Follow Us On Goggle News

PM Fasal Bima Yojana: बाद या सूखा से फसल ख़राब होने पर सरकार देगी फसल का पैसा, 31 जुलाई तक है अंतिम मौका.

इस पोस्ट को शेयर करें :

PM Fasal Bima Yojana: खेती-किसानी करने वालों के लिए बड़ी खबर है. पीएम फसल बीमा योजना के तहत फसलों को सूखा, आंधी, तूफान, बे मौसम बारिश, बाढ़ आदि जैसे जोखिम से सुरक्षा मिलती है. इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं से नुकसान की स्थिति में किसानों को किफायती दर पर इंश्योरेंस कवर देना है. अब तक करीब 36 करोड़ किसानों को इस योजना का लाभ मिला है.

 

PM Fasal Bima Yojana: बारिश की वजह से देश के आधे से अधिक राज्यों में बाढ़ जैसे हालात हैं. बाढ़ की वजह से फसलों को नुकसान पहुंचा है. वहीं कई राज्यों में बारिश नहीं होने से किसान परेशान हैं. इन हालातों में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) किसानों के बड़े काम आ सकती है. किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में अपनी फसल का बीमा करवा कर आर्थिक नुकसान से बच सकते हैं. PMFBY में रजिस्ट्रेशन कराने की अंतिम तारीख 31 जुलाई है. पीएमबीएफवाई में रजिस्ट्रेशन करना बहुत आसान है.

 

 

यह भी पढ़ें :  LPG Gas Cylinder Price Today: देशभर में आज से लागू हुआ एलपीजी गैस सिलेंडर के नए रेट, यहाँ देखें लिस्ट.

पीएम फसल बीमा योजना को केंद्र सरकार ने खरीफ सीजन 2016 से शुरू किया है. इस योजना के तहत प्राकृतिक आपदाओं से फसलों को होने वाले नुकसान को कवर किया जाता है. कटाई के बाद खेती में रखी फसल के बारिश व आग से खराब होने को भी इस योजना के तहत कवर किया गया है. अब जंगली जानवरों की तरफ से फसलों को हुए नुकसान को भी बीमा कवर में शामिल कर लिया गया है. यह योजना देया के ज्यादातर राज्यों ने अपनाया है.

 

PM Fasal Bima Yojana कैसे ले सकते हैं बीमा का लाभ:

देश के कई राज्यों के किसान पीएम फसल बीमा योजना का लाभ ले सकते हैं. इसके लिए किसानों को एक आवेदन फार्म भरना होता है. यह आवेदन फार्म ऑफलाइन और ऑनलाइन यानी दोनो मोड में उपलब्ध है. किसान अगर ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो वह पीएम फसल बीमा योजना की वेबसाइट https://pmfby.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं. वहीं आफलाइन आवेदन के लिए किसान नजदीकी बैंक, को-आपरेटिव सोसायटी या फिर सीएससी (कामन सर्विस सेंटर) में जाकर आवेदन कर सकते हैं. किसानों को बीमा के लिए फसल बुआई के 10 दिनों के अंदर आवेदन करना होता है, तभी कोई भी फसल बीमा के लिए पात्र मानी जाती है.

यह भी पढ़ें :  PM Kisan Nidhi: पीएम किसान की 11वी क़िस्त पर कृष‍ि मंत्री का बड़ा ऐलान.

 

PM Fasal Bima Yojana किन डॉक्यूमेंट्स की जरूरत:

राशन कार्ड, बैंक खाता नंबर जो आधार से लिंक हो, पहचान पत्र, किसान का एक पासपोर्ट साइज फोटो, खेत का खसरा नंबर, किसान का निवास प्रमाण पत्र (इसके लिए किसान ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड), अगर खेत किराये पर लिया गया है तो खेत के मालिक के साथ इकरार नामा की फोटो कॉपी.

PM Fasal Bima Yojana कितना है प्रीमियम:

बीमा के लिए किसानों को निर्धारित प्रीमियर का भी भुगतान करना होता है. जिसके तहत खरीफ फसलों के लिए बीमा राशि का 2 फीसदी, रबी फसलों का 1.5 फीसद और व्यावसायिक व बागवानी फसलों के लिए अधिकतम 5 फीसद प्रीमियर का भुगतान करना होता है. बाकी का भुगतान राज्य व केंद्र सरकार की तरफ से किया जाता है.

 

PM Fasal Bima Yojana खरीफ-2022 सीजन के लिए इन फसलों का बीमा:

खरीफ-2022 सीजन के लिए 8 फसलों धान, मूंगफली, मक्का, अरहर, रागी, कपास, अदरक और हल्दी का बीमा किया जा रहा है. खरीफ फसलों के बीमा के लिए 31 जुलाई 2022 डेडलाइन है. वहीं, रबी मौसम के लिए धान, मूंगफली, काला चना, हरा चना, सरसों, सूरजमुखी, गन्ना, आलू और प्याज समेत कुल नौ फसलों का बीमा किया जाएगा.

यह भी पढ़ें :  Petrol Diesel Price Today: देशभर में आज से लागू हुआ पेट्रोल-डीजल के नए दाम, यहाँ देखें लिस्ट.

 

PM Fasal Bima Yojana किस फसल के लिए कितनी रकम:

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत फसल कपास की फसल के लिए 36282 रुपये, धान के लिए फसल के लिए 37484 रुपये, बाजरा की फसल के लिए 17639 रुपये, मक्का की फसल के लिए 18742 रुपये और मूंग की फसल के लिए 16497 रुपये प्रति एकड़ बीमित राशि मिलेगी.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page