Follow Us On Goggle News

KVS Admission 2022 : केंद्रीय विद्यालय में एडमिशन का रिवाइज्ड शेड्यूल जारी, जानिए कब आएगी दाखिले की लिस्ट.

इस पोस्ट को शेयर करें :

KVS Admission 2022: केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS ) की ओर से रिवाइज्ड शेड्यूल ऑफिशियल वेबसाइट- kvsangathan.nic.in पर जारी किया गया है. इस साल एडमिशन के नियमों में कई बदलाव किए गए हैं.

 

KVS Admission 2022 Revised Schedule : केंद्रीय विद्यालय संगठन (Kendriya Vidyalaya Sangathan) की ओर से नए सत्र में एडमिशन के लिए रिवाइज्ड शेड्यूल जारी कर दिया गया है. ऐसे में जो पैरेंट्स केंद्रीय विद्यालय में पहली क्लस में अपने बच्चे के एडमिशन को लेकर चिंतित हैं वो KVS की ऑफिशियल वेबसाइट- kvsangathan.nic.in पर जाकर शेड्यूल चेक कर सकते हैं. बता दें कि केवीएस की ओर से इस साल एडमिशन के नियमों में भी कई बदलाव किए गए हैं. इसमें सबसे बड़ा बदलाव पहली कक्षा में एडमिशन की न्यूनतम आयु 5 साल से बढ़ाकर 6 साल कर दिया गया है. उम्र की गणना 31 मार्च के आधार पर की जाएगी.

 

केवीएस की ओर से जारी संशोधित दिशानिर्देश (KVS Admission 2022 Revised Schedule) के मुताबिक, पहली प्रोविजनल औप वेटलिस्ट या रजिस्टर्ड उम्मीदवारों की लिस्ट 29 अप्रैल को जारी होगी. दूसरी लिस्ट 6 मई को जारी होगी और तीसरी लिस्ट 10 मई को जारी होगी. प्रोविजनल सेलेक्ट लिस्ट प्राथमिकता के आधार पर बिना आरक्षित बच्चों की 6 से 17 मई तक आ जाएगी.

यह भी पढ़ें :  IGNOU Admissions 2021 : IGNOU ने फिर बढ़ाई जुलाई सेशन में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख, ऐसे करें अप्लाई.

 

KVS में प्रवेश के लिए आयु :

संशोधित शेड्यूल में केवीएस कक्षा 1 से 10 तक की आयु सीमा बताई गई है. केवीएस कक्षा 1 में प्रवेश के लिए, उस विशेष शैक्षणिक वर्ष के 31 मार्च तक एक बच्चे की आयु कम से कम 6 वर्ष होनी चाहिए और 31 मार्च को 8 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए.

 

हालांकि, कक्षा 11 में प्रवेश के लिए उम्र का प्रतिबंध उन छात्रों के लिए नहीं है जो उसी वर्ष प्रवेश लेना चाहते हैं जिस वर्ष उन्होंने कक्षा 10वीं की परीक्षा पास की है. इसी तरह कक्षा 12वीं के लिए प्रवेश के लिए कोई आयु सीमा नहीं है बशर्ते कक्षा 11वीं पास करने के बाद छात्र के निरंतर अध्ययन में कोई विराम न हो.

 

एमपी कोट खत्म!

पहले 18 अप्रैल को लॉटरी निकालने की तिथि तय की गई थी. इस बार कक्षा एक के लिए ऑनलाइन आवेदन की तिथि भी बढ़ाई गई थी. नए नियमों के अनुसार, केंद्रीय विद्यालय संगठन ने एडमिशन के लिए सांसदों का कोटा पूरी तरह से खत्म कर दिया है. साथ ही, पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन स्कीम के तहत कोविड-19 महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों को केंद्रीय विद्यालय की किसी भी कक्षा में निशुल्क दाखिला मिल सकेगा.


इस पोस्ट को शेयर करें :
You cannot copy content of this page