Follow Us On Goggle News

Gold And Silver Price Today: देशभर में आज से लागू हुए सोना – चांदी के नए रेट, यहाँ देखें लिस्ट.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Gold And Silver Price Today: चतुर्मास की वजह से पटना का सराफ बाजार में दोनों धातुओं की कीमत में पिछले कुछ दिनों से गिरावट देखी जा रही है। हालांकि सोमवार को सोना के भाव में 100 की बढ़त देखी गई थी। लेकिन आज पटना सराफा मार्केट का जो अपडेट है उसके मुताबिक चांदी फिर लुढ़क गया है जबकि सोना का भाव पूर्व स्तर पर स्थिर है।

खबर के मुताबिक स्थानीय सराफा बाजार के व्यापारिक कामकाज में बुधवार को चांदी के भाव में 300 रुपये प्रति किलो की गिरावट दर्ज हुई, सोना के भाव पूर्व स्तर पर स्थिर बने रहे । धातुओं में दर्ज गिरावट के उपरांत चांदी 57, 600 रुपये प्रति किलो पर आ गई । इसके विपरीत सोना विठूर 52,000 रुपये और सोना 22 कैरेट 51,850 रुपये प्रति दस ग्राम के भाव पर स्थिर बना रहा। जानकारों के मुताबिक सोना और चांदी के भाव में आने वाले वक्त में और गिरावट देखी जा सकती है।

यह भी पढ़ें :  Gold and Silver Price Today: देशभर में आज से लागू हुआ गोल्ड-सिल्वर के नए रेट, यहाँ देखें लिस्ट.

किस कैरेट का सोना कितना होता है शुद्ध: Gold And Silver Price Today

  • 24 कैरेट का सोना 99.9 फीसदी.
  • 23 कैरेट का सोना 95.8 फीसदी.
  • 22 कैरेट का सोना 91.6 फीसदी.
  • 21 कैरेट का सोना 87.5 फीसदी.
  • 18 कैरेट का सोना 75 फीसदी.
  • 17 कैरेट का सोना 70.8 फीसदी.
  • 14 कैरेट का सोना 58.5 फीसदी.
  • 9 कैरेट का सोना 37.5 फीसदी.

 

ग्राहक खरीददारी के समय रखें इन बातों का ध्यान: Gold And Silver Price Today

ग्राहक सोना बहुत ध्यान से खरीदें। इस दौरान सोने की गुणवत्ता का ध्यान बहुत जरूरी है। कस्टमर हॉलमार्क का निशान देखकर ही सोने की खरीदारी करें। सभी कैरेट का हॉलमार्क नंबर अलग होता है। हॉलमार्क सोने की सरकारी गारंटी है और ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (BIS) हॉलमार्क का निर्धारण करती है। हॉलमार्किंग योजना भारतीय मानक ब्यूरो अधिनियम के तहत संचालन, नियम और रेग्युलेशन का काम करती है।

 

तीन दिन के व्यापारिक कामकाज में चांदी 1600 रुपये प्रति किलो की राहत खरीदारों को दी है। जबकि एक दिन पूर्व सोना 100 रुपये की बढ़त हासिल किया था। व्यापारिक वर्ग का मानना है कि चांदी में दर्ज गिरावट की वजह से कारोबार में कारखानेदारों की मांग बढ़ सकती है।

यह भी पढ़ें :  Rajasthan Board 5th-8th Exam 2022 : राजस्थान बोर्ड ने 5वीं और 8वीं की परीक्षाओं में किया बदलाव, यहां देखें नई तारीख.

मौजूदा स्थिति यह है कि सुस्त ग्राहकी मांग के बीच धातुओं में कायम नरमी के साथ गहने की खरीदारी करने वालों, आभूषण गढ़ने वालों और कारखानेदारों की मांग धीमी गति से कारोबार में आ रही है। इसका प्रतिकूल प्रभाव कारोबार पर दिखाई पड़ रहा है। धातुओं में मिल रही राहत को व्यापारिक वर्ग वैश्विक बाजार के उतार-चढ़ाव का प्रभाव मान रहे है। व्यापारिक वर्ग का मानना है कि आरंभ हुए चातुर्मास की वजह से ग्राहकों की कमजोर पड़ी खरीदारी से भी नरमी को बल मिल रहा है।

व्यापारिक वर्ग यह भी स्वीकार कर रहे हैं कि आने वाले समय में धातुओं पर और राहत मिल सकती है। दरअसल चातुर्मास की वजह से चार माह तक कारोबार त्योहार की खरीदारी पर आश्रित रहेगा। जिस वजह से ग्राहकों की खरीदारी का दायरा सिमट कर रह जाएगा। इससे कायम नरमी को बल मिलेगा।


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page