Follow Us On Goggle News

8th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों के लिए लागू होगा आठवां वेतन आयोग! तो इतनी बढ़ जाएगी सैलरी.

इस पोस्ट को शेयर करें :

8th Pay Commission: देशभर के लाखों केंद्रीय कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग के तहत वेतन मिलता है. लेकिन, हो सकता है कि भविष्य में आठवां वेतन आयोग ना लागू माना यह जा रहा है कि सैलरी बढ़ाने के लिए लाया जाने वाला यह आखरी वेतन आयोग हो सकता है. केंद्र सरकार अब कर्मचारियों की सैलरी के लिए नए फॉर्मूला लागू कर वेतन आयोग की प्रथा बंद करने पर विचार कर रही है.

हालांकि कर्मचारियों की शिकायत है कि उनके लिए जितनी सिफारिशें की गई थी, उन्हें उससे कम सैलरी मिल रही है. कर्मचारी यूनियनों का कहना है कि वे इस संबंध में एक ज्ञापन तैयार कर रही हैं, जिसे जल्द ही सरकार को सौंपा जाएगा. इस ज्ञापन में सिफारिशों के अनुरूप सैलरी बढ़ाने या 8वां वेतन आयोग लाने की मांग की जाएगी.

8th Pay Commission 26 हजार रुपये तक हो सकता है न्यूनतम वेतन:

सहयोगी वेबसाइट ज़ी बिजनेस के मुताबिक केंद्रीय कर्मचारी संगठनों का कहना है कि फिलहाल न्यूनतम वेतन की सीमा 18 हजार रुपये रखी गई है. इसमें वेतन वृद्धि में फिटमेंट फैक्टर (Fitment Factor) को काफी प्रमुखता दी गई है. फिलहाल यह फैक्टर 2.57 गुना है, हालांकि 7वें वेतन आयोग में इसे 3.68 गुना तक रखने की सिफारिश की गई है. अगर ऐसा हो जाता है तो कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 18 हजार रुपये से बढ़कर 26 हजार रुपये तक हो जाएगा.

यह भी पढ़ें :  Sahara India Refund: सहारा इंडिया में फंसे पैसे को लेकर सरकार ने जारी किया फ़ोन नंबर.

8th Pay Commission कोई नया सिस्टम भी लॉन्च कर सकती है सरकार:

सूत्रों के मुताबिक अब 7वें वेतन आयोग (7th pay commission) के बाद नया वेतन आयोग नहीं आएगा. इसके बजाय सरकार ऐसा सिस्टम लागू करने जा रही है, जिससे सरकारी कर्मचारियों की वेतन वृद्धि अपने आप हो जाया करेगी. यह एक ‘ऑटोमैटिक पे रिविजन सिस्टम’ हो सकता है, जिसमें 50 फीसदी से ज्यादा DA होने पर सैलरी में ऑटोमैटिक रिविजन हो जाया करेगा. अगर ऐसा होता है तो केंद्र सरकार के 68 लाख कर्मचारियों और 52 लाख पेंशनधारकों को इसका सीधा लाभ मिलेगा. सरकार ने हालांकि अभी तक इस पर कोई अंतिम फैसला नहीं लिया है. जब सरकार इस पर कोई फैसला ले लेगी तो अधिसूचना जारी कर इसे ऑफिशियल किया जाएगा.

8th Pay Commission लोअर इनकम ग्रुप की ज्यादा बढ़ सकती है सैलरी:

मामले से जुड़े वित्त मंत्रालय के एक अफसर के अनुसार, महंगाई को देखते हुए लोअर लेवल से मिडिल लेवल के कर्मचारियों की सैलरी बढ़नी चाहिए. ऐसे में अगर सरकार वर्ष 2023 में कोई नया सैलरी फॉर्मूला लेकर आती है तो हो सकता है कि मिडिल लेवल के कर्मचारियों को ज्यादा फायदा न मिले लेकिन लोअर इनकम ग्रुप के कर्मचारियों को बढ़िया फायदा हो सकता है. उनकी बेसिक सेलरी 3 हजार रुपये बढ़कर 21 हजार रुपये तक हो सकती है.

यह भी पढ़ें :  8th Pay Commission: कर्मचारियों के आठवां वेतन आयोग पर बड़ा ऐलान.

8th Pay Commission सरकार को ज्ञापन सौंपेगी यूनियन:

केंद्रीय कर्मचारी यूनियन के एक पदाधिकारी के मुताबिक वेतन बढ़ाने की मांगों को लेकर यूनियन एक नोट तैयार करके जल्द ही सरकार को सौंपने जा रही है. अगर सरकार उनकी मांगों को मानने से इनकार कर देती है तो यूनियन को मजबूरन आंदोलन पर जाना होगा. इस आंदोलन में कर्मचारियों के साथ ही पेंशन पाने पूर्व कर्मी भी भाग लेंगे.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page