Follow Us On Goggle News

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के निशाने पर हैं बिहारी, इस महीने अब तक चार लोगों की हुई हत्या | Bihari on target of terrorists in Jammu and Kashmir

इस पोस्ट को शेयर करें :

Bihari on Target : जम्मू-कश्मीर में इस महीने की शुरुआत से ही आतंकी कायराना तरीके से आम नागरिकों को निशाना बना रहे हैं. आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर में फिर दो और बिहार के रहने वाले मजदूरों की हत्या कर दी. इस महीने अब तक 4 लोगों की जान जा चुकी है. वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने वहां उप राज्यपाल मनोज सिन्हा से फोन पर बात की और बिहार के लोगों की हो रही हत्या पर गंभीर चिंता व्यक्त की.

Bihari on Target : जम्मू-कश्मीर में सेना के एंटी-टेरर ऑपरेशन्स से बौखलाए आतंकी एक के बाद एक गैर-कश्मीरियों को निशाना बनाते जा रहे हैं. रविवार को भी गैर-स्थानीय लोगों पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया. दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले में आतंकियों ने दो बिहार के रहने वाले मजदूरों की हत्या कर दी. इसके अलावा एक शख्स गोलीबारी में घायल हो गया. बीते दिन भी आतंकियों ने पुलवामा और श्रीनगर में दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी थी. वहीं तेजस्वी यादव ने बिहार के लोगों की हत्या पर कहा कि बिहार के लोगों की हत्या के लिए नीतीश कुमार जिम्मेदार.

मिली जानकारी के अनुसार आतंकवादियों ने रविवार शाम कुलगाम के वनपोह इलाके में 3 बिहारी मजदूरों को गोली मार (Shot Dead) दी. हमले में दो मजदूरों की मौत हो गई, जबकि एक की हालत गंभीर है. मरने वालों की पहचान राजा ऋषिदेव और योगेंद्र ऋषिदेव के रूप में की गई है, जबकि हमले में जख्मी हुए शख्स का नाम चुनचुन ऋषिदेव है. ये लोग अररिया (Araria) जिले के रहने वाले हैं.

यह भी पढ़ें :  Bihar Politics : BJP विधायक का अजीबोगरीब बयान, बोले - 'भारत में लगता है डर तो जाएं अफगानिस्तान'.

 

vendor from bihar shot dead by in srinagar जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के निशाने पर हैं बिहारी, इस महीने अब तक चार लोगों की हुई हत्या | Bihari on target of terrorists in Jammu and Kashmir

 

बताया जाता है कि तीन हमलावरों ने वनपोह मार्केट में स्थित इनके मकान में घुसकर मजदूरों पर फायरिंग की थी. घटना के बाद हमलावर मौके से भागने में कामयाब हो गए. हादसे में घायल दो मजदूरों को अस्पताल पहुंचने पर मृत घोषित कर दिया गया. इसके अलावा एक को गंभीर हालत में कुलगाम के जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है.

बिहार के दो मजदूरों की हत्या पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने दुख व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि आतंकवादी हमले में मारे गए बिहार के दो मजदूरों की घटना काफी दुखद है. सीएम ने इस निर्मम हत्या को लेकर जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से फोन पर बात की और वहां लगातार बिहार के रहने वाले लोगों की हो रही हत्या पर गंभीर चिंता व्यक्त की.

 

नीतीश कुमार ने इस आतंकी हमले में मारे गए राजा ऋषि देव और योगेंद्र ऋषि देव के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से 2-2 लाख रुपये देने की घोषणा की है. साथ ही श्रम संसाधन एवं समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए भी अधिकारियों से बात की है.

यह भी पढ़ें :  Gandhi Jayanti 2021 : जब मोहनदास करमचंद गांधी ' महात्मा गाँधी ' बने....आइये जानते हैं क्या है कहानी.

इस बीच जम्मू-कश्मीर पुलिस ने इमरजेंसी एडवाइजरी जारी की है. इसके तहत कश्मीर में सभी गैर-स्थानीय मजदूरों को पुलिस और सेना के कैंपों में लाया जाएगा. गैर-स्थानीय मजदूरों की सुरक्षा के चलते यह एडवाइजरी जारी की गई है. लेटर के जरिए कहा गया है कि गैर-स्थानीय मजदूरों को सेना और पुलिस के कैंपों में लेकर आया जाए.

bihari on target of terrorists जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के निशाने पर हैं बिहारी, इस महीने अब तक चार लोगों की हुई हत्या | Bihari on target of terrorists in Jammu and Kashmir

 

उधर, घटना के बाद इलाके में सेना की राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस की एसओजी को भेजा गया है. फिलहाल वनपोह मार्केट में जाने वाले सभी रास्ते बंद कर दिए गए हैं. इसके अलावा घटनास्थल के आसपास के तमाम इलाकों को सील करके बड़ा सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया है.

इस मामले पर लोजपा नेता चिराग पासवान ने कहा कि – ‘मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कश्मीर के राज्यपाल से संवाद स्थापित करें और सुनिश्चित करें कि भविष्य में किसी और बिहारी की इस तरह से निर्मम हत्या न हो। पीड़ित परिवार को मुआवज़ा देने से कुछ नहीं होगा। हम मांग करते हैं कि नीतीश कुमार उनके परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी दें:

 


 

यह भी पढ़ें :  Breaking News : कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर पर राष्ट्रीय ध्वज के उपर रखा गया BJP का झंडा, जानिए क्या कहता है कानून.

आपको बताएं कि शनिवार ( 16 अक्टूबर ) को भी बिहार के बांका (Banka) जिले के बाराहाट प्रखंड के परघड़ी गांव के रहने वाले अरविंद कुमार साह की श्रीनगर के ईदगाह क्षेत्र स्थित एक पार्क के बाहर आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. मृतक अरविंद वहां पिछले 15 वर्षों से ठेला पर गोलगप्पे बेचने का काम करता था. कोरोना काल में अरविंद लॉक डाउन की वजह से घर आ गया था. तीन माह पहले ही फिर से रोजी-रोटी की तलाश में जम्मू-कश्मीर गया था, जहां उसके साथ यह घटना हो गई.

वहीं, इससे पहले इसी महीने के 5 अक्टूबर को भागलपुर के जगदीशपुर के रहने वाले वीरेंद्र पासवान की श्रीनगर के लाल बाजार में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. वीरेंद्र वहां ठेला लगाकर रोजी रोटी कमाने का काम करता था. उसके पार्थिव शरीर का श्रीनगर में ही दाह संस्कार कर दिया गया था. वीरेंद्र को मुखाग्नि उसके छोटे भाई ने दी थी. बाद में अस्थि कलश को घर लाया गया था.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page