालिग अकाउंट खुलवा सकता है. 
  • इसमें ज्‍वाइंट अकाउंट के अलावा 10 साल के ज्‍यादा उम्र के बच्‍चों के माता-पिता या कानूनी गार्जियन सर्टिफिकेट खरीद सकता है. 
  • NSC में 5 साल के पहले विड्रॉल नहीं कर सकते हैं. कुछ विशेष परिस्थितियों में ही छूट है.
  • NSC को किसी भी भारतीय डाकघर से खरीदा जा सकता है.
  • NSC को सभी बैंकों और NBFC द्वारा लोन के लिए कोलैटरल या सिक्योरिटी के रूप में स्वीकार किया जाता है.
  • निवेशक अपने परिवार के किसी भी सदस्य को नॉमिनी बना सकता है.
  • NSC को, जारी होने से लेकर मैच्योरिटी डेट के बीच एक बार एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के नाम पर ट्रांसफर किया जा सकता है.

इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page