Follow Us On Goggle News

Good News : अब दिल्ली के गरीब बच्चे भी बोलेंगे फर्राटेदार इंग्लिश, दिल्ली सरकार शुरू कर रही ‘Spoken English Course’.

इस पोस्ट को शेयर करें :

Delhi government is starting ‘Spoken English Course’ : सीएम केजरीवाल ने कहा कि हमारा एक ही लक्ष्य है कि गरीबों के बच्चों को अच्छी शिक्षा मिले. उम्मीद है इस कोर्स के बाद बच्चों को नौकरी मिलने में भी आसानी होगी और पर्सनैलिटी डेवलपमेंट भी होगा.

 

Good news for Delhiites : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को अंग्रेजी में कमजोर बच्चों को एक सौगात दी. सीएम केजरीवाल ने कहा कि गरीबों, लोअर और मीडिल क्लास के बच्चों का हाथ अंग्रेजी में तंग होता है. वो अंग्रेजी ठीक से बोल नहीं पाते और इस वजह से कई बच्चे जिंदगी में पीछे रह जाते हैं, उन्हें नौकरी मिलने में भी दिक्कत हो जाती है, क्योंकि उनकी कम्यूनिकेशन स्किल्स कमजोर होती है. सीएम ने कहा कि ऐसे बच्चों के लिए दिल्ली सरकार खास कार्यक्रम लाई है. अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली के अंदर शिक्षा के क्षेत्र में जबरदस्त क्रांति हुई है, सरकारी स्कूलों में अब गरीबों के बच्चों को शानदार शिक्षा मिलने लगी है, हम नहीं चाहते कि हमारे बच्चे किसी भी सूरत में दूसरे बच्चे जिनके पास सुविधाएं हैं उनसे कमजोर हों. ऐसे में दिल्ली सरकार उन बच्चों के लिए जिनकी अंग्रेजी कमजोर है, उनके लिए स्पोकन इंग्लिश का कार्यक्रम लेकर आई है.

यह भी पढ़ें :  Pune School Reopening : पुणे में 1 फरवरी से खुलेंगे स्कूल और कॉलेज, 15-18 साल के विद्यार्थियों का स्कूल में ही होगा वैक्सीनेशन.

 

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम गरीब और मीडिल क्लास बच्चों को अच्छी अंग्रेजी बोलना सिखाएंगे. उनकी कम्यूनिकेशन स्किल्स अच्छी करेंगे. उन्होंने कहा कि जिन बच्चों की अंग्रेजी कमजोर है, उनकी कम्यूनिकेशन स्किल्स अच्छी नहीं है, उनके लिए दिल्ली सरकार स्पोकन इंग्लिश कार्यक्रम लेकर आई है. सरकार की दिल्ली स्किल्स एंटरप्रेन्योरशिप यूनीवर्सिटी इस पूरे कोर्स को चलाएगी.

 

 

 

कौन-कौन कर सकता है एप्लाई?

मुख्यमंत्री ने कोर्स की घोषणा करते हुए बताया कि जिन बच्चों ने अपनी स्कूलिंग यानि बारहवीं पूरी कर ली और उनकी कम्यूनिकेशन स्किल्स कमजोर है, उनको नौकरी मिलने में उन्हें दिक्कत हो रही है, उन्होंने बताया कि अगर ऐसे बच्चों की अंग्रेजी की बेसिक नॉलेज आठवीं तक है वो इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें :  ICSE Revised Time Table 2022 : आईसीएसई बोर्ड ने बदली कुछ परीक्षाओं की डेट्स, देखें रिवाइज्ड टाइम टेबल.

 

इंटरनेशनल लेवल का कोर्स होगा- केजरीवाल 

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली सरकार पहले साल, फेज वन में अगले 1 साल में 1 लाख बच्चों को स्पोकन इंग्लिश की ट्रेनिंग देगी. इसके लिए पूरी दिल्ली में 50 सेंटर खोले जा रहे हैं. बाद में जरुरत के हिसाब से सेंटर्स और बढ़ाए जाएंगे. ये एक तरह से इंटरनेशनल स्टेंडर्ड का कोर्स है, इसमें दिल्ली सरकार मैकमिलन और वर्ड्सवर्थ के साथ टाइअप कर रही है और कैंब्रिज यूनिवर्सिटी इसका एसेसमेंट करेगी.

 

950 रुपए की सिक्योरिटी करनी होगी जमा :

इंग्लिश स्पोकन कोर्स में 18 से 35 साल की उम्र के युवा ट्रेनिंग ले सकते हैं. यह कोर्स 3 से 4 महीने का होगा. यानि 120-140 घंटे का कोर्स होगा. इतना ही नहीं युवाओं के लिए इवनिंग और वीकेंड कोर्स की सुविधा भी होगी ताकि जो युवा कहीं नौकरी कर रहे हैं उनको भी कोर्स करने में दिक्कत ना हो. मुख्यमंत्री ने बताया कि वैसे तो यह कोर्स पूरी तरह से फ्री होगा लेकिन शुरू में छात्रों से 950 रुपए सिक्योरिटी डिपोजिट जाएगी, ताकि छात्र कोर्स को गंभीरता से लें, हालांकि कोर्स पूरा होने पर सिक्योरिटी वापस कर दी जाएगी.

यह भी पढ़ें :  NEET PG Admit Card 2022: नीट पीजी 2022 का एडमिट कार्ड जारी, यहाँ करें डाउनलोड.

अरविंद केजरीवाल ने कहा हमको उम्मीद इसके लिए बहुत डिमांड होगी. उन्होंने कहा कि हमारा एक ही लक्ष्य है कि गरीबों के बच्चों को अच्छी शिक्षा मिले. उम्मीद है इस कोर्स के बाद बच्चों को नौकरी मिलने में भी आसानी होगी और पर्सनैलिटी डेवलपमेंट भी होगा.


इस पोस्ट को शेयर करें :

You cannot copy content of this page