Follow Us On Goggle News

Aadhaar Card Update: बच्चों के आधार कार्ड में बड़ा बदलाव, अब मां के साथ लिखी जाती संतान की संख्या.

इस पोस्ट को शेयर करें :

>>जन्म के समय नहीं रखे जाते अधिकतर बच्चों के नाम.

>>मां अथवा पिता की अंगुली का प्रयोग होता है निशान.

Aadhaar Card Update: आधार कार्ड में अगर बच्चे की जगह, मां-बाप का नाम और संतान की संख्या लिखी है तो चिंतित करने की बात नहीं है। यह आधारबद्ध जन्म पंजीकरण की प्रक्रिया है। पांच वर्ष उम्र होने के बाद उसके फोटो और ¨फगर प्रिंट देकर आधार कार्ड में संशोधन कराया जाता है। बदायूं के गांव रायपुर निवासी दिनेश की बेटी आरती के आधार कार्ड में नाम की जगह लिखा था, मधु का पांचवां बच्चा।

 

यह आधार कार्ड इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ, चर्चा छिड़ी तो सोमवार को भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण, क्षेत्रीय कार्यालय लखनऊ के उप महानिदेशक लेफ्टिनेंट कर्नल प्रशांत सिंह ने स्थिति साफ की। उन्होंने फोन पर बताया कि विभिन्न राज्यों में आधारबद्ध जन्म पंजीकरण की शुरुआत की गई है। इसके अंतर्गत जन्म के समय ही बच्चे का आधार नामांकन किया जाता है। आधार मां अथवा पिता का लगता है। जन्म के समय अधिकतर बच्चों का नामकरण नहीं होता इसलिए माता या पिता का नाम व संतान संख्या का उल्लेख कर आधार बनवा दिया जाता है।

यह भी पढ़ें :  Cyber Safety Alert: बस एक कॉल पर वापिस मिलेगी आनलाइन खाते से की गयी ठगी.

 

पांच साल के बाद करा लें बायोमीटिक अपडेट : Aadhaar Card Update

बच्चे की उम्र पांच साल हो जाने के बाद ही उसकी अंगुलियां बायोमीटिक मशीन पर आती हैं। ऐसे में बच्चे की उम्र पांच साल पूरी हो जाने के बाद उसे ले जाकर बायोमीटिक अपडेट करा लें।

उसमें बच्चे की फोटो भी खींचा जाएगी और फिंगर प्रिंट के निशान भी लिए जाएंगे। ले. कर्नल सिंह ने बताया कि आधार से कोई वंचित न रहे इसलिए सरकार ने लोगों की सहूलियत के लिए आधारबद्ध जन्म पंजीकरण की शुरुआत की है। मां अथवा पिता जिसका आधार लगता है उसके नाम के साथ दूसरा, तीसरा, चौथा बच्चा लिख दिया जाता है।


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page