JEE Main 2023 : जेईई मेन परीक्षा मानदंड में बड़ा बदलाव, शिक्षा मंत्री ने किया बड़ा ऐलान.

JEE Main 2023 : नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने JEE Mains एंट्रेंस टेस्ट क्वालिफाई करने के बाद इंजीनियरिंग में एडमिशन के लिए 12वीं कक्षा में 75% मार्क्स होना जरूरी है. जेईई मेन 2023 पात्रता मानदंड भी राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा जारी किए गए हैं. जेईई मेन परीक्षा में शामिल होने के लिए योग्यता मानदंड पिछले साल की तरह ही होगा लेकिन उन उम्मीदवारों के लिए एक शर्त है, जो आईआईटी, एनआईटी, जीएफटीआई में प्रवेश लेना चाहते हैं.

JEE Main और JEE एडवांस्ड परीक्षा के योग्यता मानदंड में एक बार छूट को लेकर शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने एक महत्वपूर्ण जानकारी शेयर की है. उन्होंने इसको लेकर कहा कि जेईई मेन और एडवांस परीक्षा- (JEE Main and JEE Advanced) के योग्यता मानदंड में एक बार की छूट के अनुरोध को “आवश्यक कार्रवाई के लिए संबंधित विभाग को भेज दिया गया है”. प्रधान ने यह जवाब कांग्रेस सांसद कार्ति पी चिदंबरम (Karti P Chidambaram) द्वारा भेजे गए लेटर पर कही है.

धर्मेंद्र प्रधान ने चिदंबरम को अपने जवाब में कहा, “2 दिसंबर, 2022 और 15 दिसंबर 2022 के आपके पत्र के लिए धन्यवाद. वर्ष 2023 में जेईई मेन और एडवांस परीक्षा में बैठने वाले सभी छात्रों के लिए योग्यता मानदंड में छूट के संबंध में आवश्यक कार्रवाई के लिए इस मामले को संबंधित विभाग को भेज दिया गया है.” कांग्रेस सांसद ने शिक्षा मंत्री को जेईई मेन और एडवांस की योग्यता मानदंड में छूट देने के लिए एक बार के उपाय के रूप में लिखा था, क्योंकि उम्मीदवारों को पिछले साल की जेईई मेन और एडवांस परीक्षा के दौरान कई मुद्दों का सामना करना पड़ा था.

यह भी पढ़े :  School Holiday February 2023: फरवरी में कितने दिन बंद रहेंगे स्कूल? अभी से बना लें छुट्टियों का शेड्यूल

चिदंबरम ने 15 दिसंबर को प्रधान को लिखे अपने लेटर में कहा था, “जून-जुलाई में आयोजित JEE Main परीक्षा 2022 के दोनों सेशन और अगस्त में आयोजित जेईई एडवांस परीक्षा 2022 में कई तकनीकी गड़बड़ियां थी. कई छात्र परीक्षा में बैठने में असमर्थ थे क्योंकि उनका परीक्षा केंद्र अंतिम समय में बिना किसी पूर्व सूचना के SMS या ईमेल के माध्यम से बदल दिया गया था. कई उम्मीदवारों ने अपनी रिस्पॉन्स शीट में विसंगतियों के साथ-साथ उनके रिजल्ट में त्रुटियों का भी अनुभव किया था.

कांग्रेस सांसद ने अपने लेटर में कहा था कि वर्ष 2020 में 12वीं पास करने वाले छात्रों के लिए यह अंतिम प्रयास था और 2021 में पास करने वालों के लिए JEE Advanced 2022 के तहत IIT प्रवेश परीक्षा में उनका अंतिम प्रयास था. इसलिए, इन परीक्षाओं में शामिल होने के लिए योग्यता मानदंड में छूट दी जानी चाहिए. इस वर्ष के नियमों के अनुसार वर्ष 2021, 2022 में कक्षा 12वीं पास करने वाले या 2023 में इसके लिए उपस्थित होने वाले उम्मीदवार JEE Main 2023 में भाग ले सकते हैं. हालांकि JEE Main 2023 में उपस्थित होने के लिए कोई आयु सीमा नहीं है. छात्रों को प्रवेश देने के लिए संस्थानों द्वारा उम्मीदवारों को निर्धारित आयु मानदंड को पूरा करने की आवश्यकता हो सकती है.

 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए 

यहाँ क्लिक करें.

इसके अलावा NTA ने JEE Main में क्वालीफाई करने के बाद इंजीनियरिंग प्रवेश के लिए 75% अंक का नियम भी वापस लाया है. उम्मीदवारों को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (NIT), भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थानों (IIT) और अन्य सभी केंद्रीय वित्तपोषित तकनीकी संस्थान (CFTIs) में प्रवेश के लिए JEE Main में योग्यता प्राप्त करने के अलावा कक्षा 12वीं की अंतिम परीक्षा में कम से कम 75% अंक (एससी, एसटी के लिए 65%) प्राप्त करने की आवश्यकता है.

यह भी पढ़े :  JEE Main Admit Card 2023 : जेईई मेन्स 2023 के लिए एडमिट कार्ड जारी, इस Direct Link से करें डाउनलोड.

COVID-19 महामारी को देखते हुए इस नियम को JEE Main 2020, 21 और 22 से हटा दिया गया था. सरकारी कॉलेजों में JEE Main आधारित इंजीनियरिंग प्रवेश के लिए केवल प्रवेश परीक्षा में अखिल भारतीय रैंक और कक्षा 12वीं के पास सर्टिफिकेट की आवश्यकता होती है.