Follow Us On Goggle News

Family Pension: फैमिली पेंशन के लिए सरकार ने लागू किया नया नियम, सरकारी कर्मचारी के घरवालों को मिलेगा ये बड़ा फायदा

इस पोस्ट को शेयर करें :

Family Pension: लापता कर्मचारी के घरवालों को पेंशन के लिए लंबा इंतजार नहीं करना होगा. इस बात का इंतजार नहीं करना होगा कि सरकार उस कर्मचारी को पहले मिसिंग घोषित करेगी, तभी जाकर फैमिली पेंशन शुरू हो पाएगी. ऐसा नहीं है. सरकार किसी लापता कर्मचारी को मृत घोषित करती है या सात साल तक इंतजार करती है.

 

Family Pension: सरकार ने फैमिली पेंशन (Family Pension) को लेकर एक नया नियम जारी किया है. पेंशन का यह रूल उनके लिए है जो नौकरी के दौरान कहीं लापता हो जाते हैं. सरकारी कर्मचारी के घरवाले नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) के अंतर्गत कवर होते हैं. इसलिए, लापता हुए कर्मचारी के घरवालों को फैमिली पेंशन का लाभ दिया जाएगा. इसके साथ ही सैलरी एरियर, लीव इनकैशमेंट और रिटायरमेंट ग्रेच्युटी का लाभ भी मिलेगा. यहां गौर करने वाली बात है कि इन सुविधाओं का लाभ उसी परिवार के लोगों को मिलेगा जिस परिवार का सरकारी कर्मचारी लापता है. ऐसे भी मामले आते हैं जिसमें कोई व्यक्ति लापता हो जाता है और वर्षों तक उसकी कोई खोज-खबर नहीं मिलती. अंत-अंत तक कोई जानकारी नहीं मिल पाती. सरकारी कर्मचारी के मामले में इसे फैमिली पेंशन की श्रेणी में रख दिया गया है.

यह भी पढ़ें :  Pension Update : पेंशनर्स की बल्ले-बल्ले! सरकार ने लिया बड़ा फैसला, सभी को होगा बंपर फायदा.

 

केफिनेटक कंपनी के चीफ स्ट्रैटजी अफसर अजीत कुमार ‘फाइनेंशियल एक्सप्रेस’ से कहते हैं, नए नियम से उस सरकारी कर्मचारी के परिवार को फायदा होगा जिसकी पोस्टिंग हिंसाग्रस्त इलाकों में होती है. जैसे जम्मू-कश्मीर, उत्तर पूर्व के क्षेत्र और नक्सवाद से जूझते इलाके इसमें आएंगे. इन जगहों पर लापता होने की शिकायतें मिलती हैं और कर्मचारी के परिवार के लोग वर्षों तक अपने सदस्य के लिए टकटकी लगाए रखते हैं. अगर परिवार में केवल वही कमाने वाला व्यक्ति है, तो दुश्वारियां और भी बढ़ जाती हैं. इससे निजात देने के लिए सरकार ने फैमिली पेंशन का नियम लगा दिया है. अब लापता सरकारी कर्मचारी के घरवालों को फैमिली पेंशन का लाभ मिलेगा.

अब तक क्या था नियम

सरकारी कर्मचारी के गुमशुदा या लापता होने की सूरत में उसके परिवार को तुरंत फैमिली पेंशन का लाभ शुरू कर दिया जाएगा. अजीत कुमार आगे कहते हैं, अब तक सरकारी कर्मचारी सीसीएस पेंशन रूल्स 1972 के तहत कवर होते थे. अगर कर्मचारी कहीं लापता हो जाए तो इसी रूल के तहत उसके परिवार को लाभ दिया जाता था. लेकिन 28 अप्रैल 2022 को इससे जुड़ा एक नया नियम जारी किया गया है. इसमें कहा गया है कि सरकारी कर्मचारी जो एनपीएस के तहत कवर हो, अगर वह लापता होता है तो उसके घरवालों को फैमिली पेंशन का लाभ दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें :  Old Pension Scheme : कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी! खत्म हुआ NPS, पुरानी पेंशन लागू करने के आदेश जारी.

अब नया नियम क्या है

इस नए नियम की सबसे बड़ी खासियत ये है कि लापता कर्मचारी के घरवालों को पेंशन के लिए लंबा इंतजार नहीं करना होगा. इस बात का इंतजार नहीं करना होगा कि सरकार उस कर्मचारी को पहले मिसिंग घोषित करेगी, तभी जाकर फैमिली पेंशन शुरू हो पाएगी. ऐसा नहीं है. सरकार किसी लापता कर्मचारी को मृत घोषित करती है या सात साल तक इंतजार करती है. उसके बाद ही फैमिली पेंशन का लाभ दिया जाता है. अब ऐसा नहीं होगा और सरकार किसी कर्मचारी के लापता होते ही उसके परिवार को फैमिली पेंशन देना शुरू कर देगी.

इस नियम में एक प्रावधान यह किया गया है कि सरकार की ओर से मृत घोषित किए बिना या सात साल इंतजार किए बिना परिवार को फैमिली पेंशन मिलेगी, लेकिन इस दौरान एनपीएस अकाउंट और परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर सस्पेंड रहेगा. अब अगर लापता सरकारी कर्मचारी बाद में फिर से सामने आ जाता है और सर्विस जॉइन कर लेता है, तो परिवार को दी गई फैमिली पेंशन की राशि उसकी सैलरी से काट ली जाएगी. इसके साथ ही कर्मचारी का एनपीएस अकाउंट और परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर भी एक्टिवेट कर दिया जाएगा.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page