Follow Us On Goggle News

Students Brought Back : यूक्रेन से भारत लौटे छात्रों के चेहरों पर दिखी खुशी, पटना पहुंचते ही ली राहत की सांस.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Students Brought Back : रूस से जारी जंग के बीच यूक्रेन में फंसे करीब 219 भारतीय छात्र सकुशल वापस लौट आएं हैं. एक विशेष विमान के जरिए मुंबई के एयरपोर्ट पर रात करीब 8:00 बजे सभी छात्रों का वापसी हुई है.

Students Brought Back : रूस के यूक्रेन पर हमले (Russia Ukraine War) के बाद बिहार के कई छात्र वहां फंस गए थे. इनमें 7 छात्र रविवार को पटना वापस आ गए हैं. शनिवार शाम को यूक्रेन से मुंबई आई फ्लाइट से ये छात्र भारत आए थे. वहां से आज ये पटना पहुंचे, यहां आने के बाद इन छात्र-छात्राओं के चेहरे पर खुशी के भाव नजर आए.

छात्रों को रिसीव करने खुद बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन और जल संसाधन मंत्री संजय झा पहुंचे. साथ ही पटना के जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह भी पटना एयरपोर्ट पर मौजूद रहे. छात्रों का कहना है कि वहां की स्थिति काफी भयावह है और अभी भी हमारे कुछ साथी वहां फंसे हुए हैं जिनको लेकर वो परेशान हैं. इस दौरान उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि भारत सरकार यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों को लाने का लगातार प्रयास कर रही है.

यह भी पढ़ें :  इंटर पास लड़कियों को स्मार्टफोन और स्नातक लड़कियों को मिलेगी इलेक्ट्रानिक स्कूटी.

 

उन्होंने कहा कि बिहार के जो भी छात्र-छात्राएं फंसे हैं, वह बिहार लाए जाएंगे. आज पहला जत्था आया है. हम लोग एयरपोर्ट पहुंचे और उनका स्वागत किया. हम वैसे छात्र-छात्राओं को भी भरोसा दिलाना चाहते हैं जो अभी यूक्रेन में फंसे हैं. उसके लिए भी तैयारी की जा रही है. वह बहुत जल्द अपने देश लाए जाएंगे. वहीं, जल संसाधन मंत्री संजय झा ने कहा कि बिहार सरकार ने छात्रों को घर तक पहुंचाने की सुविधा उपलब्ध करायी है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसको लेकर पूरी तरह से तत्परता दिखा रहे हैं.

 

Deputy Chief Minister Tarkishore Prasad Students Brought Back : यूक्रेन से भारत लौटे छात्रों के चेहरों पर दिखी खुशी, पटना पहुंचते ही ली राहत की सांस.

 

उन्होंने कहा कि हम लोग भी यहां उन्हीं के आदेश पर पहुंचे हैं. छात्रों को कोई परेशानी नहीं होगी. भारत सरकार और बिहार सरकार मिलकर काम कर रही है. छात्र छात्राओं को उनके घर तक सुरक्षित पहुंचाने का का कार्य किया जा रहा है. हम यूक्रेन में रह रहे छात्र-छात्राओं को भी संदेश देना चाहते हैं कि वह परेशान न हों. उन्हें वापस लाने के लिए कार्य किया जा रहा है. उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि भारत सरकार पूरी तरह से आश्वस्त करती है कि जो छात्र वहां फंसे हुए हैं, वह अपने अपने घर पहुंचेंगे. उसको लेकर काम हो रहा है. इसलिए छात्रों को परेशान होने की जरूरत नहीं है. पटना एयरपोर्ट पर आए छात्रों का स्वागत गुलाब का फूल देखकर मंत्रियों ने किया.

यह भी पढ़ें :  Sports News : राजीव गांधी खेल रत्न का नाम अब हुआ ‘मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवॉर्ड’, पीएम मोदी ने किया ऐलान.

 

मुंबई एयरपोर्ट पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने किया स्वागत :

बता दें कि यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को कल शाम सकुशल सरकार की मदद से विशेष विमान के तहत भारत लाया गया. इस दौरान मुंबई एयरपोर्ट पर उन तमाम छात्रों के चेहरों पर खुशी देखने को मिली जो यूक्रेन में युद्ध के माहौल में रह रहे थे और अपने वतन अपने घर आने के लिए परेशान थे.

करीब 219 छात्रों को लेकर एक विशेष विमान शनिवार को मुंबई के एयरपोर्ट पर रात करीब 8:00 बजे पहुंचा. इन छात्रों को रिसीव करने के लिए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल भी मौजूद थे. साथ ही मुंबई की मेयर किशोरी Pendekar भी एयरपोर्ट पर पहुंची थीं. यूक्रेन से विशेष विमान से लाए गए छात्रों का मुंबई एयरपोर्ट पर स्वागत किया गया. पेपर वर्क पूरा होने के बाद इन छात्रों को उनके घर जाने की अनुमति दी गई. यह छात्र महाराष्ट्र के तमाम शहरों के कोने-कोने के रहने वाले थे.

यह भी पढ़ें :  PM Suraksha Bima Yojana : प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में 12 रुपये के प्रीमियम पर 2 लाख का इंश्योरेंस, इस तरह करें ऑनलाइन आवेदन.

 

छात्रों ने बताया कि किस तरह से वह यूक्रेन में युद्ध के माहौल को देखते हुए जल्द से जल्द अपने वतन लौटने के लिए परेशान थे और भारत सरकार के साथ ही यूक्रेन सरकार की मदद से जल्द से जल्द उन्हें भारत वापस भेजने की तैयारियां की गई और उन्हें भेजा गया.

इन छात्रों ने बताया कि यूक्रेन के विभिन्न इलाकों में बहुत सारे और भी छात्र हैं जो अभी फंसे हुए हैं और भारत लौटने के लिए परेशान हैं. इन छात्रों ने अपील की है कि सरकार जल्द से जल्द उन छात्रों की भी मदद करें और उन्हें भी अपने परिवार अपने देश लाया जाए. कुछ छात्रों ने बताया कि जल्द से जल्द जब भी यूक्रेन का माहौल ठीक होगा युद्ध बंद होगा फिर वह पढ़ाई करने के लिए यूक्रेन जरूर जाएंगे.

 


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page