Follow Us On Goggle News

7th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों के बेसिक सैलरी का 34% तक बढ़ गया DA, क्या HRA, TA और ग्रेच्युटी में भी होगा इजाफा ?

इस पोस्ट को शेयर करें :

7th Pay Commission latest Update : पिछले दिनों केंद्र सरकार ने एक महत्वपूर्ण फैसले के तहत केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (DA) को बढ़ाने का फैसला किया। इसके बाद से ही कर्मचारियों का महंगाई भत्ता या डीए बेसिक सैलरी का 34 फीसदी तक बढ़ गया. इसके बाद सवाल उठने लगा है कि क्या डीए का एरियर (DA arrears) भी सरकार जारी करेगी.

 

7th Pay Commission latest Update : केंद्र सरकार ने पिछले दिनों केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में एक एक महत्वपूर्ण फैसले के तहत केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (DA) को बढ़ाने का किया था. सरकार के इस बड़े फैसले के बाद कर्मचारियों का महंगाई भत्ता या डीए बेसिक सैलरी का 34 फीसदी तक बढ़ गया. इसके बाद से सवाल उठने लगा है कि क्या डीए का एरियर (DA arrears) भी सरकार जारी करेगी. इस पर सरकार की ओर से कहा गया कि जनवरी 2020 से जून 2021 तक का एरियर अभी नहीं दिया जाएगा. सरकार ने अभी डीए और डीआर (DR) तीन किस्तें-1 जनवरी 2020, 1 जुलाई 2020 और 1 जनवरी 2021 रोक रखी है. कोरोना के चलते सरकार ने यह फैसला लिया. ऐसे में कर्मचारियों की निगाहें बढ़े हुए डीए के साथ डीए के एरियर पर भी लगी है.

यह भी पढ़ें :  Business Ideas : कम पैसे में शुरू करें बंपर कमाई वाला ये बिजनेस, मुद्रा स्कीम (Mudra Scheme) के तहत मिल रहा है लोन.

 

इस बीच मीडिया रिपोर्टों में ऐसी खबरें आ रही हैं जिनमें कहा जा रहा है कि डीए बढ़ने के बाद और भी कई तरह के भत्ते बढ़ने की बारी है. इसके बारे में सरकार कभी भी फैसला कर सकती है. दरअसल ये ऐसे भत्ते हैं जो डीए से सीधे तौर पर जुड़े होते हैं. डीए बढ़ने के बाद इन भत्तों के बढ़ने की संभावना जाहिर होती है. इन भत्तों में मंथली प्रोविडेंट फंड, ग्रेच्युटी, ट्रैवल अलाउंस और हाउस रेंट अलाउंस का नाम आता है.

 

बढ़ोतरी का ऐसे लगाएं हिसाब :

डीए का सीधा संबंध बेसिक सैलरी से होता है. इसलिए डीए में बढ़ोतरी से सैलरी में इजाफा होगा. सैलरी बढ़ने से हर महीने पीएफ खाते में जमा होने वाले पैसे की भी राशि बढ़ जाएगी. यह राशि सैलरी के साथ हाथ में भले न आए, लेकिन बाद के लिए यह बहुत कारगर होगी. कर्मचारी इसी के साथ पीएफ में जमा राशि के बढ़ने की उम्मीद लगाए बैठे हैं.

यह भी पढ़ें :  Bank Alert: 31 मार्च को देर तक चले बैंकों का कामकाज, रिजर्व बैंक को लिखा पत्र.

 

डीए या महंगाई भत्ता बढ़ने से ग्रेच्युटी में भी वृद्धि होती है. किसी भी केंद्रीय कर्मचारी के मंथली पीएफ और ग्रेच्युटी का हिसाब उसकी बेसिक सैलरी और डीए से लगाया जाता है. चूंकि डीए बढ़ने से सैलरी बढ़ेगी और साथ में ग्रेच्युटी का बढ़ना भी तय है. अभी 5 साल का नियम है जब कोई कर्मचारी कंपनी छोड़ता है तो उसे ग्रेच्युटी का पैसा दिया जाता है. इसमें बदलाव की कोशिश जारी है जिसमें साल भर काम करने वाले कर्मचारी को भी ग्रेच्युटी का पैसा दिया जाएगा.

 

किन-किन भत्तों में होगी वृद्धि :

डीए बढ़ने से ट्रैवल और सिटी अलाउंस बढ़ने की भी उम्मीद है. चूंकि डीए के साथ यात्रा भत्ता और जिस शहर में रहते हैं, उसका भत्ता भी बढ़ता है, इसलिए सरकारी कर्मचारी सरकार से इसकी भी उम्मीद लगाए बैठे हैं. डीए बढ़ने से हाउस रेंट अलाउंस बढ़ने की संभावना है. माना जा रहा है कि महंगाई भत्ता बढ़ने से सरकार एचआरए में भी बढ़ोतरी कर सकती है.

यह भी पढ़ें :  बदल गया देसी टॉयलेट, सिर्फ 999 रूपये में आज बदले अपना टॉयलेट, सीनियर सिटिज़न की ज़िन्दगी होगी आसान. | New Style Desi Toilet

 

जुलाई 2021 में सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर के लिए डीए और डीआर में बढ़ोतरी का ऐलान किया था. डीए में 28 और डीआर में 17 परसेंट की बढ़ोतरी की गई थी. कोरोना के चलते कई महीने बाद यह बदलाव किया गया. इसके बाद पिछले अक्टूबर में सरकार ने भरपाई करते हुए डीए में 3 परसेंट और बढ़ोतरी कर दी. कर्मचारियों के लिए डीए बढ़कर 31 परसेंट हो गया. पिछले महीने सरकार ने डीए में 3 फीसदी और बढ़ोतरी का फैसला किया जिससे इसकी दर 34 परसेंट पर पहुंच गई है. इस फैसले से 50 लाख सरकारी कर्मचारी और 65 लाख पेंशनर को फायदा होगा.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page