Follow Us On Goggle News

JEE Main 2022 Topper: जेईई मेन जून सत्र में स्नेहा पारीक ने किया टॉप मिले पुरे 100 पर्सेंटाइल.

इस पोस्ट को शेयर करें :

JEE Main 2022 Topper: एनटीए जेईई मेन रिजल्ट 2022 जारी कर दिया गया है। परीक्षार्थी आधिकारिक वेबसाइट jeemain.nta.nic.in पर जाकर अपना स्कोर कार्ड चेक कर सकते हैं। कुल 14 स्टूडेंट्स ने 100 परसेंटाइल हासिल किया है। एनटीए ने अभी जेईई मेन 2022 के बीई, बीटेक पेपर का रिजल्ट जारी किया है। बी आर्क के पेपर का रिजल्ट अभी बाकी है। पेपर 1 (BE/BTech) के लिए कुल 8,72,432 उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन कराया कराया था। एनटीए ने स्कोरकार्ड डाउनलोड करने के तीन लिंक जारी किए हैं। जेईई मेन 2022 सेशन 1, पेपर 1 (बीई / बीटेक) और पेपर 2 (बीआर्च / बीप्लानिंग) परीक्षा 23 से 29 जून तक हुई थी। परीक्षा देश भर के 501 शहरों और भारत के बाहर 22 शहरों में स्थित विभिन्न केंद्रों पर आयोजित की गई थी। जेईई मेन में दो पेपर शामिल होते हैं। जेईई मेन का पेपर-1 एनआईटी, आईआईआईटी व अन्य केंद्रीय वित्त पोषित तकनीकी संस्थानों (सीएफटीआई) व केंद्रीय विवि तथा राज्य सरकारों द्वारा वित्त पोषित, मान्यता प्राप्त अंडरग्रेजुएट इंजीनियरिंग प्रोग्राम बीई व बीटेक में एडमिशन के लिए आयोजित किया जाता है।

JEE Main 2022 Topper: असम की स्नेहा पारीक को जेईई मेन परीक्षा में 100 पर्सेंटाइल यानी 300 में से 300 अंक प्राप्त हुए हैं। स्नेहा ने अपनी जेईई मेन की पढ़ाई कोटा से की है। उनकी कामयाबी की चर्चा अब देश भर में हो रही है। स्नेहा इससे पहले किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (KPVY) की स्कॉलर भी रह चुकी हैं। उन्होंने 10वीं कक्षा 95 प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण की थी। अपनी कामयाबी पर अब स्नेहा पारीक ने भी बयान दिया है।

यह भी पढ़ें :  Board Exams 2022 : जेईई मेंस परीक्षा के करण इन स्टेट बोर्ड ने बदला टाइम टेबल, देखें पूरी डिटेल्स.

JEE Main 2022 Topper रोजाना 12 घंटे पढ़ाई:

JEE Mains में 100 पर्सेंटाइल प्राप्त करने वाली स्नेहा पारीक ने बताया कि वह रोजाना 12 घंटे पढ़ाई करती थी। सुबह कोचिंग जाकर कोचिंग के बाद भी वह वहीं रुक कर पढ़ाई करती थी। इसका कारण उन्होंने अच्छे माहौल को बताया है, जिससे पढ़ाई में मदद मिलती है। स्नेहा ने बताया कि उनका फोकस अब जेईई एडवांस में सफल होने की है।

JEE Main 2022 Topper प्रैक्टिस टेस्ट से मिली मदद:

स्नेहा पारीक ने बताया कि उन्हें परीक्षा में सफल होने में प्रैक्टिस टेस्ट से काफी मदद मिली। उन्होंने बताया प्रैक्टिस टेस्ट का पैटर्न और डिफीकल्टी लेवल करीब-करीब जेईई मेन जैसा होता है। इसकी मदद से मेन के पेपर में परेशानी नहीं आई। उन्होंने बताया कि उनकी कोचिंग के टीचर भी काफी अनुभवी और सपोर्टिव हैं।

JEE Main 2022 Topper आईआईटी बॉम्बे से बीटेक का सपना:

स्नेहा पारीक के पिता राजीव पारीक व्यवसायी हैं तथा मां सरिता पारीक गृहिणी हैं। स्नेहा ने बताया कि उन्हे कामयाब होने की प्रेरणा अपने माता-पिता से ही मिली। स्नेहा ने बताया कि वह आगे चलकर आईआईटी बॉम्बे से कंप्यूटर साइंस ब्रांच में बीटेक करना चाहती हैं।


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page